जेके में आतंकियों के मंसूबों पर फिरा पानी, सुरक्षाबलों ने जम्मू बस स्टैंड से 7 किलो विस्फोटक किया बरामद, जम्मू दहलाने की थी साजिश



जम्मू। पुलवामा हमले की दूसरी बरसी पर सुरक्षाबलों ने आतंकी हमले की बड़ी साजिश नाकाम कर दी। जम्मू बस स्टैंड से सुरक्षाबलों ने 7 किलो इम्प्रोवाइज्ड एक्सप्लोसिव डिवाइस बरामद किया। सुरक्षाबलों ने पूरे बस स्टैंड में सर्च आॅपरेशन शुरू कर दिया है


अधिकारियों के मुताबिक, आतंकी पुलवामा की दूसरी बरसी पर बड़ी वारदात को अंजाम देने की तैयारी में थे। शाम को आईजी प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे: जम्मू पुलिस ने शाम 4.30 बजे पुलिस लाइन में प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई है। इसमें जम्मू के आईजी मुकेश सिंह जानकारियां देंगे।


प्रेस कॉन्फ्रेंस में पुलिस बस स्टैंड से मिले विस्फोटक और आतंकियों की साजिश का खुलासा कर सकती है। बीते हफ्ते दो आतंकी गिरफ्तार हुए थे: द रेजिस्टेंट फ्रंट से जुड़े आतंकी जहूर अहमद राथेड़ को शनिवार यानी 13 फरवरी को सांबा से गिरफ्तार किया गया था।


राथेड़ कश्मीर में पिछले साल भाजपा के तीन कार्यकर्ताओं की हत्या के मामले में वांछित था। 6 फरवरी को लश्कर-ए-तैयबा के कमांडर हिदायतुल्ला मलिक उर्फ हसनैन को जम्मू के कुंजवानी से गिरफ्तार किया गया था।


आज के ही दिन दो साल पहले पुलवामा में हुआ था हमला: 14 फरवरी 2019 को जम्मू कश्मीर के पुलवामा में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद ने सीआरपीपएफ के जवानों के काफिले पर हमला कर दिया था। इसमें एक बस को बम से उड़ा दिया था। हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे। हमले को जैश ने पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के साथ मिलकर अंजाम दिया था। एनआईए ने 19 लोगों को इस हमले की साजिश रचने का आरोपी बनाया था, जिनमें से 6 को सेना ने मुठभेड़ में मार गिराया था। हमले के जवाब में एयरफोर्स ने बालाकोट एयरस्ट्राइक की थी: पुलवामा हमले के 12 दिन के अंदर ही इंडियन एयरफोर्स ने शहीद जवानों का बदला लिया था। एयरफोर्स ने बालाकोट में एयरस्ट्राइक के जरिए कई आतंकी ठिकानों को तबाह कर दिया था। दावा है कि इस कार्रवाई में 300 से ज्यादा आतंकी मारे गए थे।


वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति