पूर्व विधायक सुरेन्द्र नाथ सिंह ने दी चेतावनी, कहा- गरीबों के साथ अन्याय हुआ तो सड़कों में बहेगा खून



भोपाल। नगर निगम द्वारा एमपी नगर से हटाए जा रहे ठेले-गुमठियों और बढ़े हुए बिजली बिलों के विरोध में भाजपा कार्यकर्ताओं व रहवासी गुरुवार को विधानसभा घेराव करने पहुंचे थे, लेकिन पुलिस ने पहले ही रोक लिया। पूर्व विधायक सुरेंद्रनाथ सिंह के नेतृत्व में रंगमहल चौराहे से कार्यकर्ता निकले तो उन्हें रोशनपुरा चौराहे के पास पुलिस ने बैरिकेड लगाकर रोक लिया गया। चौराहे पर कार्यकर्ताओं और पुलिस के बीच धक्कामुक्की भी हुई


सभा को संबोधित करते हुए सिंह ने कहा कि यह तो सांकेतिक प्रदर्शन था। यदि गरीबों के साथ अन्याय हुआ तो अगली बार बिना सूचना दिए ही वल्लभ भवन (मंत्रालय) में घुस जाएंगे। तब सड़कों पर खून बहेगा। पूर्व विधायक ने कहा कि नगर निगम द्वारा बिना व्यवस्थित हाट बाजार बनाए ही ठेले गुमठियों को हटाया जा रहा है। इससे उनके घरों में भूखे मरने की नौबत आ गई है। बच्चों को स्कूल की फीस जमा नहीं कर पा रहे हैं।


इसी तरह पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गरीबों के लिए संबल योजना शुरू की थी। इसके तहत महीने के 200 रुपए बिजली बिल की जगह कमलनाथ सरकार दो से तीन हजार रुपए के बिल भेज रही है। इस दौरान अनेक महिलाएं बढ़े हुए बिल लेकर प्रदर्शन कर रही थीं। सिंह ने कहा कि कोई भी झुग्गीवासी बढ़े हुए बिल जमा न करे। यदि झुग्गियों में अंधेरा हुआ तो मुख्यमंत्री कमलनाथ के घर में भी बिजली नहीं जलेगी।


साथ ही प्रदर्शनकारियों ने प्रदेश सरकार की योजनाओं के खिलाफ नारेबाजी की। चारों ओर से घेराव की थी प्लानिंग, पुलिस ने रोका विधानसभा घेराव के लिए भाजपा कार्यकतार्ओं ने अलग-अलग टुकड़ों में विधानसभा घेराव की प्लानिंग की थी। पूर्व विधायक सिंह के नेतृत्व में रंगमहल चौराहे से रोशनपुरा होते हुए पहुंचने का प्लान बनाया था, लेकिन कार्यकर्ताओं को रोशनपुरा के आगे नहीं बढ़ने दिया गया।


राजेंद्र गुप्ता कार्यकर्ताओं के साथ सतपुड़ा भवन के पीछे से जैसे ही महाबली गेट के पास पहुंचे, पुलिस ने रोक लिया। प्रदर्शनकारी वहीं धरने पर बैठ गए। महिलाएं भी बढ़े हुए बिजली बिलों को लेकर धरने पर बैठ गईं। मौके पर पहुंचे एसडीएम को बिजली बिलों का बंडल सौंपा गया। इधर, एमपी नगर से पार्षद मोनू गोहिल कार्यकतार्ओं के साथ विधानसभा तक पहुंचने के लिए निकले थे, जिन्हें शौर्य स्मारक के पास पुलिस ने रोक लिया। उधर, पप्पू विलास अपने कार्यकतार्ओं के साथ जेल रोड से आ रहे थे, जिन्हें जिला अदालत के पास ही रोक लिया। 

loading...

वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति