विधायक आकाश ने दी सरकार को चेतावनी, कहा- किसानों को जल्द दें मुआवजा, बिजली को लेकर ठोस कदम उठाएं



इंदौर। बिजली बिल और बाढ़ पीड़ित किसानों के मुआवजे को लेकर सोमवार को भाजपा सड़कों पर उतरी और प्रदेशभर में प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के दौरान भाजपा विधायक आकाश विजयवर्गीय का एक बयान फिर से राजनीतिक गलियारों में चर्चा का विषय बन गया। उन्होंने किसानों को मुआवजा जल्द नहीं देने और बिजली बिल को लेकर ठोस कदम नहीं उठाने पर सरकार को चेतावनी दे डाली


उन्होंने कहा कि ऐसा नहीं होने पर वे समझ लें कि हम खाली हाथ नहीं घूमते हैं। कलेक्टर कार्यालय पर सोमवार को भारतीय जनता पार्टी ने किसानों के मुआवजे, कर्जमाफी और भारीभरकम आ रहे बिल को लेकर प्रदर्शन किया।


इस दौरान सभा को संबोधित करते हुए देपालपुर के पूर्व विधायक मनोज पटेल ने कहा कि अगर बिजली विभाग के अधिकारी नहीं सुधरे तो उन्हें कमरे में बंद किया जाएगा। इसके बाद आकाश विजयवर्गीय ने माइक थामा और मंच से ही सरकार को खुली चेतावनी दे डाली। विजयवर्गीय ने कहा कि हमारी सरकार से दो मांगें हैं।


पहली यह है कि सारे मंत्री, विधायक मैदान में पहुंचे और बाढ़ के कारण जो किसानों का नुकसान हुआ है उसका आंकलन करवाकर तत्काल मुआवजा दें। इसके अलावा बिजली तो आती नहीं, लेकिन भारीभरकम बिल जरूर आ रहे हैं, उसका निराकण जल्द करवाएं। या तो बिल माफ करें या तो शिवराज सरकार में जिस तरह से 100-200 रुपए का बिल आता था, उसी प्रकार से योजना तैयार कर राहत दें।


वरना जिस प्रकार से मनोज भैय्या ने कमरे में वाली बात कही है, आपको तो पता है कि हम खाली हाथ तो घूमते नहीं हैं। मेरा सबसे ही निवेदन है कि जनता तक हमें यह बात पहुंचनी है कि किसकी सरकार में हमें 24 घंटे बिजली मिलती थी। कांग्रेस सरकार में बिजली के जो हाल हैं, हमें उन्हें जनता तक पहुंचानी है। बता दें कि सरकार को चेतावनी देने वाले विधायक आकाश विजयवर्गीय भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के बेटे हैं और पूर्व में वे जर्जर मकान को तोड़ने की कार्रवाई करने पहुंचे एक नगर निगम अधिकारी को क्रिकेट के बल्ले से पीट चुके हैं। इस मामले में उन्हें जेल भी जाना पड़ा था।&

loading...

वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति