जबलपुर में मिले दो कोरोना पॉजिटिव, दो दिन पहले बच्चे को जन्म देने वाली मां भी संक्रमित, सुरक्षा के साथ नवजात को मां के साथ रखा



जबलपुर। गुरुवार सुबह 2 नए कोरोना पॉजिटिव सामने आए। इनमें दो दिन पहले बच्चे को जन्म देने वाली मां भी संक्रमित पाई गई। शहर की रद्दी चौकी निवासी महिला ने एल्गिन अस्पताल में बच्चे को जन्म दिया था। बाद में डॉक्टरों ने महिला को मेडिकल कॉलेज रेफर कर दिया। यहां सैंपल टेस्ट होने पर महिला कोरोना पॉजिटिव पाई गई।डॉक्टर्स ने बताया कि दो दिन का बच्चा कोरोना से संक्रमित नहीं है


ऐसी स्थिति में बच्चे को मां के साथ ही रखने का फैसला किया गया है, क्योंकि दो दिन के बच्चे को मां के दूध की जरूरत होती है। जब बच्चे को भूख लगेगी, तब पीपीई किट और अन्य जरूरी सुरक्षा उपकरणों के साथ बच्चे को मां का ही दूध पिलाया जाएगा। बच्चे को मां का दूध पिलाने से बच्चा कोरोना की चपेट में नहीं आए, इसके लिए डॉक्टर्स और नर्सिंग स्टाफ मां और बच्चे की देखरेख में लगा है।


कलेक्टर कंटेनमेंट क्षेत्र में लोगों से मिले बुधवार देर शाम कलेक्टर भरत यादव चांदनी चौक कंटेनमेंट एरिया पहुंचे। उन्होंने लोगों से नियमों का पालन करने का आग्रह किया। कलेक्टर ने कंटेनमेंट क्षेत्र के रहवासियों से भी चर्चा की। उन्होंने कहा- नागरिकों से जितना ज्यादा सहयोग मिलेगा, उतनी जल्दी कंटेनमेंट में राहत दी जा सकेगी। कंटेनमेंट क्षेत्र के रहवासियों को दूध, दवा, फल-सब्जी जैसी जरूरी वस्तुओं की आपूर्ति और राशन वितरण के बारे में भी जानकारी ली।


उन्होंने अधिकारियों को ईद के पहले शेष बचे परिवारों को भी घर-घर राशन पहुंचाने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने पीडीएस के उपभोक्ताओं की भी सूची तैयार कर उचित मूल्य दुकानों के जरिए खाद्यान्न की उपलब्धता सुनिश्चित करने और कंटेनमेंट में नियमों का भी पालन कराने की हिदायत दी। कलेक्टर ने स्वास्थ्य सर्वे में हाईरिस्क व्यक्तियों के स्वास्थ्य पर लगातार निगरानी रखने के निर्देश दिए। सागर में 9 कोरोना पॉजिटिव मरीज मिले: जिले में गुरुवार को 9 और कोरोना संक्रमित मरीज मिले।


यहां पॉजिटिव की संख्या 51 हो गई। बुंदेलखंड मेडिकल कॉलेज के अधिष्ठाता डॉ. जीएस पटेल ने बताया कि अब तक 5 लोग स्वस्थ होकर घर लौट गए हैं। जबकि 44 कोविड वार्ड में भर्ती हैं। इनमें से 4 की हाल गंभीर होने पर आईसीयू में है। 2 मरीज सागर से भोपाल रेफर किए जा चुके हैं। शहर में मास्क अनिवार्य कर दिया गया है, अगर कोई भी व्यक्ति बगैर मास्क के पकड़ा गया तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। श्रमिक स्पेशल ट्रेन में बच्चे का जन्म: छिंदवाड़ा जिले में श्रमिक स्पेशल ट्रेन से जा रही एक गर्भवती महिमा ने बच्चे को जन्म दिया। ट्रेन अमृतसर से चांपा जा रही थी। यहां पांढुर्ना में प्रसूता को प्रसव पीड़ा हुई तो ट्रेन को रोका गया। शासकीय अस्पताल से पहुंचीं डॉक्टर ने प्रसूता कांतीबाई का बोगी में ही प्रसव कराया। प्रसूता और बच्चा दोनों स्वास्थ्य है।


वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति