अब कम्प्यूटर बाबा ने कमलनाथ सरकार से की राज्य सचिवालय में आफिस और ड्रोन प्लेन की डिमांड



भोपाल। इसी साल मार्च महीने में राज्य सरकार द्वारा रीवर ट्रस्ट के चेयरमैन नियुक्त किए गए कंप्यूटर बाबा ने राज्य सचिवालय में आॅफिस की मांग की है। बाबा ने एक ड्रोन प्लेन की डिमांड भी है ताकि नर्मदा नदी के किनारों पर अवैध खनन की निगरानी कर सकें। सूत्रों के मुताबिक, कमलनाथ सरकार बाबा की मांग पर ध्यान दे रही है और जल्द ही इस पर फैसला लेगी


  इससे पहले 4 जून को रीवर ट्रस्ट के चेयरमैन का पदभार संभालने के बाद कंप्यूटर बाबा ने सरकार से एक हफ्ते के अंदर हेलिकॉप्टर उप्लब्ध कराने को कहा था ताकि वह नर्मदा नदी का हवाई सर्वेक्षण कर सके।


सरकार ने तब उनकी मांग यह कहते हुए खारिज कर दी थी कि कंप्यूटर बाबा को संबंधित अधिकारियों के साथ मीटिंग करनी होगी इसलिए उन्हें हेलिकॉप्टर की जरूरत नहीं है लेकिन इस बार कमलनाथ सरकार उनकी मांग पर गंभीर होकर ध्यान दे रही है।


  'कुछ लोग फिजूल का मुद्दा बना रहे हैं' अपने प्लान के बारे में बाबा ने बताया, 'मैंने जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा के साथ बैठक की और मंत्रालय में एक आफिस की मांग करते हुए आवेदन दाखिल किया। मंत्री ने मुझे आॅफिस उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया।


यह कोई नई बात नहीं है क्योंकि शिवराज सिंह चौहान की सरकार में अलग-अलग विभाग के लोगों को राज्य सचिवालय में आफिस अलॉट किए गए थे। कुछ लोग फिजूल में इसे मुद्दा बना रहे हैं।'  शिवराज सरकार में मिला था राज्यमंत्री का दर्जा  बता दें कि इससे पहले शिवराज सिंह चौहान की सरकार के समय भी कंप्यूटर बाबा को राज्य मंत्री का दर्जा मिला था। इसके बाद मध्य प्रदेश की कमलनाथ सरकार ने इसी साल मार्च महीने में उन्हें मां नर्मदा, मां क्षिप्रा, मां मंदाकिनी नदी न्यास का अध्यक्ष नियुक्त किया गया।  उन्होंने 6 जून को कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह की मौजूदगी में कार्यभार संभाला था लेकिन उन्हें कोई कमरा अलॉट नहीं हुआ था। मंत्री पीसी शर्मा ने कहा, 'कंप्यूटर बाबा ने मंत्रालय में आॅफिस मांगा है। सरकार उनकी मांग पर ध्यान दे रही है और इस बाबत जल्द ही फैसला लिया जाएगा।'  

loading...

वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति