पश्चिम बंगाल में गृहमंत्री ने ममता पर बोला हमला, कहा- सीएए के खिलाफ अल्पसंख्यकों को भड़काया



कोलकाता। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने ममता बनर्जी पर अयोध्या में राम मंदिर का विरोध करने का आरोप लगाया। कोलकाता में 'हम अन्याय नहीं सहेंगे' अभियान की शुरूआत करते हुए रविवार को उन्होंने कहा- ममता दीदी ने कांग्रेस, सपा, बसपा, वामपंथियों के साथ मिलकर राम मंदिर का विरोध किया। ममता ने अनुच्छेद 370 हटाने का विरोध किया और नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ अल्पसंख्यकों को भड़काया। इस बीच, राकांपा अध्यक्ष शरद पवार ने कहा कि दिल्ली कुछ दिनों से जल रही है


उन्होंने कहा- केंद्र की सत्ताधारी पार्टी दिल्ली चुनाव नहीं जीत सकी इसलिए उसने सांप्रदायिकता फैलाकर समाज को बांटने की कोशिश की। शाह ने कहा, लोकसभा चुनाव के दौरान दीदी आपने ने हमें खूब रोकने की कोशिशें कीं। हैलिकॉप्टर नहीं उतरने दिया। रैलियां नहीं करने दी। भाजपा कार्यकर्ताओं पर गोलियां चलवाईं। बंगाल में दंगे करवाए, ट्रेन जलवाई, बेगुनाहों की हत्या करवाई। हमारे 40 से ज्यादा कार्यकतार्ओं को मरवा दिया। हम पर लाठियां चलवाईं, लेकिन हमने और हमारे कार्यकतार्ओं ने हार नहीं मानी। बंगाल की जनता ने हमें उतनी ही मजबूती से जीत दिलाई।


शाह ने लोगों से अपील की- आपने तृणमूल और वामपंथियों को इतने साल दिए। आप हमें पांच साल दे दीजिए, हम पश्चिम बंगाल को सोनार बांग्ला बना देंगे। ममता ने रोका बंगाल का विकास: अमित शाह: शाह ने कहा कि पश्चिम बंगाल को टीएमसी और वामपंथियों ने कर्ज में डुबा दिया। बंगाल पर तीन लाख करोड़ रुपये का कर्ज है। प्रधानमंत्री मोदी की योजनाएं भी ममता दीदी पश्चिम बंगाल में लागू नहीं होने देती हैं। उन्होंने बंगाल के विकास का पहिया रोक दिया है। किसानों के लिए लॉन्च की गई प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना को लागू नहीं किया। किसान कर्ज में डूबे हैं, लेकिन ममता दीदी अहंकार में हैं।


बंगाल में भ्रष्टाचार व्याप्त है। सरकार के संरक्षण में सिंडिकेट चल रहा है। भाजपा की सरकार बनने के बाद ऐसे लोगों को जेल भेजेंगे। ममता दीदी ने पश्चिम बंगाल में दुर्गा पूजा पर रोक लगाई। पूजा करने के लिए लोगों को हाईकोर्ट जाना पड़ा। वह रामनवमी नहीं मानने देती हैं। स्कूलों में सरस्वती पूजा बंद करवा दी। शाह ने रैली में अन्याय, भ्रष्टाचार, परिवारवाद, दंगा, बेरोजगारी, टोलबाजी के खिलाफ नारे लगवाए। न्यूज एजेंसी के मुताबिक, रैली में देश के गद्दारों को, गोली मारो... की नारेबाजी भी हुई।


जवानों के लिए 100 दिन परिवार के साथ रहने की नीति बनेगी: रैली से पहले शाह ने पश्चिम राजारहाट में एनएसजी के नए परिसर का उद्घाटन किया। उन्होंने कहा- देश की सुरक्षा में लगे जवानों के परिजन और बच्चों की सुरक्षा-सहूलियत की जिम्मेदारी सरकार की है। हम ऐसी नीति तैयार कर रहे हैं, जिससे जवान कम से कम 100 दिन परिवार के साथ रह सकें। हम पूरी दुनिया में शांति चाहते हैं, लेकिन जो हमारी शांति में दखल देंगे, उन्हें उनके घर में घुसकर मारना भी जानते हैं। सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक इसका ताजा उदाहरण है। तृणमूल कार्यकर्ताओं ने शाह को काले झंडे दिखाए: अमित शाह के कोलकाता पहुंचने पर तृणमूल कांग्रेस और एआईवाईएल के कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन किया। कार्यकतार्ओं ने काले झंडे दिखाए और शाह गो बैक की नारेबाजी की। वहीं, दूसरी ओर भाजपा कार्यकर्ताओं ने भी तृणमूल के खिलाफ कोलकाता के कई जगहों पर प्रदर्शन किया।


वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति