shri-govindaji-ke-havale-karen-shanti-ka-tapu

श्री गोविंदजी के हवाले करें शांति का टापू

तो साहब रामबाई और गोविंद इस वक्त मध्यप्रदेश की सरकार के ब्रांड एंबेसेडर बन चुके हैं। हर ओर उनका चर्चा है। अपन तो मान गये कि हो न हो, मोहनदास करमचंद गांधी का असली शिष्य कमलनाथ के अलावा और कोई नहीं हो सकता। गांधी ने कहा था, पाप से घृणा करो, पापी से नहीं। नाथ ने यकीनन हत्या जैसे पाप से घृणा की, लेकिन पापी को माफ करने के सारे रास्ते खोल दिये हैं। सच कहें तो मितव्ययता के लिहाज से भी उनके ऐसे कदम पूरी तरह सही हैं। रामबाई को नाराज किया तो दो बातें होंगी। या तो वह समर्थन वापस लेंगी या नहीं लेंगी। न लेने का तो सवाल ही नहीं उठता। समर्थन वापस लिया तो दो बातें होंगी। या तो सरकार बचेगी या फिर गिरेगी। बचने का तो सवाल ही नहीं उठता। सरकार गिरी तो दो बातें होंगी। या तो नया चुनाव होगा या फिर भाजपा को बहुमत साबित करने का मौका मिल जाए। इन दोनो ही हालात में पैसे का भारी खर्च होना है। चुनाव हुआ तो देश का करोड़ों रुपया खर्च होना तय है। चुनाव न हुआ तो विधायकों की जुगाड़ में भाजपाइयों की पंद्रह साल तक लगातार भरी जेब ढीली होना सुनिश्चित है। नाथ को देश सहित भाजपा की भी आर्थिक स्थिति की चिंता है। इसीलिए वह गोविंद प्रकरण में चुपचाप सब कुछ गलत/अनैतिक/अनाचारपूर्ण/शर्मनाक/धिक्कारजनक और आदि-आदि हो जाने दे रहे हैं।   आगे पढ़ें

फर्स्ट कॉलम (प्रकाश भटनागर) और भी

राज्य और भी

government-will-give-a-big-deal-to-the-players-of-

प्रदेश के खिलाड़ियों को सरकार देगी बड़ी सौगात, स्वर्ण पदक जीतने वालों को मिलेंगे दो करोड़

मध्यप्रदेश सरकार अंतर्राष्ट्रीय खेल स्पर्धाओं में पदक विजेता खिलाड़ियों को बड़ी सौगात देने जा रही है। अब अंतर्राष्ट्रीय खेल प्रतियोगिताओं में स्वर्ण पदक जीतने पर राज्य के खिलाड़ियों को दो करोड़ रुपये की राशि प्रदान की जाएगी। प्रदेश के खेलमंत्री जीतू पटवारी ने आज राज्य विधानसभा में अपने विभाग से जुड़ी चर्चा के दौरान यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इस संबंध में जल्दी ही कैबिनेट में प्रस्ताव लाया जाएगा।   आगे पढ़ें

the-devotees-started-coming-to-see-lord-bholenath-

भगवान भोलेनाथ के दर्शन के लिए भक्तों का आना शुरू, प्रशासन ने वीआईपी दर्शन पर लगाया प्रतिबंध

रविवार और सोमवार को श्रद्धालुओं की काफी भीड़ जुटेगी। इसके साथ ही बड़ी संख्या में कावड़िए भी ज्योतिर्लिंग पर जल अर्पित करने पहुंचेंगे। 22 जुलाई को भोलेनाथ की पहली सवारी निकलेगी। रविवार से उमड़ने वाली भीड़ को देखते हुए शनिवार से ही भगवान आदिगुरु शंकराचार्य तिराहे से वाहनों के नगर प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया गया है। सभी वाहनों को कुबेर भंडारी मंदिर परिसर के साथ ही अन्य स्थानों पर पार्किंग की व्यवस्था की गई है। सोमवार को सुबह 5 बजे ही ओंकारेश्वर मंदिर के पट दर्शन के लिए खोल दिए जाएंगे।   आगे पढ़ें

राजनीति और भी

sonbhadra-murder-priyanka-gandhi-meets-relatives-o

सोनभद्र हत्याकांड: 24 घंटे धरने के बाद पीड़ित परिवार के रिश्तेदारों से मिलीं प्रियंका गांधी

प्रियंका ने कहा कि अगर सोनभद्र नहीं जाने दिया जा रहा तो मिजार्पुर या कहीं भी प्रशासन हमें पीड़ित परिवारों से मिलवा दे, लेकिन मिले बिना नहीं जाएंगे। दूसरी ओर, कांग्रेस के कई बड़े भी मिजार्पुर के सुनार गेस्ट हाउस पहुंच रहे हैं। प्रियंका के समर्थन में छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश सिंह बघेल, जितिन प्रसाद और दीपेंद्र हु़ड्डा भी सुनार पहुंच रहे हैं। प्रियंका गांधी ने कहा, 'जब मुझे रोका गया तो मैंने कल ही कहा था कि मैं धारा 144 का उल्लंघन नहीं करना चाहती हूं और आप गाड़ी में ही मुझे बैठाकर ले चलिए, मैं अपने साथ दो लोगों को ही लेकर सोनभद्र चलने के लिए तैयार हूं लेकिन मैं पीड़ितों से किसी भी सूरत में मिलना चाहती हूं।' प्रियंका ने कहा, 'मुझे पीड़ितों से मिलना है मिलवा दें। मैं परिवार के सदस्यों से मिले बिना नहीं जाऊंगी। अगर सोनभद्र के बाहर भी मिलवाना चाहे तो मिलवा दें।'   आगे पढ़ें

azam-khans-attack-on-the-events-of-mob-lichinga-sa

मॉब लिचिंग की घटनाओं पर आजम खान का हमला, कहा- बंटवारे की सजा भुगत रहे मुसलमान

बता दें कि इन आजम खान भूमि विवाद को लेकर घिरे हुए हैं। उत्तर प्रदेश सरकार ने दो दर्जन से भी अधिक मामलों में फंसे आजम खान को 'भू-माफिया' की लिस्ट में शामिल किया है। रामपुर प्रशासन ने राज्य सरकार के ऐंटी-भू माफिया पोर्टल पर आजम खान को सूचीबद्ध कर दिया है। उनके ऊपर अब गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है। बुधवार को रामपुर के थानों में 24 घंटे के अंदर आजम खान के खिलाफ आठ और मुकदमे दर्ज कराए गए थे।   आगे पढ़ें

शख्सियत और भी

मंदसौर खबर और भी

नज़रिया और भी

nanihal-between-nasha-and-nangai

नशा और नंगई के बीच नौनिहाल

कई बहुप्रतिष्ठित अखबारों पर यह आरोप लग चुका है कि वे यूजर्स, लाईक,हिट्स बढ़ाने के लिए पोर्न सामग्री का इस्तेमाल करते हैं। क्योंकि यूजर्स की संख्या के आधार पर ही विग्यपन मिलते हैं। यानी कि वर्जनाओं को वैसे ही फूटने का मौका मिला जैसे कि बाढ़ में बाँध फूटते हैं। सारी नैतिकता इसके सैलाब में बह गई। कमाल की बात यह कि साँस्कृतिक झंडाबरदारी करने वाली सरकार ने इस पर दृढता नहीं दिखाई। इंदौर हाईकोर्ट के वकील कमलेश वासवानी की जनहित याचिका में सुप्रीम कोर्ट ने 850 पोर्नसाईटस पर प्रतिबंध लगाने को कहा। सरकार ने दृढ़ता के साथ कार्रवाई शुरू तो की लेकिन जल्दी ही कदम पीछे खींच लिए।   आगे पढ़ें

letter-from-uncle-to-nephew

चाचा का खत, भतीजे के नाम

जो निराशावादी मान रहे थे सभरवाल कांड, देशव्यापी मॉब लिंचिंग महायज्ञ एवं गौसंरक्षण आतंकवाद महाअभियान की अलख इस राज्य में मंद पड़ने लगी हैं, उन्हें आज आप और आपके मित्र मंडल ने निराशा से पूरी तरह उबार लिया है।   आगे पढ़ें

फोटो गैलरी और भी