ye-hava-aur-pani-ka-sangam

ये हवा और पानी का संगम

तेज हवा में सूखी रेत उड़कर कहर ढा जाती है। यह लोगों की आंख में चली जाए तो कुछ देर के लिए सब-कुछ दिखना बंद हो जाता है। फिर यहां तो मामला उस रेत का है, जो पूरे तीन घंटे तक सुखायी गयी। भ्रष्टाचार की आग पर रखकर। वह भी होशंगाबाद कलेक्टर के कार्यालय में। आग कलेक्टर शीलेंद्र सिंह ने लगायी या एसडीएम रवीश श्रीवास्तव ने, मैं नहीं जानता। हां, इतना पता है कि तीन घंटे बाद जब चैम्बर का दरवाजा खुला तो रेत ने आरोप-प्रत्यारोप की हवा के असर से ऐसा कहर बरपाया कि भोपाल में बैठे शासक वर्ग तक को सब-कुछ दिखना बंद हो गया। सोचिए कि सीताशरण शर्मा यदि सत्तारूढ़ दल में होते तो इस रेत की उड़ान का वेग और कितना अधिक हो जाता। फिलहाल अब रेत जर्रा-जर्रा होकर वल्लभ भवन की फाइलों में कैद है। read more   आगे पढ़ें

फर्स्ट कॉलम (प्रकाश भटनागर) और भी

राज्य और भी

ashta-will-become-hub-of-artificial-intelligence-i

मध्यप्रदेश का आष्टा बनेगा आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस का हब, नार्वे की कंपनी काम को देगी अंजाम

प्रदेश में औद्योगिक निवेश को आकर्षित करने के लिए मुख्यमंत्री कमलनाथ नए-नए क्षेत्रों में काम करने की रणनीति पर चल रहे हैं। उन्होंने मुंबई में उद्योगपतियों के साथ गोलमेज सम्मेलन के दौरान साफ कर दिया था कि वे मध्यप्रदेश को देश में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का हब बनाना चाहते हैं। इसके लिए निवेशकतार्ओं को हर जरूरी सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी।   आगे पढ़ें

minister-jeetu-patwari-stuck-in-jam-again-took-cha

जाम में फंसे मंत्री जीतू पटवारी, फिर खुद संभाली ट्रैफिक की कमान

मंत्री की गाड़ी शाम होने और बारिश से चाणक्यपुरी चौराहे पर लगे लंबे जाम में फंस गई। इस पर पटवारी ने कुछ देर गाड़ी में ही बैठकर जाम खुलने का इंतजार किया। जब जाम नहीं खुला तो वह खुद ही कार से उतरे और एक-एक कर गाड़ियों को निकालने में जुट गए। पटवारी को ट्रैफिक संभालता देख गनमैन सहित उनका स्टाफ भी इसी काम में लग गया। इसके बाद ट्रैफिक ने थोड़ी गति पकड़ी। जिसके बाद पटवारी वहां से रवाना हो गए।   आगे पढ़ें

राजनीति और भी

chandrababu-seized-on-hunger-strike-in-protest-aga

सरकार के विरोध में भूख हड़ताल पर बैठे चन्द्रबाबू को किया नजरबंद, लगाई धारा 144

नायडू को मीडिया से मिलने की अनुमति नहीं दी गई। उन्होंने कहा कि यह लोकतंत्र का काला दिन है। प्रशासन ने चंद्रबाबू के अलावा उनके कई समर्थकों को भी नजरबंद किया है। वहीं, मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी ने चंद्रबाबू और उनके समर्थकों पर हिंसा फैलाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि सुरक्षा व्यवस्था को ध्यान में रखते हुए यह फैसला लिया गया।   आगे पढ़ें

congress-mp-insists-on-holding-internal-elections-

कांग्रेस सांसद ने पार्टी में आंतरिक चुनाव कराने पर दिया जोर, कहा- इससे नेताओं को काम करने का मिलेगा मौका

अपनी नई किताब द हिंदू वे की रिलीज से पहले एक न्यूज एजेंसी दिए इंटरव्यू में थरूर ने कहा कि सोनिया गांधी को कांग्रेस का अध्यक्ष बनाकर पार्टी ने इस पद के लिए अपना सबसे अच्छा विकल्प चुना है। वे एक ऐसी महिला हैं जिनके पास न सिर्फ एक पार्टी को चलाने का अनुभव है, बल्कि अलग-अलग आवाजों और वर्गों को साथ लेकर चलने की क्षमता भी है, जो कि इन हालात में पार्टी के लिए सबसे अहम है।   आगे पढ़ें

शख्सियत और भी

मंदसौर खबर और भी

नज़रिया और भी

nanihal-between-nasha-and-nangai

नशा और नंगई के बीच नौनिहाल

कई बहुप्रतिष्ठित अखबारों पर यह आरोप लग चुका है कि वे यूजर्स, लाईक,हिट्स बढ़ाने के लिए पोर्न सामग्री का इस्तेमाल करते हैं। क्योंकि यूजर्स की संख्या के आधार पर ही विग्यपन मिलते हैं। यानी कि वर्जनाओं को वैसे ही फूटने का मौका मिला जैसे कि बाढ़ में बाँध फूटते हैं। सारी नैतिकता इसके सैलाब में बह गई। कमाल की बात यह कि साँस्कृतिक झंडाबरदारी करने वाली सरकार ने इस पर दृढता नहीं दिखाई। इंदौर हाईकोर्ट के वकील कमलेश वासवानी की जनहित याचिका में सुप्रीम कोर्ट ने 850 पोर्नसाईटस पर प्रतिबंध लगाने को कहा। सरकार ने दृढ़ता के साथ कार्रवाई शुरू तो की लेकिन जल्दी ही कदम पीछे खींच लिए।   आगे पढ़ें

letter-from-uncle-to-nephew

चाचा का खत, भतीजे के नाम

जो निराशावादी मान रहे थे सभरवाल कांड, देशव्यापी मॉब लिंचिंग महायज्ञ एवं गौसंरक्षण आतंकवाद महाअभियान की अलख इस राज्य में मंद पड़ने लगी हैं, उन्हें आज आप और आपके मित्र मंडल ने निराशा से पूरी तरह उबार लिया है।   आगे पढ़ें

फोटो गैलरी और भी