सेना प्रमुख नरवणे की चेतावनी: कहा- पाक और चीन की जुगलबंदी हमारे लिए बड़ा खतरा, इसकी अनदेखी नहीं की जा सकती; चुनौती के लिए हम तैयार



नई दिल्ली। सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे ने कहा है कि पाकिस्तान और चीन की जुगलबंदी हमारे लिए बड़ा खतरा पैदा करती है। इसकी अनदेखी नहीं की जा सकती। उत्तर की सीमाओं पर हम पूरी तरह चौकस हैं और किसी भी चुनौती का सामना करने को तैयार हैं


पश्चिमी सीमा पर पाकिस्तान आतंकवाद को बढ़ावा दे रहा है, लेकिन उसको साफ-साफ कहा है कि यह बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। पलटवार का हमारा अधिकार सुरक्षित है। इसकी जगह और समय हम तय करेंगे। हमारा वार अचूक होगा। जनरल नरवणे ने मंगलवार को सेना की सालाना प्रेस कॉन्फ्रेंस में बोल रहे थे।


चीन को फर्स्ट मूवर एडवांटेज: सेना प्रमुख ने कहा, 'LAC पर चीन की तरफ से जो मोबिलाइजेशन हुआ था वह नया नहीं था, वे हर साल ट्रेनिंग के लिए आते हैं। हमारी नजर भी थी, लेकिन वे ऐसा करेंगे इसका कयास नहीं लगाया जा सकता था। उन्हें फर्स्ट मूवर एडवांटेज मिला।


' टकराव वाले पॉइंट पर हमारे सैनिक डटे हैं: चीन के सैनिक पीछे हटे या नहीं? इस सवाल पर सेना प्रमुख ने कहा, 'लद्दाख में गतिरोध वाले पॉइंट पर ना चीन के सैनिक कम हुए हैं ना ही हमारे। छअउ पर हालात में कोई बदलाव नहीं आया है। हम बातचीत से हल चाहते हैं। साझा राष्ट्रीय हित प्रभावित न हों तो सहमति हो सकती है।


अगर गतिरोध लंबा चलता है तो चलता रहे, हम इसके लिए तैयार हैं।' लद्दाख में डटे रहने का निदेर्श: सेना प्रमुख ने कहा, सरकार का स्पष्ट निर्देश है कि हम मोर्चे पर डटे रहें, चाहे सर्दी हो या गर्मी। हमने सैनिकों के लिए सर्दी से बचाव और जरूरत के बेहतर उपकरण मुहैया कराए हैं। हमारे जवानों का मनोबल काफी ऊंचा है। चिंता की कोई बात नहीं है। सेना में अब तकनीक पर फोकस: जनरल नरवणे ने कहा कि भविष्य की चुनौतियों का सामना करने के लिए सेना में बदलाव किए जा रहे हैं। आधुनिक तकनीक पर फोकस है। इसका रोड मैप तैयार किया जा रहा है।


वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति