बैतूल के पाढर गांव में 7 युवकों ने युवती के साथ किया गैंगरेप, भााई के विरोध करने पर मारपीट कर कुंए में फेंका, 5 आरोपी गिरफ्तार



बैतूल। यहां लॉकडाउन के बीच कोतवाली इलाके के पाढ़र गांव में 7 युवकों ने युवती के साथ गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया। युवती के भाई ने विरोध किया तो आरोपियों ने उसके साथ मारपीट कर उसे नजदीक के कुंए में फेंक दिया। दोनों भाई-बहन बाइक से गांव लौट रहे थे


घटना बुधवार देर रात की है। पुलिस ने युवती के बयान के आधार पर 5 आरोपियों को हिरासत में लिया है। इनमें तीन नाबालिग है। जबकि 2 आरोपियों की तलाश की जा रही है। पुलिस के मुताबिक, घोड़ाडोंगरी तहसील के पास स्थित एक गांव से युवती अपने भाई के साथ बाइक से घर आ रही थी।


पाढ़र गांव के पहले आरोपी सातों युवकों ने रोक लिया। युवती के भाई ने विरोध किया तो उसके साथ मारपीट की गई और फिर उसे पास ही एक कुंए में फेंक दिया। इसके बाद सातों आरोपियों ने युवती के साथ गैंगरेप किया और भाग गए। युवती ने घर जाकर घटना की जानकारी दी।


परिजन की मदद से युवक को बाहर निकाला गया। उसकी हालत ठीक है। पुलिस अधीक्षक डीएस भदौरिया ने घटनास्थल का निरीक्षण किया। फिलहाल, एएसपी श्रद्धा जोशी हिरासत में पांचों आरोपियों से कोतवाली थाने में पूछताछ कर रही हैं।


5 आरोपी गिरफ्तार, दो फरार, इनमें तीन नाबालिग: आरोपियों के नाम कोतवाली थाना प्रभारी राजेंद्र धुर्वे ने बताया लोकेश सोने, देवास, कुप्पा निवासी पवन बेले और शुभम बेले, संदीप हथिया शाहपुर और निवासी हैं। वहीं 3 नाबालिग आरोपी हैं। ये तीनों गिरफ्तार हो चुके हैं। इनमें से लोकेश और पवन फरार हैं। नर्मदा पुरम के डीआईजी अरविंद सक्सेना ने घटनास्थल का निरीक्षण किया।


वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति