गैंगेस्टर मुख्तार मलिक पर प्रशासन का डंडा: नगर निगम टीम ने शुरू की मकान तोड़ने की कार्रवाई, पत्नी के हंगामा करने पर पुलिस ने लिया हिरासत में



भोपाल। भोपाल के कुख्यात बदमाश गैंगस्टर मुख्तार मलिक के श्यामला हिल्स इलाके में अहाता रुस्तम खान स्थित मकान को तोड़ने की कार्रवाई बुधवार सुबह जिला प्रशासन और नगर निगम की टीम ने शुरू की। ये मकान मुख्तार की पत्नी शीबा मलिक के नाम पर है। दो मंजिला बने मकान को तोड़ने पहुंचे अमले को देखकर मुख्तार की पत्नी शीबा मलिक ने हंगामा शुरू कर दिया। महिला पुलिसकर्मियों की मदद से शीबा को हटाया गया। मंगलवार को मुख्तार को रायसेन के गौहरगंज स्थित ढाबे से गिरफ्तार किया गया था


कुछ देर बाद पूर्व पार्षद और कांग्रेस नेता शाबिस्ता जकी भी कार्रवाई का विरोध करने पहुंच गईं। नगर निगम और जिला प्रशासन के अफसरों से कहासुनी के बाद पुलिस ने शाबिस्ता जकी को हिरासत में ले लिया और श्यामला हिल्स थाने में बिठा लिया। सूत्रों का कहना है कि पिछले एक सप्ताह से मलिक के अवैध मकान को तोड़ने की प्लानिंग जिला प्रशासन और नगर निगम की टीम कर रही थी। लेकिन मुख्तार की गिरफ्तार नहीं होने के चलते ये कार्रवाई को रोक दिया गया था।


अमला जेसीबी और ड्रिलिंग मशीनें लगाकर मकान को जमींदोज करने में जुटा है। शाम को 4 बजे तक कार्रवाई चलेगी। इसके बाद गुरुवार को भी कार्रवाई जारी रहने की उम्मीद है। शाबिस्ता जकी ने कहा- घर तोड़ना असंवैधानिक: कांग्रेस नेता आसिफ जकी और पूर्व पार्षद शबिस्ता जकी को पुलिस ने हिरासत में लिया है। दोनों लोग मुख्तार मालिक के मकान तोड़ने का विरोध कर रहे थे। पूर्व पार्षद शाबिस्ता जकी का कहना है कि इस मकान का न्यायालय में केस चल रहा है। इसलिए इसे तोड़ना असंवैधानिक है।


माफिया अभियान में मकान को सील किया गया था पिछले साल तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने माफियाओं के खिलाफ अभियान चलाया था। इस दौरान जिला प्रशासन की टीम ने मुख्तार मलिक के इस घर को सील कर दिया था। मलिक के खिलाफ भोपाल और रायसेन जिले के 16 थानों में 50 से ज्यादा गंभीर केस दर्ज हैं। मंगलवार को रायसेन में एक ढाबे से गिरफ्तार हुआ था बदमाश: 54 वर्षीय मुख्तार मलिक रायसेन जिले के गौहरगंज इलाके में फरारी काट रहा है।


पुलिस की एक विशेष टीम ने उसके जंगल पैराडाइज नामक ढाबे पर छापा मारा था। यहां आरोपी हमेशा अपने साथ हथियार रखता था। तलाशी लेने पर उसके पास एक पिस्टल, दो मैगजीन और 25 कारतूस मिले। दो जिलों के 16 थानों में 50 से ज्यादा केस दर्ज: हनुमानगंज थाने में अड़ीबाजी के मामले में 20 हजार और कोहेफिजा थाने में धोखाधड़ी समेत विभिन्न धाराओं में दर्ज मामले में 10 हजार रुपए का इनाम घोषित था। मुख्तार पर भोपाल के तलैया, बिलखिरिया, एमपी नगर, शाहजहांनाबाद, मिसरोद, जहांगीराबाद, क्राइम ब्रांच, हबीबगंज, हनुमानगंज, कोहेफिजा, रायसेन जिले के औबेदुल्लागंज, सुल्तानपुर, उमरावगंज थाने में पचास से ज्यादा आपराधिक केस दर्ज हैं।


वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति