कार की तलाशी में 50 लाख मिलने के बाद गरमाई सियासत: कांग्रेस का आरोप- नोट के दम पर भाजपा लड़ना चाहती है चुनाव, भाजपा ने कहा- सच्चाई जानने के लिए 15 मिनट तो रुक जाते



इंदौर। बुधवार सुबह इंदौर से सांवेर की ओर जा रही कार की अरविंदो अस्पताल के पास से तलाशी लेने पर 50 लाख रुपए से ज्यादा नकद मिले। इसके बाद शहर की राजनीति में उबाल आ गया। शुरूआती तौर पर कार सवार खुद को इटारसी का ज्वेलर बता रहा है। वह इंदौर में माल का पेमेंट देने आने की बात कह रहा है। लेकिन कांग्रेस ने इन पैसों को भाजपा प्रत्याशी का होना बता दिया। उनका आरोप था कि भाजपा नोट से वोट खरीदकर चुनाव लड़ना चाहती है। इसके बाद भाजपा ने भी पलटवार किया और कहा कि 15 मिनट तो रुक जाते, सच्चाई सामने आ जाती


इतनी जल्दी क्या थी। पुलिस द्वारा 51 लाख रुपए बरामद करने की जानकारी मिलते ही सांवेर से कांग्रेस प्रत्याशी प्रेमचंद गुड्डू ने डीआईजी को कॉल किया और आरोप लगाया कि पकड़ी गई राशि से भाजपा की पोल खुल गई है। वह नोट से वोट खरीदकर चुनाव लड़ना चाहती है। पुलिस निष्पक्ष जांच करने के साथ ही नोटों के सौदागरों के नाम भी सार्वजनिक करे। गुड्डू ने वीडियो जारी कर कहा - पुलिस ने जो 50 लाख 90 हजार रुपए पकड़े हैं। वो रुपए भाजपा प्रत्याशी तुलसी सिलावट के हैं। वो बौखलाहट में जनता को खरीदने का काम कर रहे हैं।


कल भी पुलिस ने 10 लाख रुपए पकड़े हैं। उन पर कार्रवाई नहीं हुई। वे आज भी सरकारी स्कूल में खड़े होकर भाषण दे रहे हैं, जो कानून का उल्लंघन है। मैं उन पर कार्रवाई की मांग करता हूं। वहीं, कांग्रेस नेता नरेंद्र सलूजा ने ट्वीट के जरिए भाजपा पर निशाना साधा। उन्होंने लिखा कि गद्दारों के क्षेत्र में कहीं नोट, कहीं साड़ी, कहीं कलश बंट रहे हैं।


अब इंदौर पुलिस ने चेकिंग के दौरान सांवेर रोड पर एक कार रोकी, जिसमें 50 लाख रुपए नकद मिलने की जानकारी सामने आई.... पहले सौदे से सरकार गिराई, अब उसी सौदे की राशि से जनादेश खरीदने की तैयारी.... कांग्रेसियों के बयान पर भाजपा ने भी पलटवार किया। प्रवक्ता उमेश शर्मा ने वीडियो जारी कर कहा कि प्रेमचंद गुड्डू जी मैं शुरू दिन से ही कह रहा हूं कि आप इस चुनाव को बहुत ही लपकबाजी के साथ लड़ रहे हैं। जरा सा कोई घटनाक्रम घटा तो आप उसे राजनीतिक रंग देने की कोशिश करते हैं। आप उसे तूल पकड़ाने का प्रयास करते हैं।


अभी जो 50 लाख 90 हजार रुपए कार से मिले हैं, उस मामले में बयान जारी करने से पहले 10-15 मिनट तो धैर्य रख लेते। आपने इंदौर डीआईजी से बात की, उन्होंने वास्तविकता भी आपको बताई कि किसी मोहन सोनी का रुपया है जो सराफा में ले जाया जा रहा था। शर्मा ने कहा कि इसके बाद भी आपने राजनीतिक आरोप चस्पा कर दिया कि यह रुपया भाजपा प्रत्याशी के पक्ष में लाया जा रहा था। इस प्रकार के झूठे आरोप आपकी राजनीतिक गरिमा को गिराते हैं। यह आपकी विश्वसनीयता और आपकी साख पर भी संकट खड़ा करते हैं। हालांकि आपको अपनी विश्वसनीयता और साख की चिंता कभी रही नहीं है। आप इन सभी को दांव पर लगाकर हथकंडे बाजी से चुनाव लड़ना चाहते हैं। हमने तो आप पर आरोप नहीं लगाया कि वह रुपया आपका है। राजनीति में थोड़ा ऊंचा बनने का प्रयास कीजिए।


वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति