प्रदेश अध्यक्ष के लिए कांग्रेस नेताओं में जोड़तोड़ शुरू, सिंधिया और अजय सिंह का नाम सबसे आगे



भोपाल। कमलनाथ के मुख्यमंत्री बनते ही प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष पद को लेकर कांग्रेसी नेताओं में जोड़तोड़ शुरू हो गयी है हालांकि इसका फैसला हाइकमान को करना है। चर्चा है कि मुख्यमंत्री होने के नाते लोकसभा चुनाव के लिए बतौर अध्यक्ष कमलनाथ कम समय दे पाएंगे, इसलिए अध्यक्ष को बदला जाएगा। ऐसे में अध्यक्ष पद के दावेदारों के नाम तेजी से उभर रहे हैं


अध्यक्ष पद के दावेदारों के नाम में एक नाम ज्योतिरादित्य सिंधिया का है, तो दूसरा नाम अजय सिंह का है। इसके अलावा जीतू पटवारी का नाम भी सामने आ रहा है। लेकिन दूसरी बार विधायक बने जीतू पटवारी की संभावना मंत्री पद की ज्यादा नजर आ रही है। कुल मिलाकर मप्र कांग्रेस की कमान कौन संभाले ये राहुल गांधी की मंशा पर निर्भर करेगा।


मौजूदा राजनीतिक समीकरणों को देखें तो कमलनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया अध्यक्ष पद के लिए दावेदारी कर रहे हैं।


कमलनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद सिंधिया के 11 विधायकों का दिल्ली ज्योतिरादित्य सिंधिया के बंगले पर पहुंचकर शक्ति प्रदर्शन करना और उपमुख्यमंत्री और प्रदेश अध्यक्ष बनाए जाने की मांग करना, अध्यक्ष पद की दावेदारी का हिस्सा माना जा रहा है।


वहीं दूसरी तरफ विधानसभा चुनाव में अपेक्षा के विपरीत हार का सामना करने वाले अजय सिंह को अध्यक्ष बनाए जाने की चर्चा जोरों पर हैं। माना जा रहा है कि अजय सिंह को जहां दिग्विजय सिंह का साथ है वहीं उनके कद को देखते हुए उन्हें किसी महत्वपूर्ण पद से नवाजा जा सकता है। हालांकि कमलनाथ छिंदवाड़ा की किसी सुरक्षित सीट से चुनाव लड़ने की संभावना ज्यादा है लेकिन विंध्य प्रदेश में करारी हार के बाद अजय सिंह के लिए सुरक्षित सीट तलाशना कांग्रेस के लिए टेढ़ी खीर साबित हो सकता है। अध्यक्ष पद की रेस में एक और नाम तेजी से उभरा है, वो है जीतू पटवारी का। हालांकि जीतू पटवारी युवक कांग्रेस अध्यक्ष रह चुके हैं, एआईसीसी के सचिव हैं और राहुल गांधी की टीम का हिस्सा माने जाते हैं। लेकिन कांग्रेस सूत्रों की मानें तो जीतू पटवारी की जगह मंत्रीमंडल में तय है और उन्हें मंत्री पद से नवाजा जाएगा। 

loading...

वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति