शिवराज की संबल योजना और कमलनाथ का नया सवेरा कार्ड



मंदसौर। मुख्यमंत्री जन कल्याण योजना यानी संबल योजना के तहत बने श्रमिकों के कार्ड अब नए सिरे से बनेंगे। कमलनाथ सरकार ने इन्हें नया बनाने का फैसला लिया है। राज्य सरकार ने योजना का नाम भी बदल दिया है। अब योजना का नाम संबल योजना नहीं बल्कि नया सवेरा नाम होगा


हितग्राही अपने नजदीक के किसी कियोस्क, सीएससी या फिर लोक सेवा केंद्र पर जाकर कार्ड बदलवा सकते हैं। वहीं कार्ड को अब आधार से भी जोड़ा जाएगा। ताकि वास्तविक श्रमिक की पहचान हो सके। पूर्व सीएम शिवराजसिंह चौहान ने यह योजना पिछले साल 2018 में शुरू की थी। जिले में 5 लाख 93 हजार 784 श्रमिकों ने इसके लिए रजिस्ट्रेशन कराया है।


इसके बाद पूर्व सरकार ने कार्ड को तैयार कर इन्हें बांटा। इसमें शिवराजसिंह का फोटो भी लगा है। ऐसे में राज्य सरकार ने नए कार्ड बनाने का फैसला लिया है। वास्तविक पात्र असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों की पहचान के लिए ही अब सारे कार्ड नए सिरे से तैयार होंगे।


जिनके पास पुराने कार्ड हैं, उन्हें कियोस्क, सीएससी, लोकसेवा केंद्र पर पहुंचना होगा। ऐसे लोगों को अपने साथ आधार पर मोबाइल नंबर भी लेकर जाना होगा। पुराना कार्ड दिखाने पर नया लेमिनेटेड कार्ड उसी दिन तत्काल फ्री पात्र हितग्राही को दिया जाएगा। सहायक श्रमायुक्त प्रकाश डोडवे ने बताया संबल कार्ड की जगह नए कार्ड बनना है।


नया सवेरा योजना के तहत बनवाए जाएंगे। इसको लेकर आदेश मिले हैं। निर्धारित सेंटरों पर जाकर नया कार्ड बनवा सकते हैं। सितंबर तक तैयार करवाना है। संबल कार्ड में दर्ज नाम, लिंग व उम्र संबंधी जानकारी आधार से मिलान करना होगी। इसके बाद पुराना कार्ड जमा करके इसके बदले में नया कार्ड जारी किया जाएगा। यदि जानकारी नहीं मिलती है तो सक्षम अधिकारी निर्णय लेंगे कि कार्ड जारी होगा अथवा नहीं। यदि नाम की स्पेलिंग, एड्रेस में कुछ अंतर है तो कियोस्क संचालक खुद ही निर्णय लेगा। इसके बाद सही जानकारी समग्र पोर्टल पर भी सुधरेगी। 

loading...

वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति