कर्नाटक उप चुनाव में भाजपा की बंपर जीत, 15 में से 12 सीटें जीतकर येदियुरप्पा सरकार हुई सुरक्षित



बेंगलुरु। कर्नाटक की 15 विधानसभा सीटों पर हुए उपचुनाव के नतीजे सोमवार को आए। भाजपा ने 12 सीटें जीतीं। इनमें से 11 सीटों पर उसके ऐसे उम्मीदवार जीते, जो कांग्रेस और जेडीएस से बागी होकर आए थे। कांग्रेस को 2 सीटें मिलीं और जेडीएस खाली हाथ रही। होसकोटे सीट पर भाजपा से बागी हुए निर्दलीय प्रत्याशी शरथ बचेगौड़ा जीते। उपचुनाव के नतीजों के साथ ही राज्य में भाजपा की चार महीने पुरानी येदियुरप्पा सरकार सुरक्षित हो गई है। कर्नाटक विधानसभा में कुल 224 सीटें हैं। 17 विधायकों को अयोग्य ठहराने के बाद 207 सीटें रह गई थीं। 2 विधानसभा सीटों का मामला हाईकोर्ट में है


बची हुई 15 सीटों पर उपचुनाव के बाद विधानसभा में 222 सीटें हो गईं। नतीजों से पहले भाजपा के पास पहले 105 सीटें थीं। येदियुरप्पा को सरकार बचाने के लिए 6 सीटें जीतना जरूरी था। अब उसके पास बहुमत के लिए जरूरी 112 से पांच ज्यादा यानी 117 विधायक हो गए हैं। अब शेष दो सीटों के चुनाव नतीजों का असर भी सरकार पर नहीं पड़ेगा। एक निर्दलीय भी भाजपा को समर्थन दे रहा है। कांग्रेस नेता सिद्धारमैया और दिनेश गुंडु राव का इस्तीफा: उपचुनाव के नतीजों के बाद कांग्रेस विधायक दल के नेता सिद्धारमैया और प्रदेशाध्यक्ष दिनेश गुंडु राव ने इस्तीफा दे दिया।


सिद्धारमैया ने कहा- मैंने कांग्रेस विधायक दल के नेता के पद से इस्तीफा दे दिया है। विधायक दल का नेता होने के नाते मुझे लोकतंत्र का सम्मान करना चाहिए। मैंने अपना इस्तीफा सोनिया गांधी को भेज दिया है। गुंडु राव ने कहा- मैं हार की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए अपना इस्तीफा दे रहा हूं। शिवकुमार ने कहा- उपचुनाव में जनता ने दल बदलने वालों को पसंद किया। हमें नतीजों से निराश नहीं होना चाहिए।



विधानसभा की 15 सीटों पर उपचुनाव के नतीजे सीटनतीजा चिक्कबल्लापुराकांग्रेस से भाजपा में आए प्रत्याशी जीते  रानेबेन्नुरभाजपा हिरेकेरूरकांग्रेस से भाजपा में आए प्रत्याशी जीते अथानीकांग्रेस से भाजपा में आए प्रत्याशी जीते होसकोटेभाजपा से बागी हुए निर्दलीय प्रत्याशी जीते हुन्सुरुकांग्रेस केआर पेटजेडीएस से भाजपा में आए प्रत्याशी जीते यशवंतपुरकांग्रेस से भाजपा में आए प्रत्याशी जीते विजयनगरकांग्रेस से भाजपा में आए प्रत्याशी जीते गोकककांग्रेस से भाजपा में आए प्रत्याशी जीते कोगवाडकांग्रेस से भाजपा में आए प्रत्याशी जीते येलापुरकांग्रेस से भाजपा में आए प्रत्याशी जीते शिवाजी नगरकांग्रेस महालक्ष्मी लेआउटजेडीएस से भाजपा में आए प्रत्याशी जीते केआर पुरमभाजपा कांग्रेस-जेडीएस के 15 में से 13 बागियों को भाजपा से टिकट: भाजपा ने पार्टी में शामिल हुए 15 बागियों में से 13 को उपचुनाव में प्रत्याशी बनाया था। होसकोटे सीट पर जीत दर्ज करने वाले शरथ बचेगौड़ा भाजपा से अलग होकर निर्दलीय चुनाव लड़े थे। यहां भाजपा ने कांग्रेस से आए पूर्व विधायक एमटीबी नागराज को टिकट दिया। मैसूरु की हुन्सुरु सीट पर जेडीएस के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष एएच विश्वनाथ को उतारा था। यह सीट जेडीएस का गढ़ रही है, लेकिन इस बार यहां कांग्रेस ने जीत दर्ज की। क्यों हुए 15 सीटों पर उपचुनाव: कांग्रेस और जेडीएस के 17 विधायकों ने तत्कालीन मुख्यमंत्री कुमारस्वामी के फ्लोर टेस्ट से पहले इस्तीफा दे दिया था। तब के स्पीकर केआर रमेश कुमार ने इस्तीफा स्वीकार न करते हुए सभी विधायकों को अयोग्य घोषित कर दिया था, इसलिए 15 सीटों पर उपचुनाव हुए। दो सीटों मस्की और राजराजेश्वरी नगर पर कर्नाटक हाईकोर्ट में मामला लंबित है, इसलिए यहां चुनाव बाद में होंगे।


वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति