पाटन की जनसभा में मोदी ने सर्जिकल और एयर स्ट्राइक का जिक्र, बोले. मैंने पाक को कह दिया था कि अभिनंदन को कुछ नहीं होना चाहिए



पाटन। लोकसभा चुनाव हैं तो प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपनी सरकार की तमाम उपलब्धियों को जनता के बीच रखना नहीं भूलते हैं। इसी के साथ ही उनका कांग्रेस और समूचे विपक्ष पर हमला भी जारी है। गुजरात के पाटन जिले में रविवार को पीएम मोदी ने जनसभा की। यहां पर उन्होंने सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक का भी जिक्र किया


उन्होंने कहा कि जब अभिनंदन को पाकिस्तान ने पकड़ लिया था तो मैंने उनसे (पाकिस्तान) कहा कि यदि हमारे पायलट को कुछ भी हुआ तो हम तुम्हें नहीं छोड़ेंगे। यह सुनते ही सभा स्थल में मोदी-मोदी के नारे लगने लगे।  पीएम मोदी ने अपील करते हुए कहा, 'मेरे गृह राज्य के लोगों का कर्तव्य है कि धरती के पुत्र की देखभाल करें, गुजरात में सभी 26 सीटें मुझे दीजिए।


मेरी सरकार सत्ता में वापस आएगी लेकिन अगर गुजरात ने बीजेपी को 26 सीटें नहीं दी तो 23 मई को टीवी पर चर्चा होगी कि ऐसा क्यों हुआ। पाटन में आयोजित जनसभा में मोदी ने कहा कि प्रधानमंत्री की कुर्सी रहे या ना रहे लेकिन उन्होंने फैसला किया है कि या तो वह जिंदा रहेंगे या आतंकवादी जिंदा बचेंगे।


  'जब शरद पवार को नहीं पता तो इमरान को कैसे?' पाटन में मोदी ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) पर तंज कसते हुए कहा, 'शरद पवार कहते हैं कि मुझे नहीं पता कि मोदी क्या करेंगे। अगर उन्हें नहीं पता कि मोदी कल क्या करेंगे तो इमरान खान को कैसे पता होगा?' नरेंद्र मोदी ने जनसभा के दौरान कुंभ मेले का भी जिक्र किया। उन्होंने कहा, 'कुंभ की सफाई की अमेरिका में भी चर्चा हुई।


इसके बाद मैं जब वहां गया तो मैंने सफाई कर्मचारियों के पैर धुले।'  चुनाव क्षेत्रों के परिसीमन से लेकर देश में चुनाव करवाने तक की जिम्मेदारी भारत के चुनाव आयोग की है। चुनाव आयोग ही राजनीतिक दलों को मान्यता देता है और उनको चुनाव चिह्न प्रदान करता है। मतदाता सूची भी भारत का चुनाव आयोग ही तैयार करवाता है। इसके अलावा राजनीतिक दलों के लिए आचार संहित तैयार करना और उसको लागू करवाना भी चुनाव आयोग की जिम्मेदारी है। देश में स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव करवाने के लिए भारत के चुनाव आयोग के पास काफी ताकत हैं।  'मीटिंग में खास बात यह थी कि सबमें भारत शामिल था' दुनिया में भारत की बढ़ती ताकत पर प्रधानमंत्री मोदी ने कहा, 'अर्जेंटीना में जी20 की समिट थी, इसमें एक मीटिंग थी- रूस, चीन और भारत की। दूसरी मीटिंग थी- अमेरिका, जापान और भारत की लेकिन इन सभी मीटिंग में खास बात यह थी कि इनमें भारत शामिल था।' 


वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति