होम कर्नाटक
bjps-bumper-victory-in-karnataka-by-election-yeddy

कर्नाटक उप चुनाव में भाजपा की बंपर जीत, 15 में से 12 सीटें जीतकर येदियुरप्पा सरकार हुई सुरक्षित

कर्नाटक की 15 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव के नतीजे सोमवार को आए। भाजपा ने 12 सीटें जीतीं। इनमें से 11 सीटों पर उसके ऐसे उम्मीदवार जीते, जो कांग्रेस और जेडीएस से बागी होकर आए थे। कांग्रेस को 2 सीटें मिलीं और जेडीएस खाली हाथ रही। होसकोटे सीट पर भाजपा से बागी हुए निर्दलीय प्रत्याशी शरथ बचेगौड़ा जीते। उपचुनाव के नतीजों के साथ ही राज्य में भाजपा की चार महीने पुरानी येदियुरप्पा सरकार सुरक्षित हो गई है। कर्नाटक विधानसभा में कुल 224 सीटें हैं। 17 विधायकों को अयोग्य ठहराने के बाद 207 सीटें रह गई थीं। 2 विधानसभा सीटों का मामला हाईकोर्ट में है। बची हुई 15 सीटों पर उपचुनाव के बाद विधानसभा में 222 सीटें हो गईं। नतीजों से पहले भाजपा के पास पहले 105 सीटें थीं। येदियुरप्पा को सरकार बचाने के लिए 6 सीटें जीतना जरूरी था। अब उसके पास बहुमत के लिए जरूरी 112 से पांच ज्यादा यानी 117 विधायक हो गए हैं। अब शेष दो सीटों के चुनाव नतीजों का असर भी सरकार पर नहीं पड़ेगा। एक निर्दलीय भी भाजपा को समर्थन दे रहा है।  आगे पढ़ें

karnataka-by-election-counting-continues-bjp-10-an

कर्नाटक उपचुनाव: मतगणना जारी, भाजपा 10 और जीडीएस-कांग्रेस 2-2 सीटों पर आगे, येदियुरप्पा को हरहाल में जीतनी होंगी 6 सीटें

कर्नाटक की 15 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव की मतगणना जारी है। शुरूआती रुझानों में भाजपा 10 सीटों पर आगे है। कांग्रेस और जेडीएक 2-2 सीटों पर बढ़त मिली है। यह नतीजे भाजपा सरकार के लिए बेहद अहम माने जा रहे हैं, क्योंकि येदियुरप्पा को सत्ता बचाने के लिए 6 सीटें जीतनी ही होंगी। कर्नाटक की 224 विधानसभा वाली सीटों में 17 विधायकों को अयोग्य ठहराने के बाद सीटें 207 रह गई थीं। इस लिहाज से बहुमत के लिए 104 सीटों की जरूरत थी। इसके बाद भाजपा (105) ने एक निर्दलीय के समर्थन से सरकार बना ली थी। लेकिन, उपचुनाव होने के बाद विधानसभा में 222 सीटें हो जाएंगी। उस स्थिति में बहुमत का आंकड़ा 111 होगा। भाजपा को सत्ता में बने रहने के लिए कम से कम 6 सीटें चाहिए।  आगे पढ़ें

onion-production-was-affected-due-to-excess-rainfa

अतिवृष्टि से प्याज की पैदावार हुई प्रभावित, मांग और आपूर्ति में अंतर से भावों में आई तेजी, थोक भाव 60 रुपए तक पहुंचा

अतिवृष्टि से प्याज की पैदावार भी प्रभावित हुई है। मांग और आपूर्ति में अंतर से इसके भावों में तेजी आ गई है। व्यापारिक क्षेत्रों के अनुसार भाव बढ़ने की दो वजह हो सकती हैं। पहली, फसल का खराब होने और दूसरी, निर्यात फिर से शुरू होना। थोक में प्याज 50 से 60 रुपए किलो तक पहुंच गया है। झाबुआ में तो खेरची में 80 रुपए किलो बिक गया। महाराष्ट्र, गुजरात, कर्नाटक और राजस्थान में भी पैदावार कम होने से आवक नहीं हैं। रतलाम-झाबुआ में होटल वालों ने खाने के साथ प्याज देने में हाथ खींचना शुरू कर दिया है। कहीं-कहीं तो प्याज के लिए अतिरिक्त पैसा भी वसूला जा रहा है। आगामी दिनों भी प्याज के भावों में गिरावट के संकेत नहीं हैं।  आगे पढ़ें

congress-calls-for-bandh-to-protest-dks-arrest-act

डीके की गिरफ्तारी के विरोध में कांग्रेस ने किया बंद का आह्वान, कार्यकर्ताओं ने की तोड़फोड़ और आगजनी

कांग्रेस नेता की गिरफ्तारी के विरोध में प्रदर्शनकारियों ने कर्नाटक राज्य परिवहन की बसों को निशाना बनाया। हरोहल्ली डिपो में बस जलाने का प्रयास किया गया। इस बस में तीन सवारी सीटें जल गईं। रामनगर डिविजन के आसपास कुल 10 बसों के शीशे तोड़े गए। प्रदर्शनकारियों ने 7 बार के विधायक और पूर्व ऊर्जा व जल संसाधन मंत्री की गिरफ्तारी का विरोध किया।  आगे पढ़ें

congress-calls-for-bandh-to-protest-dks-arrest-act

डीके की गिरफ्तारी के विरोध में कांग्रेस ने किया बंद का आह्वान, कार्यकर्ताओं ने की तोड़फोड़ और आगजनी

कांग्रेस नेता की गिरफ्तारी के विरोध में प्रदर्शनकारियों ने कर्नाटक राज्य परिवहन की बसों को निशाना बनाया। हरोहल्ली डिपो में बस जलाने का प्रयास किया गया। इस बस में तीन सवारी सीटें जल गईं। रामनगर डिविजन के आसपास कुल 10 बसों के शीशे तोड़े गए। प्रदर्शनकारियों ने 7 बार के विधायक और पूर्व ऊर्जा व जल संसाधन मंत्री की गिरफ्तारी का विरोध किया।  आगे पढ़ें

heavy-rains-caused-havoc-in-many-states-so-far-170

भारी बारिश ने कई राज्यों में मचाई तबाही, अब तक 170 लोगों की मौत, कई लोग लापता

केरल में बाढ़ और बारिश की सबसे अधिक मार वायनाड और कोझिकोड पर पड़ी है। यहां करीब 25-25 हजार लोग बेघर हुए हैं। वायनाड में बाढ़ में फंसे एक नवजात बच्चे को सेना के जवानों ने सुरक्षित निकाला है। राज्य में वर्षाजनित घटनाओं में अब तक 72 लोगों की मौत हो चुकी है। आठ जिलों में आठ अगस्त से भूस्खलन की 80 घटनाएं हो चुकी हैं। कुछ लोगों के अब भी मलबे में दबे होने की आशंका है। सबसे प्रभावित जिलों में एक वायनाड में बाणासुरसागर बांध के चार दरवाजों में से एक को अतिरिक्त पानी को छोड़ने के लिए तीन बजे खोल दिया गया। केरल की कई ट्रेनें रद कर दी गई हैं। कोच्चि एयरपोर्ट के एक अधिकारी के अनुसार उड़ान संचालन रविवार पूर्वाह्न तक बहाल हो सकेगा।  आगे पढ़ें

shah-did-air-survey-with-cm-in-karnataka-facing-fl

बाढ़ की मार झेल रहे कर्नाटक में सीएम के साथ शाह ने किया हवाई सर्वे, केरल में राहुल ने बाढ़ पीड़ितों से की मुलाकात

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह शनिवार को कर्नाटक के बेलगावी पहुंचे। शाह ने यहां मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के साथ बाढ़ प्रभावित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया। जबकि कांग्रेस नेता राहुल गांधी भी अपने संसदीय क्षेत्र केरल के वायनाड पहुंचे। यहां से राहुल ने मलप्पुरम जिले के निलंबुर में पहुंचकर एक राहत शिविर में बाढ़ पीड़ितों से मुलाकात की। मलप्पुरम में भूस्खलन के तीन दिन बाद 9 और शव निकाले गए हैं। केरल और कर्नाटक में बाढ़ और भूस्खलन की वजह से मरने वालों की संख्या 97 हो गई है। केरल में 67 और कर्नाटक में 30 लोगों ने जान गंवाई। जबकि महाराष्ट्र में चार लाख से अधिक लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। यहां सांगली और कोल्हापुर सबसे ज्यादा प्रभावित हैं। सेना की 123 टीमें रेस्क्यू आॅपरेशन में जुटी हैं।  आगे पढ़ें

swami-expressed-happiness-on-leaving-the-chief-min

मुख्यमंत्री पद छोड़ने पर स्वामी ने जताई खुशी, कहा- दिल में थोड़ा दर्द है क्योंकि मेरे काम की किसी ने प्रशंसा नहीं की

कर्नाटक में कुमारस्वामी की सरकार उस वक्त अल्पमत में आ गई थी। जब कांग्रेस और जेडीएस के बागी विधायकों ने पार्टी का साथ छोड़ दिया था। इसके बाद कई दिनों तक कर्नाटक में राजनीतिक ड्रामा चला था। बागी विधायकों को मनाने के लिए कुमारस्वामी सरकार ने पूरा जोर लगा लिया था, लेकिन पार्टी इसमें नाकामयाब रही थी। इसके बाद स्पीकर ने भाजपा को सरकार बनाने और बहुमत सिद्ध करने का कहा था। जिसके बाद येदियुरप्पा ने फ्लोर टेस्ट पास कर सरकार बना ली। सत्ता जाने के बाद से ही अब जेडीएस के कुछ विधायक भाजपा में जाने की कोशिश में है। ऐसा कयासों का बाजार भी गर्म हो चुका है।  आगे पढ़ें

karnataka-central-leadership-has-changed-the-decis

कर्नाटक: केन्द्रीय नेतृत्व ने येदियुरप्पा के फैसले को बदला, विश्वेश्वर हेगड़े होंगे स्पीकर

मंगलवार सुबह तक माना जा रहा था कि बोपैया ही अगले स्पीकर होंगे। खुद सीएम बीएस येदियुरप्पा उनके पक्ष में थे। हालांकि उनके पुराने कार्यकाल (2010 में येदियुरप्पा सरकार को बचाने के लिए स्पीकर रहते हुए उन पर संवैधानिक नियमों के उल्लंघन का आरोप लगा था) में नकारात्मक छवि के कारण पार्टी नेतृत्व ने अंतिम समय में उनकी उम्मीदवारी रद्द करते हुए कागेरी को उम्मीदवार बनाने का निर्देश दिया। इसके बाद सीएम येदियुरप्पा और पार्टी के अन्य वरिष्ठ नेताओं की मौजूदगी में मंगलवार को कागेरी ने अपना नामांकन दाखिल किया।  आगे पढ़ें

karnataka-yeddyurappa-governments-examination-toda

कर्नाटक: येदियुरप्पा सरकार की परीक्षा आज, चुनौतियां नहीं हैं कम

225 सदस्यों वाली विधानसभा के 17 सदस्यों की सदस्यता रद्द होने के बाद अब बचे 208 सदस्यों में से 34 जेडी(एस), 67 कांग्रेस और 105 बीजेपी के हैं। कांग्रेस के सदस्यों में स्पीकर, मनोनीत सदस्य और बी नागेंद्र भी शामिल हैं जो फिलहाल अस्पताल में भर्ती हैं। उनके अलावा एक निर्दलीय विधायक का समर्थन भी बीजेपी को मिला हुआ है। चर्चा है कि पार्टी को एकमात्र बीएसपी विधायक का भी समर्थन मिल सकता है। हालांकि, बीएसपी विधायक को फ्लोर टेस्ट से गायब रहने के चलते पार्टी से निकाल दिया गया लेकिन उनकी सदन में उनकी सदस्यता पर फैसला अभी होना है।  आगे पढ़ें

Previous 1 2 3 4 5 6 7 8 Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति