कृषि कानून को लेकर भोपाल के बाद इंदौर में कमलनाथ ने ट्रैक्टर चलाकर किया किसानों का समर्थन, बोले- लोगों को गुमराह कर रही भाजपा



इंदौर। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ किसान कानून को लेकर इंदौर पहुंचे और यहां देपालपुर में उन्होंने खुद ही ट्रैक्टर चलाकर किसानों का समर्थन किया। इस बीच शिवराज सरकार पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि ह्यसबसे ज्यादा अत्याचार और बेरोजगारी मध्यप्रदेश में है


कल लाठीचार्ज कर किसानों को आवाज को कुचलने का प्रयास किया गया। किसान विरोधी कानून पर केंद्र सरकार पर हल्ला बोलने के लिए पूर्व सीएम व प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ देपालपुर पहुंचे थे। जहां पर कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं ने कमलनाथ का स्वागत किया। वहीं पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए।


भाजपा की सरकर को जमकर कोसा। और कहा कि भोपाल में भाजपा की सरकार ने सरकारी मिशनिरी का दुरुपयोग करते हुए कांग्रेसी कार्यकतार्ओं पर जमकर लाठियां बरसाईं। जिसमें की कांग्रेसी नेता औ? कार्यकर्ता घायल हुए हैं।


साथ ही किसानों को आवाज को कुचलने का प्रयास किया गया है, आज भाजपा समझ नहीं रही कि देश मे सबसे बड़ा वर्ग किसान है, और जिस प्रकार कृषि छेत्र का निजीकरण करने का प्रयास किया जा रहा है, ये ठीक नहीं है।


शिवराज सरकार पर जमकर साधा निशाना: शिवराज सरकार पर निशाना साधते हुए कमलनाथ ने कहा कि ह्यसबसे ज्यादा अत्याचार मध्यप्रदेश में है, सबसे ज्यादा बेरोजगारी मध्यप्रदेश में है। ऐसे ही हालात रहे तो मैं मध्यप्रदेश की जनता से अपील करता हुं की भविष्य सुरक्षित रखें और सच्चाई को पहचानें, सच्चाई का साथ दें। ट्रैक्टर पर सवार हुए कमलनाथ: कमलनाथ ने केंद्र सरकार के नये कृषि कानूनों के विरोध में किसानों की ट्रैक्टर रैली का देपालपुर में नेतृत्व किया। इस दौरान वह कृषक बहुल कस्बे में खुद ट्रैक्टर चलाते दिखाई दिए। ट्रैक्टर रैली से पहले उन्होंने देपालपुर के चौबीस अवतार मंदिर में दर्शन किए।


वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति