वनमंत्री ने फिर किया बड़ा हमला, दिग्विजय पर रेत और शराब कारोबार में लिप्त होने का लगाया आरोप



भोपाल। वनमंत्री उमंग सिंघार द्वारा वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह पर लगातार दूसरे दिन बड़ा राजनीतिक हमला किया गया। उमंग ने दिग्विजय सिंह पर रेत और शराब कारोबार का आरोप लगाया। इधर, मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि प्रदेश की जनता जानती है कि सरकार कौन चला रहा है


सिंघार के बयान पर पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने चुटकी लेते हुए कांग्रेस आलाकमान से मांग की है कि उसे हस्तक्षेप कर यह तय करना चाहिए कि सरकार कौन चलाए। वहीं, दिग्विजय के मंत्रियों को पत्र लिखने के मुद्दे पर वरिष्ठ मंत्री सज्जन वर्मा, उमंग सिंघार के साथ आ गए हैं। उन्होंने कहा कि दिग्विजय सिंह को पत्र लिखने की विशेष आवश्यकता नहीं थी, वे बड़े नेता हैं फोन कर के आदेश दे सकते हैं।


कमलनाथ सरकार में वनमंत्री उमंग सिंघार ने रविवार को पर्दे के पीछे दिग्विजय सिंह द्वारा प्रदेश की कांग्रेस सरकार चलाने का बयान दिया था। इसके बाद रात को ही उन्होंने सोनिया गांधी को पत्र लिखकर दिग्विजय पर कमलनाथ सरकार को अस्थिर करने के आरोप लगाए थे। यह पत्र सोमवार को सोनिया गांधी के नाम दिल्ली भेज दिया गया।


अब सोमवार को फिर उमंग सिंघार ने मीडिया से चर्चा के दौरान दिग्विजय के खिलाफ बड़ा हमला बोलते हुए आरोप लगाया कि वे रेत और शराब कारोबार को बढ़ावा दे रहे हैं। उनका होशंगाबाद से रेत का धंधा चल रहा है। उमंग ने कहा आर-पार की लड़ाई वन मंत्री सिंघार यहीं नहीं रुके बल्कि उन्होंने कहा कि आरपार की लड़ाई है। दिग्विजय सिंह खुद उल्टे-सीधे धंधे कर रहे हैं, हमारे काम नहीं हो रहे हैं।


भाजपा के समय से जमे अधिकारियों को अब तक नहीं हटाया गया है। परिवहन आयुक्त पद पर एक ही अधिकारी सात साल से जमा हैं। वनराज हैं, कहीं भी दहाड़ सकते हैं: वर्मावहीं, दिग्विजय सिंह के मंत्रियों को पत्र लिखने पर कमलनाथ के करीबी और वरिष्ठ मंत्री सज्जन सिंह वर्मा, उमंग सिंघार के साथ खडे दिखाई दिए हैं। उन्होंने कहा कि वैसे उन्हें दिग्विजय सिंह का पत्र नहीं मिला है, मगर सिंह को पत्र लिखने की आवश्यकता नहीं थी। वे आदेश दे सकते हैं। वैसे भी लगभग सभी मंत्री उनसे नीति फैसले व अन्य विषयों पर टेलीफोन लगाकर दिशा-निर्देश लेते रहते हैं। वर्मा ने उमंग सिंघार के दिग्विजय सिंह के खिलाफ बयान देने और सोनिया गांधी को शिकायती पत्र लिखे जाने पर कहा कि हम लोगों ने उन्हें वनराज नाम दिया है। वे जहां चाहे वहां दहाड़ सकते हैं।

loading...

वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति