Life Styleहेल्थ

हाई ब्लड प्रेशर को कम करता है जैतून का तेल

ऑलिव ऑयल यानी जैतून का तेल साबुत ऑलिव की प्रेसिंग से बनाया जाता है। लोग जैतून के तेल का इस्तेमाल कुकिंग, कॉस्मेटिक्स, मेडिसिन, साबुन आदि बनाने में करते हैं। कई डिशेस में साबुत या कटे हुए ऑलिव का इस्तेमाल किया जाता है। यह एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर होते हैं।

 हेल्थ डेस्क : ऑलिव ऑयल यानी जैतून का तेल साबुत ऑलिव की प्रेसिंग से बनाया जाता है। लोग जैतून के तेल का इस्तेमाल कुकिंग, कॉस्मेटिक्स, मेडिसिन, साबुन आदि बनाने में करते हैं। कई डिशेस में साबुत या कटे हुए ऑलिव का इस्तेमाल किया जाता है। यह एंटीऑक्सीडेंट्स से भरपूर होते हैं। इसमें मुख्य फैट मोनोअनसेचुरेटेड फैटी एसिड्स होते हैं, जिन्हें हेल्दी फैट माना जाता है। ऑलिव ऑयल के तीन प्रकार या ग्रेड होते हैं एक्स्ट्रा वर्जिन, वर्जिन और रिफाइंड। इसमें एक्स्ट्रा वर्जिन ऑलिव ऑयल को सबसे बेहतरीन तेल माना जाता है। यह हाई ब्लड प्रेशर को कम करता है और इसके अन्य कई फायदे भी हैं। जानिए इसके फायदों के बारे में।

जैतून तेल किस तरह से हैं फायदेमंद?
एक्स्ट्रा वर्जिन ऑलिव ऑयल बहुत ज्यादा हेल्दी होता है। इसके पावरफूल एंटीऑक्सीडेंट्स के कारण यह हार्ट, ब्रेन, जोड़ों आदि के लिए लाभदायक माना गया है। इसके लाभ इस प्रकार हैं।

हार्ट हेल्थ को सुधारे: 

स्टडीज के अनुसार जब आप एक्स्ट्रा वर्जिन ऑयल को अपनी डाइट में शामिल करते हैं, तो आपका हार्ट डिजीज का रिस्क कम हो जाता है। इसमें मौजूद एक्टिव कंपाउंड्स ब्लड प्रेशर को लो रखते हैं और आर्टरीज को हार्ड बनाएं रखते हैं।

सूजन करे कम: 

शरीर में सूजन कई क्रॉनिक डिजीज का कारण बन सकती है। इस ऑयल में मौजूद कुछ खास एंटीऑक्सीडेंट्स शरीर में सूजन को कम करने में मदद करते हैं।

एंटीऑक्सिडेंट्स:

हमारे शरीर में फ्री रेडिकल्स होते हैं, जो सेल्स को डैमेज कर सकते हैं। एंटीऑक्सीडेंट्स वो कंपाउंड्स हैं जो इस डैमेज को कम कर सकते हैं। एक्स्ट्रा वर्जिन ऑलिव ऑयल में मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स डिजीज का रिस्क कम कर सकते हैं।

ब्रेन को बूस्ट करे:

ऑलिव ऑयल ब्रेन को बूस्ट करने में मददगार है। स्टडीज के अनुसार ऑलिव ऑयल अच्छे से सोचने, समझने और याद करने में मदद करता है।

ब्लड शुगर को बैलेंस करे: 

ऑलिव ऑयल में हेल्दी फैट्स होते हैं जो टाइप 2 डायबिटीज को मैनेज करने में जरूरी होते हैं। जैतून के तेल के गुड फैट्स ब्लडस्ट्रीम  में ग्लूकोज के एब्जोर्प्शन को धीमा करने में मदद करता है। नतीजतन, यह ब्लड में शुगर लेवल को नियंत्रित करता है।

 

WebKhabar

2009 से लगातार जारी समाचार पोर्टल webkhabar.com अपनी विशिष्ट तथ्यात्मक खबरों और विश्लेषण के लिए अपने पाठकों के बीच जाना जाता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button