इंदौर शहर अध्यक्ष को पुलिस ने मारे डंडे, बाकलीवाल ने कहा- शांतिपूर्ण मार्च निकाल रहे थे, डंडा लगने से टूटी मेरी कलई



इंदौर। शहर अध्यक्ष ने बताया कि हम सुबह जवाहर चौक पर एकत्रित हुए और यहां से शांतिपूर्वक प्रदर्शन करते हुए रैली के रूप में राजभवन की ओर बढ़े। हमें रोकने के लिए बड़ी संख्या में पुलिस तैनात थी। जवानों ने हमें रोशनपुरा से आगे जाने से रोक दिया। हम कुछ समझ पाते इससे पहले ही पानी की बौछार हम पर की जाने लगी


इतना ही नहीं आंसू गैस के गोले भी छोड़े गए। आंखों में जलन के साथ आंसू आने लगे और इसी दौरान पुलिस ने डंडा बरसाना शुरू कर दिया। मुझ पर भी डंडे बरसाए गए। बचने के लिए मैं पीछे हटा, तो तीन लाठी पीठ पर और एक लाठी कलाई में लगी। यहां से बचकर निकला तो एक व्यक्ति ने अपनी दुकान में मुझे बिठाया।


यह बात शहर अध्यक्ष विनय बाकलीवाल ने बताई है। किसानों के समर्थन में भोपाल में प्रदर्शन के दौरान उन्हें भी पुलिस की लाठी का शिकार होना पड़ा है। किसान आंदोलन के समर्थन में मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ के नेतृत्व में शनिवार को भोपाल में कांग्रेसी राजभवन का घेराव करने निकले थे।


प्रदर्शन में शामिल होने सुबह इंदौर से शहर अध्यक्ष विनय बाकलीवाल के नेतृत्व में बड़ी संख्या में कांग्रेसी भोपाल के लिए रवाना हुए थे। कांग्रेसियों का कहना था कि वे इस काले कानून के खिलाफ सड़क पर उतरे हैं, आगे भी यह लड़ाई जारी रहेगी। प्रदर्शन के दौरान पुलिस ने लाठी भांजी, जो बाकलीवाल को भी लगी।


उनका कहना है कि उन्हें हाथ सहित पीठ में काफी दर्द है। पुलिस ने बेवजह हम पर लाठी भांजी है, जबकि प्रदर्शन शांतिपूर्वक चल रहा था। बता दें कि कृषि कानूनों के विरोध और देश में चल रहे किसान आंदोलन के समर्थन में कांग्रेसी यह प्रदर्शन कर रहे थे। कई स्थानों पर ट्रैक्टर रैली निकालने के बाद शनिवार को कमलनाथ के नेतृत्व में राजभवन का घेराव करने कांग्रेसी निकले थे।


वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति