विधानसभा के शीतकालीन सत्र में विधायक पहनेंगे कुर्ता-पजामा और जैकेट, गांधी की 150वीं पर किया जा रहा यह प्रयोग



भोपाल। विधानसभा के शीतकालीन सत्र के किसी भी एक दिन सभी विधायक एक जैसा कुर्ता-पजामा व जैकेट में पहनेंगे। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की 150वीं जयंती पर उनकी याद में यह प्रयोग किया जा रहा है। छत्तीसगढ़ विधानसभा में विधायकों के लिए ड्रेस कोड का प्रयोग हो चुका है। मप्र में ऐसा संभवत: पहली बार हो रहा है


नई ड्रेस के लिए विधायकों का नाप लिया जा रहा है। अगले कुछ दिनों में यह काम पूरा हो जाएगा। वस्त्र खादी या कोसा के होंगे। विधानसभा का शीतकालीन सत्र संभवत: 17 दिसंबर से 23 दिसंबर तक चलेगा। पहले यह प्रयोग इसी अक्टूबर में विशेष सत्र आयोजित कर किया जाना था, पर यह विचार मूर्त रूप नहीं ले सका।


अब आगामी सत्र में एक दिन गांधी जी को समर्पित होगा। इसमें उनके दर्शन व विचारों पर चर्चा की जा सकती है। उसी दिन सभी विधायक एक जैसी ड्रेस में दिखेंगे। खादी के वस्त्र भेंट किए जा रहे हैं: गांधी जी की 150वीं जयंती के अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष की ओर से सभी विधायकों को खादी के वस्त्र भेंट किए जा रहे हैं।


इसके लिए नाप लिया गया है। - घनश्याम सिंह, विधायक, सेवढ़ा कुता-पजामा व जैकेट का नाप हुआ है: हम लोगों के कुर्ता-पजामा व जैकेट का नाप लिया गया है। ऐसी मंशा है कि एक दिन सभी ड्रेस कोड में नजर आएं।


- सुनील सराफ, विधायक, कोतमा छत्तीसगढ़ में हुआ था प्रयोग: छत्तीसगढ़ विधानसभा में गांधी जी की 150वीं जयंती पर 2 व 3 अक्टूबर को दो दिवसीय विशेष सत्र का आयोजन किया गया था। इसमें सभी पुरुष विधायक कोसे का कुर्ता-पजामा व जैकेट और महिला विधायक कोसे की साड़ी में सदन में पहुंची थीं। ड्रेस कोड में आएंगे विधायक: वस्त्रों के लिए मेरा नाप लिया गया है। गांधी जी की 150वीं जयंती पर विधायकों के लिए विशेष वस्त्र बन रहे हैं। अगले सत्र में सभी विधायक एक दिन ड्रेस कोड में सदन में आएंगे।- नरोत्तम मिश्रा, पूर्व संसदीय कार्य मंत्री

loading...

वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति