इंदौर में लोकायुक्त की टीम ने आबकारी आयुक्त खरे के ठिकानों पर मारा छापा, अधिक संपत्ति होने की मिली थी शिकायत



इंदौर। लोकायुक्त पुलिस की टीम ने मंगलवार अल सुबह सहायक आबकारी आयुक्त आलोक कुमार खरे के इंदौर में ठिकानों सहित 2 जगह रायसेन, छतरपुर निवास पर कार्रवाई की। छतरपुर में आलोक खरे के पिता लालजी खरे रहते हैं। भोपाल लोकायुक्त के निर्देश पर सागर लोकायुक्त की टीम छतरपुर में कार्रवाई कर रही है


लोकायुक्त डीएसपी नवीन अवस्थी का कहना है कि ये प्रदेश की सबसे बड़ी कार्रवाई निकल सकती है। वहीं इंदौर में कार्रवाई करने के लिए इंदौर लोकायुक्त टीम की मदद ली गई है। जानकारी के मुताबिक इंदौर के ग्रेंड एक्सओटिका सहित एक अन्य स्थान पर जब टीम पहुंची तो उन्हें ताला मिला।


बताया जा रहा है कि खरे के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति होने की शिकायत मिली थी, जिस पर लोकायुक्त पुलिस ने यह एक्शन लिया। यह बात भी सामने आ रही है कि खरे की पत्नी रायसेन में फलों की खेती कर रही हैं और वे पत्नी के नाम से ही इनकम टैक्स रिटर्न फाइल कर रहे थे।


इंदौर के सहायक आबकारी आयुक्त नरेश चौबे के ट्रांसफर के बाद भोपाल से सहायक आबकारी आयुक्त आलोक खरे को इंदौर सहायक आबकारी आयुक्त की जिम्मेदारी दी गई थी। इंदौर में उनका एक बंगला और एक फ्लैट है। लोकायुक्त की टीम जहां पहुंची थी दोनों ही जगह ताले लगे मिले, अब टीम 11 बजे आबकारी विभाग के आॅफिस पहुंचेगी।


अलग-अलग जगहों पर लोकायुक्त पुलिस जांच कर रही है। इसके बाद ही साफ हो पाएगा कि खरे के ठिकानों से उन्हें क्या मिला। जहां-जहां भी टीम पहुंची है वहां खरे के बड़े-बड़े बंगले बने हुए हैं। रायसेन में बड़ी कार्रवाईलोकायुक्त पुलिस की 19 लोगों की टीम रायसेन में खरे के फार्म हाउस पर कार्रवाई कर रही है। रायसेन में उनकी 56 एकड़ की जमीन, दो जगह आलीशान फार्म हाउस भी मिले हैं। खरे की पत्नी के नाम भी करोड़ों रुपए की बेनामी संपत्ति होने की बात सामने आ रही है। यहां चोपड़ा मोहल्ला और डाबर इमलिया में एक साथ कार्रवाई जारी है।


वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति