हाथरस गैंपरेप पर कांग्रेस का मौन प्रदर्शन: शिवराज सरकार को कटघरे में खड़ा कर मप्र को बताया दुष्कर्म की राजधानी, धरने पर सोशल डिस्टेंसिंग रही नदारद



भोपाल। उत्तर प्रदेश के हाथरस की घटना को लेकर मध्य प्रदेश में कांग्रेस ने शिवराज सरकार पर निशाना साधा। सोमवार को इसको लेकर राजधानी में पार्टी कार्यकर्ताओं और नेताओं ने मौन धरना और पैदल मार्च किया। हालांकि मौन प्रदर्शन के दौरान जमकर नारेबाजी की गई। सोशल डिस्टेंसिंग भी नजर नहीं आई


कांग्रेस नेताओं ने उत्तर प्रदेश के सहारे प्रदेश सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुए मध्य प्रदेश को दुष्कर्म की राजधानी बताया। वरिष्ठ कांग्रेस नेता और जिलाध्यक्ष कैलाश मिश्रा ने कहा कि यूपी से लेकर मध्य प्रदेश तक महिलाओं और बच्चियों के साथ अत्याचार हो रहा है। उसके खिलाफ यह प्रदर्शन किया है। हम आरोपियों के खिलाफ फांसी दिए जाने की मांग करते हैं।


मोबाइल और घड़ी देखते नजर आए: कांग्रेस के नेता और कार्यकतार्ओं ने माध्यमिक शिक्षा मंडल के सामने धरना दिया। इससे पहले उन्होंने पैदल मार्च निकालते हुए बोर्ड आॅफिस पर बाबा साहब की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। धरने पर बैठने के दौरान अधिकांश नेता अपने मास्क ठीक करते नजर आए तो कुछ मोबाइल फोन और घड़ी में समय देखते दिखे।


इसमें समय देखकर सिर हिलाकर किसी से बात भी करते नजर आए। नारेबाजी कर मौन धरना दिया। काली पट्?टी बांधकर विरोध जताया: प्रदर्शन के दौरान कार्यकतार्ओं ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। बेटियों की रक्षा जो कर न सके... वो सरकार निकम्मी है। जैसे स्लोगन के साथ सोमवार को कांग्रेसियों ने भोपाल में जगह-जगह प्रदर्शन किया।


पूर्व मंत्री पीसी शर्मा ने आरोप लगाए कि एक महिला विधायक भ्रष्टाचार के खिलाफ 15 दिन तक धरने पर बैठी रही, लेकिन सरकार ने भ्रष्ट अधिकारी का साथ दिया। यही सरकार का असली चेहरा है। कई जगह हुए प्रदर्शन: महिलाओं पर अत्याचार को लेकर महिला कांग्रेस और कार्यकतार्ओं ने शहर के कई इलाके में प्रदर्शन किया। एमपी नगर में भी ऐसे ही प्रदर्शन में महिलाएं और बच्चियां भी नजर आईं। मार्च के दौरान नारेबाजी कर रहीं महिलाओं ने हाथरस में आरोपियों को फांसी देने की मांग करते हुए दोषी अधिकारी-कर्मचारियों को भी सख्त सजा देने की मांग की।


वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति