18 घंटे से बिना बिजली रह रहे लोगों को फूटा गुस्सा, सब स्टेशन के बाहर की तोड़फोड



ग्वालियर। 18 घंटे से बिना बिजली रह रहे कंपू क्षेत्र के लोगों का सब्र सोमवार रात करीब 10 टूट गया। भीड़ के रूप में पहुंचे लोगों ने सब स्टेशन के बाहर खड़े बिजली कंपनी के वाहन तोड़फोड़ की और सब स्टेशन में उत्पात मचाया। लोगों का गुस्सा इतने पर भी खत्म नहीं हुआ तो उन्होंने रास्ते पर जाम लगाया और क्षेत्रीय विधायक प्रवीण पाठक को मौके पर बुला लिया। सूचना मिली कि उग्र भीड़ ने कस्तूरबा चौराहे पर बिजली का फॉल्ट खोज रहे बिजली कंपनी के कर्मचारियों से मारपीट की। इनमें से एक को काफी चोट भी आई है


हंगाने के बाद भारी मात्रा में पुलिसबल और वज्र वाहन को मौके पर तैनात किया गया। देर डेढ़ बजे तक क्षेत्र में बिजली सप्लाई शुरू नहीं सकी थी। रविवार शाम को 25 से 30 किमी प्रतिघंटे की रफ्तार से चली आंधी के कारण पूरे शहर में बिजली व्यवस्था बुरी तरह ध्वस्त हो गई। कंपू, महाराज बाड़ा और स्टोन पार्क क्षेत्र में पूरी रात बिजली नहीं आई है। सोमवार सुबह कुछ देर के लिए बिजली आई और फिर चली गई। क्षेत्रीय लोगों के अनुसार दिन भर बिजली आंख मिचौनी चली।


शाम को सात बजे एक बार फिर बिजली गई तो रात 10 बजे तक नहीं आई। स्थानीय लोगों के अनुसार हजारों की संख्या में गुस्साए लोगों ने कंपू सब स्टेशन पर धावा बोल दिया। यहां ताला लगा होने के कारण लोगों का गुस्सा सब स्टेशन के बाहर खड़े बिजली कंपनी के संधारण वाहन पर फूटा। लोगों ने पास में ही रखे बिजली के पोल को गाड़ी विंड स्क्रीन में घुसा दिया और हेडलाइट तोड़ दी। इस दौरान उत्पात मचा रहे लोग गाड़ी में आग लगाने की बात कहते रहे।


बताया जा रहा है कि इस दौरान पुलिस का वाहन घटनास्थल से करीब 200 मीटर दूर खड़े रहकर लोगों के शांत होने का इंतजार करते रहे। ऐसे बिगड़े हालात -बिजली कंपनी के इंजीनियर व स्टाफ कंपू सब स्टेशन की लाइनों का फॉल्ट नहीं तलाश पाए। -अधिकारियों ने दिनभर से इसे गंभीरता से नहीं लिया। इस कारण स्थिति बिगड़ी। -वरिष्ठ अधिकारी बिजली आपूर्ति बहाल कराने के लिए खुद खड़े हुए। तब भी नहीं आई बिजली।


रात 10.30 बजे पहुंचे विधायक क्षेत्रीय लोग तोड़फोड़ करने के बाद जब रास्ता जाम कर रहे इसी बीच किसी ने फोन करके क्षेत्रीय विधायक प्रवीण पाठक को मौके पर बुला दिया। रात करीब साढ़े 10 बजे विधायक यहां पहुंचे। भीड़ में से कुछ लोगों ने विधायक और किसी ने मुदार्बाद के नारे लगाए। विधायक ने बिजली कंपनी से चर्चा की तो पता चला कि आंधी के कारण 11 और 13 केवी की लाइने टूट गई थीं। दिन में लाइनों को दुरुस्त कर बिजली बहाल करने की कोशिश की गई। लेकिन लोड बढ़ने से बाद बार ट्रिपिंग होती रही, जिससे बिजली आती जाती रही। लाइन में फॉल्ट था 33 केवी लाइन में फॉल्ट था। इस वजह से काफी बड़े इलाके में बिजली नहीं थी, लोगों ने चक्काजाम कर दिया था, उसे खुलवा दिया है। अधिकारियों लोड डायवर्ट करके बिजली चालू करा दी है। -प्रवीण पाठक, विधायक 

loading...

रत्नाकर  त्रिपाठी

रत्नाकर त्रिपाठी

रत्नाकर त्रिपाठी की गिनती प्रदेश के उन वरिष्ठ पत्रकारों में होती है जिन्हें लेखनी का धनी माना जा सकता है। राष्ट्रीय सहारा, दैनिक जागरण, दैनिक भास्कर सहित कई अखबारों और ई टीवी तक अपनी विशिष्ट छाप छोड़ने वाले रत्नाकर प्रदेश के उन गिने चुने संपादकों में से एक है जिनकी अपनी विशिष्ट पहचान उनकी लेखनी से है।



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति