Wednesday, June 12, 2024
Tag:

केंद्र सरकार

बीरबलों की अपनी-अपनी खिचड़ी

निहितार्थ : पराजय को कुतर्क का चोला पहनाकर ढंकने की कोशिश करना पुराना चलन है। कहते हैं कि अकबर ने कड़ाके की सर्दी में...

देर से आये, लेकिन क्या दुरुस्त भी आये मोदी ?

निहितार्थ: पैंतीस साल से अधिक की पत्रकारिता में मैंने क्राइम की रिपोर्टिंग (crime reporting) भी की है। उसी दौर का एक सच्चा किस्सा है।...

बेकाबू देश के हालात, बेबस मोदी सरकार

स्कूल के दिनों में यह हर कक्षा में अघोषित नियम (Undeclared rule) के रूप में देखा था। एक न एक सहपाठी साल भर बहुउपयोगी...