पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शिवराज सरकार पर साधा निशाना, कहा- महामारी के दौर में भी प्रदेश में शुरू है कालाबाजारी, हेराफेरी और मुनाफाखोरी का खेल



भोपाल। मध्य प्रदेश में आपदा को अवसर बनाने का काम निरंतर जारी है। कोरोना महामारी में भी यूरिया की कालाबाजारी, चावल वितरण में हेराफेरी के बाद अब आॅक्सीजन में मुनाफाखोरी का खेल शुरू है। ये आरोप पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शिवराज सरकार पर लगाए हैं। कमलनाथ ने कहा कि 15 साल सरकार में रहे


लेकिन प्रदेश को आॅक्सीजन की आपूर्ति को लेकर आत्मनिर्भर नहीं बना पाए और अभी 6 माह की सरकार में भी संकट को देखते हुए आॅक्सीजन की मांग और आपूर्ति को लेकर कोई ठोस कदम नहीं उठाए और अब संकट होने पर नींद से जागे? इससे पहले कमलनाथ ने अपने निवास पर आयोजित किसान कांग्रेस के कार्यक्रम में कहा कि जो प्रदेश हमारे हाथों में भाजपा ने सौंपा था, उसमें किसानों की आत्महत्या में मध्यप्रदेश नंबर वन था।


बेरोजगारी में नंबर वन था, महिलाओं पर अत्याचार में नंबर वन था। प्रदेश की इस पहचान को बदलने के लिए हमने शुरूआत की। हर क्षेत्र में, चाहे मिलावटखोरी हों, माफिया हों या नकली खाद बेचने वाले हों, इन सब के खिलाफ हमारी सरकार ने अभियान चलाया। भाजपा सरकार में हमारे प्रदेश में लोग निवेश करने से कतरा रहे थे, क्योंकि हमारा प्रदेश भ्रष्टाचार में भी देश में शीर्ष पर था। इस माहौल को हमने 15 माह के कम समय में ही बदल दिया था।


निवेशकों का विश्वास वापस लौटा था और वे निवेश करने के लिए उत्सुक हुए थे। किसानों की खुशहाली से ही बाजारों में रोशनी है: कमलनाथ ने कहा कि किसानों की खुशहाली से ही बाजारों में रोशनी है, यह रोशनी बनी रहे। इसके लिए हमने ऋण माफ कर 27 लाख किसानों को कर्ज मुक्त किया। किसानों की ऋण माफी का कार्य जारी था, लेकिन सौदा करके, बोली लगाकर कांग्रेस की किसान हितैषी सरकार को गिरा दिया गया।


कमलनाथ के निवास पर हुई बैठक में मध्यप्रदेश किसान कांग्रेस के जिला अध्यक्षों और प्रदेश पदाधिकारियों ने भाग लिया। उपचुनाव मध्य प्रदेश के भविष्य का चुनाव: कमलनाथ ने कहा कि यह उपचुनाव मध्यप्रदेश के भविष्य का चुनाव है। किसानों का, गरीबों का, इस प्रदेश की जनता का भविष्य इन उपचुनावों से जुड़ा हुआ है। किसान कांग्रेस के सभी लोग अपने उत्साह, जोश और निष्ठा से इन उप चुनावों में कांग्रेस प्रत्याशियों को विजय दिलाने में जुट जाएं। प्रदेश के किसान भाइयों से आवाहन करें कि इन उपचुनावों में प्रदेश से इस किसान विरोधी भाजपा सरकार को उखाड़ फेंके। इस मौके पर पूर्व केंद्रीय मंत्री अरुण यादव, पूर्व कृषि मंत्री सचिन यादव एवं मध्यप्रदेश किसान कांग्रेस के दिनेश गुर्जर ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर बड़ी संख्या में किसान कांग्रेस के पदाधिकारी उपस्थित थे।


वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति