होम शिवराज
modi-through-me-i-am-my-uncle-i-am-my-king-i-am-in

म से मोदी,म से मामा,म से महाराज,म से मध्यप्रदेश...बाक़ी मौन रहें, मस्त रहें और मंथन करते रहें

मध्य प्रदेश की राजनीति में अगर किसी के इशारे पर एक सरकार गिराकर दूसरी सरकार बनी तो वह देश के मुखिया मोदी के इशारे पर।यह बात खुले तौर पर मंच से स्वीकार की है मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने। प्रधानमंत्री का नाम भले ही न से शुरू होता हो लेकिन उनकी लोकप्रियता ‘म’ अक्षर से शुरू होने वाले उनके सरनेम मोदी से ही है। नारे भी लगते हैं तो मोदी-मोदी के ही।  आगे पढ़ें

ye-dirgh-shanka-ka-samay

ये दीर्घ शंका का समय....

सिंधिया की बदौलत बनी सरकार खालिस आरएसी वाली हालत में है। आधी बर्थ भाजपा की और आधी उन भाजपाइयों की, जो कांग्रेस से अपनी तशरीफ उठाकर यहां आ गए हैं। नरेंद्र मोदी और अमित शाह में से एक को टीटीई और दूजे को रेलवे की पुलिस समझ लीजिये। दोनों ने साथ आए सिंधिया को साझा सरकार के नियम समझा दिए। मंत्रिमंडल बना तो शिवराज सिंह विजयी भाव से लकदक हो गए। लेकिन अब लगता है कि सिंधिया ने भी कमर दर्द का बहाना बनाकर लम्बा पेंच उलझा दिया है। readmore  आगे पढ़ें

shivraj-reaches-delhi-again-will-meet-many-union-m

शिवराज फिर पहुंचे दिल्ली: राजनाथ समेत कई केंद्रीय मंत्रियों से करेंगे मुलाकात, मप्र में यूरिया का कोटा बढ़ाने सदानंद गौड़ा से करेंगे चर्चा

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान रविवार को फिर दिल्ली रवाना हो गए। वे वहां केंद्रीय मंत्रियों से मुलाकात करेंगे। मुख्यमंत्री का रक्षामंत्री राजनाथ सिंह से भी मुलाकात प्रस्तावित है। इस दौरान ग्वालियर-चंबल अंचल में सैनिक स्कूल खोलने के संबंध में चर्चा होगी। शाम को वे केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान से मिलकर गेहूं खरीदी के संबंध में चर्चा करेंगे।  आगे पढ़ें

maharaj-became-a-tiger…-shivraj-was-afraid-of-panc

महाराज बन गए टाइगर...शिवराज को सता रहा पंचक का डर

कांग्रेस सरकार गिराकर भाजपा को सिर आँखों पर बिठाकर महाराज ने नई पार्टी के साथ अपनी पसंद-नापसंद में भी आमूलचूल बदलाव कर लिया है। मार्च में भाजपा का दामन थामने के बाद लगातार मध्यप्रदेश से दूरी बनाते हुए महाराज ने राज्यसभा सांसद बनने के बाद ही मंत्रिमंडल विस्तार के दिन क़रीब साढ़े तीन महीने बाद प्रदेश की जनता को अपना दीदार होने दिया।जहाँ मंत्रिमंडल का गठन न होने पर बार-बार महाराज की नाराज़गी के क़यास लगाए गए तो सौ दिन बाद हुए मंत्रिमंडल विस्तार में अपने समर्थकों के हक को लेकर उन्होंने तनिक भी समझौता नहीं किया यह भी सूची ज़ाहिर कर रही है।  आगे पढ़ें

in-a-review-of-law-and-order-shivraj-said-police-a

कानून व्यवस्था की समीक्षा में शिवराज ने कहा- पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों की होगी जिम्मेदारी तय, अपराधियों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही करें

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज मंत्रालय से वीडियो कांन्फ्रेन्स द्वारा प्रदेश की कानून व्यवस्था की समीक्षा की। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि किसी भी स्थिति में अपराध सहन नहीं होंगे। चौहान ने कहा कि कानून व्यवस्था की स्थिति और अपराध बढ़ने के लिए जिम्मेदार और दोषी अधिकारियों को हटाने की कार्यवाही की जायेगी। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि पुलिस बिना किसी दवाब के काम करे। इसके लिए विशेष अभियान भी चलाया जाए। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि घटना हुई तो टीआई, थानेदार ही नहीं वरिष्ठ अधिकारी भी जिम्मेदार होंगे।  आगे पढ़ें

781-crore-approved-for-chambal-expressway-shivraj-

चम्बल एक्सप्रेस-वे के लिए 781 करोड़ स्वीकृत, शिवराज ने कहा- अब चम्बल एक्सप्रेस-वे नहीं, चम्बल प्रोग्रेस-वे है

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि चंबल एक्सप्रेस-वे के बनने से प्रदेश के बीहड़ एवं पिछड़े क्षेत्र को औद्योगिक सेक्टर के रूप में विकसित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि वे इस प्रोजेक्ट को 'चम्बल एक्सप्रेस-वे' नहीं 'चम्बल प्रोग्रेस-वे' के रूप में देखते हैं। केन्द्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी चंबल एक्सप्रेस-वे पर वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से चर्चा कर रहे थे।  आगे पढ़ें

expansion-of-shivraj-cabinet-20-mlas-including-bhu

शिवराज मंत्रिमंडल का विस्तार: भूपेन्द्र सिंह, गोपाल भार्गव समेत 20 विधायकों ने ली कैबिनेट मंत्री की शपथ, सिंधिया समर्थकों का रहा दबदबा

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के मंत्रिमंडल का पहला विस्तार गुरुवार को हो गया। गोपाल भार्गव, विजय शाह, जगदीश देवड़ा, बिसाहूलाल सिंह, यशोधरा राजे सिंधिया, भूपेंद्र सिंह, एंदल सिंह कंसाना और बृजेंद्र प्रताप सिंह कैबिनेट मंत्री पद की शपथ ली। विश्वास सारंग, इमरती देवी, प्रभुराम चौधरी, महेंद्र सिंह सिसोदिया, प्रद्युम्न सिंह तोमर, प्रेम सिंह पटेल, ओम प्रकाश सकलेचा, उषा ठाकुर, अरविंद सिंह भदौरिया, डॉ. मोहन यादव, हरदीप सिंह डंग और राज्यवर्धन सिंह ने भी कैबिनेट मंत्री पद की शपथ ली।  आगे पढ़ें

scindia-camp-ranks-in-cabinet-expansion-9-out-of-2

मंत्रिमंडल विस्तार में सिंधिया खेमा फायदे में, 28 मंत्रियों में 9 सिंधिया गुट के; भाजपा सरकार में अब 41% पूर्व कांग्रेसी

शिवराज सिंह चौहान के मुख्यमंत्री बनने के 71 दिन बाद आखिरकार उनकी पूरी टीम बन गई, लेकिन इसमें सिंधिया खेमा फायदे में रहा। गुरुवार को 28 मंत्रियों ने शपथ ली। इनमें 9 सिंधिया खेमे से हैं, जबकि 7 शिवराज सरकार में पहले मंत्री रह चुके हैं। शपथ लेने वाले 28 नेताओं में से 20 को कैबिनेट और 8 को राज्य मंत्री बनाया गया है। 4 नेता ऐसे हैं, जो तीन महीने पहले तक कमलनाथ सरकार में मंत्री रहे थे।  आगे पढ़ें

phri-haind-ke-abhav-se-joojhata-kate-hath-vala-tha

फ्री हैंड के अभाव से जूझता कटे हाथ वाला ठाकुर

मंथन तो गए कई दिनों से चल रहा है, राज्य में मंत्रिमंडल विस्तार के लिए। लम्बी खींचतान के बाद गुरूवार को होना तय हुआ तो शिवराज के इस बयान ने खलबली मचा दी है। खबर है कि मुख्यमंत्री फ्री हैंड के अभाव से जूझ रहे हैं। उनकी हालत कैलाश विजयवर्गीय वाले उसी ठाकुर के कटे हाथ जैसी कर दी गयी है, जिसकी पीड़ा का इजहार कैलाश ने खुद शिवराज से दुखी होकर ही किया था। वह शिवराज का बतौर मुख्यमंत्री तीसरा कार्यकाल था। वह असीमित अधिकार और शक्तियों के स्वामी थे। लेकिन अब परिदृश्य बदल गया है। चौथी पारी में कहा जा रहा है कि शिवराज के छक्के छूटने लगे हैं। read more  आगे पढ़ें

amid-the-ongoing-exercise-of-expansion-of-the-cabi

मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर चल रही कवायद के बीच मुख्यमंत्री के बयान से गरमायी राजनीति, कहा- 'जब भी मंथन होता है अमृत निकलता है और विष शिव पी जाते हैं

मध्य प्रदेश में मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर चल रही कवायद के बीच मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के बयान अंदरखाने सब-कुछ ठीक नहीं होने के संकेत दे रहे हैं। बुधवार को सीएम ने कहा- 'जब भी मंथन होता है अमृत निकलता है और विष शिव पी जाते हैं।' इस बयान के कई कयास लगाए जा रहे हैं। इससे पहले उन्होंने मंगलवार देर शाम भी एक ट्वीट भी किया।  आगे पढ़ें

Previous 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10  ... Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति