Sunday, June 23, 2024

ताज़ा ख़बर

झारखंड के दौरे पर पहुंचे शिवराज: सोरेन सरकार पर ऐसे बरसे केन्द्रीय कृषि मंत्री, विस चुनाव में किया जीत का दावा

शिवराज ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि झारखंड की सरकार हिंदुस्तान की सबसे भ्रष्ट सरकार है। इन्होंने जितने भी वादे किए, उनमें से एक भी वादा पूरा नहीं किया। वहीं उन्होंने कहा कि हम बसे पहले झारखंड के कार्यकर्ताओं का, अपने नेतृत्व का अभिनंदन करते हैं।

इंदौर: मंत्री विजयवर्गीय के करीबी भाजपा नेता की बीच चौराहे पर हत्या, मौत का कारण बनी पुरानी रंजिश

जानकारी के मुताबिक बदमाश उसके पास पहुंचे और उस पर फायरिंग कर दी। फायरिंग से वह फौरन जमीन पर गिर गया। उसके दोस्त उसे लेकर अस्पताल पहुंचे लेकिन डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

परीक्षाओं में धांधली को ऐसे रोकेगी केन्द्र सरकार: लागू हुआ एंटी पेपर लीक, गिरोहों में शामिल लोगों के लिए कड़ी सजा का प्रावधान

लोक परीक्षा कानून 2024 के लागू होने के बाद सार्वजनिक परीक्षा में अनुचित साधनों का इस्तेमाल करने पर तीन से पांच साल की सजा और 10 लाख रुपये तक का जुर्माना लगाया जा सकता है। दरअसल, नीट यूजीऔर नेट यूजीसी की परीक्षाओं में धांधली के बाद केंद्र सरकार पर सवाल उठ रहे हैं।

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव: एमवीए को पवार का सख्त संदेश, इस बार नहीं मानेंगे कम सीटों पर

पुणे में आयोजित पार्टी की बैठक में शरद पवार ने अपना रुख साफ करते हुए कहा कि लोकसभा चुनाव में वे भले ही कम सीटों पर मान गए थे, लेकिन विधानसभा चुनाव में महाविकास अघाड़ी गठबंधन की पार्टियों के बीच सीट बंटवारे के दौरान वे कम सीटों पर सहमत नहीं होंगे। एनसीपी एसपी के दौरान शरद पवार ने ऐसे संकेत दिए हैं।

नीट परीक्षा में धांधली से उबली सियासत: मप्र कांग्रेस के दिग्गज उतरे राजधानी की सड़कों पर, निशाने पर रहे मोदी-मोहन

दिग्विजय सिंह ने धरना-प्रदर्शन को संबोधित कर सरकार को जमकर घेरा। उन्होंने इस दौरान कहा कि परीक्षाओं में हो रहे घोटाले से 14 लाख से ज्यादा हिंदू परिवारों के बच्चों के साथ अन्याय हुआ है। मोहन यादव बताएंगे कि इस मामले में कुछ करेंगे। नेट एग्जाम में जब शिकायत आई तो उसे कैंसिल कर दिया। लेकिन नीट जिसमें 14 लाख बच्चों का भविष्य निर्भर है, उसे रद्द नहीं किया।

इंटरनेशनल योग दिवस : PM ने डलझील के किनारे किया योग, यादगार पलों के साक्षी बने हजारों, मोदी ने कहा- योग को विश्व देख...

पीएम मोदी ने कश्मीर की धरती से दुनिया भर के लोगों को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस की बधाई देते हुए कहा कि दस साल पहले, मैंने संयुक्त राष्ट्र में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने का प्रस्ताव रखा था। भारत के प्रस्ताव को 177 देशों ने समर्थन दिया, जो अपने आप में एक रिकॉर्ड है। उन्होंने कहा कि दुनिया योग की शक्ति को मानती है। विश्व योग को वैश्विक भलाई के लिए एक शक्तिशाली एजेंट के रूप में देखता है। यह लोगों को अतीत के बोझ को ढोए बिना वर्तमान में जीने में मदद करता है।

इंटरनेशनल योगा डे: मोहन ने सीएम हाउस में लगाया आसन, बोले- योग से मिलती शारीरिक, मानसिक शांति

योगाभ्यास करने के बाद मुख्यमंत्री मोहन यादव ने योग दिवस को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को बधाई दी। उन्होंने कहा कि 10 साल पहले भारत ने संयुक्त राष्ट्र में योग से निरोग का प्रस्ताव रखा था जो पारित हुआ।

शराब घोटाला मामला: आखिरकार दिल्ली सीएम को मिली गई राहत, कल तिहाड़ जेल से आ सकते हैं बाहर

अवकाश न्यायाधीश नियाय बिंदु ने केजरीवाल और प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) की दो दिनों तक सुनवाई के बाद यह आदेश पारित किया। इससे पहले उन्होंने दिन में दोनों पक्षों के तर्क सुनने के बाद फैसला सुरक्षित रख लिया था। उन्होंने कल ही स्पष्ट किया था कि वे बहस पूरी होने के बाद तुरंत ही फैसला देगी क्योंकि यह मामला हाई प्रोफाइल है।

अनुच्छेद 370 की दीवार अब गिर चुकी है, श्रीनगर में बोले PM: तीसरी बार सरकार बनाने से दुनिया को मिला स्थिरता का संदेश

पीएम ने कहा हमारी सरकार काम करती है और नतीजे दिखाती है। तीसरी बार सरकार बनाने से दुनिया को स्थिरता का संदेश मिला है। हमारी सरकार को लेट-लतीफी पसंद नहीं है। आज जो बदलाव जम्मू-कश्मीर में दिख रहे हैं, वह बीते 10 साल में हमारे काम का नतीजा है।

अन्नदाताओं को केन्द्र ने दी बड़ी सौगात, सीएम मोहन बोले- पीएम जो कहते हैं, वह करके दिखाते हैं

सीएम मोहन ने कहा कि पीएम की यह पहल जनकल्याण की भावना से किसानों के जीवन में सकारात्मक बदलाव लाने वाली सिद्ध होगी। एमएसपी में इस वृद्धि से पीएम द्वारा अन्नदाताओं को दी गई पहली गारंटी पूर्ण होगी और देश की अर्थव्यवस्था पर भी इसका सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा। उन्होंने कहा कि 14 प्रकार की फसलों के मूल्यों में वृद्धि की गई है।

IIT बॉम्बे से बड़ी खबर: रामायण को लेकर छात्रों ने किया आपत्तिजनक नाटक का मंचन, संस्थान ने ठोंका भारी-भरकम जुर्माना

इस साल मार्च में आयोजित संस्थान के प्रदर्शन कला महोत्सव के दौरान राहोवन नामक नाटक में छात्रों ने हिस्सा लिया था। रामायण पर आधारित इस नाटक का आईआईटी बॉम्बे के कुद छात्रों ने इसका विरोध किया था। इनका आरोप था कि यह हिंदू धर्म के प्रति अपमानजनक है। राम और सीता के प्रति अपमानजनक है। हालांकि, छात्रों का समर्थन करने वाले छात्रों का कहना है कि यह नाटक प्रगतिशील था, जिसे सभी ने काफी सराहा। इस मामले में करीब आधा दर्जन छात्रों को पर 1.2 लाख रुपये का जुर्माना लगाया है।