विवादों में घिरी तांडव: मंत्री विश्वास सारंग ने जावड़ेकर को पत्र लिख बैन करने की मांग, हिन्दुओं की धार्मिक भावनाओं को भड़काने का है आरोप



भोपाल। सैफ अली खान अभिनीत पॉलिटिकल ड्रामा सीरीज तांडव अमेजन प्राइम पर रिलीज होने के साथ ही विवादों में घिर गई है। इस वेब सीरीज पर हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का आरोप लगा है। सोशल मीडिया पर लोग इस वेब सीरीज का विरोध कर रहे हैं। वहीं, भोपाल में चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने इसे बैन करने की मांग की है। इस संबंध में उन्होंने सूचना प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर व अमेजन कंपनी को भी पत्र लिखा है। उन्होंने चेतावनी दी है, अगर तत्काल ओटीटी प्लेटफॉर्म से तांडव को नहीं हटाया, तो अमेजन आॅनलाइन शॉपिंग का भी बहिष्कार किया जाएगा


दरअसल, सीरीज के पहले एपिसोड में दिखाया गया है कि एक्टर जीशान अयूब यूनिवर्सिटी के फंक्शन में भगवान शिव के वेश में दिखाई दे रहे हैं। 'तांडव' के इस सीन लेकर लोगों ने सोशल मीडिया के जरिए आपत्ति जताई है। सोशल मीडिया पर बायकाट तांडव भी ट्रेंड कर रहा है। एक बार फिर विवादों में ओटीटी प्लेटफॉर्म: चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने कहा, हमेशा से ही हिंदू देवी देवताओं को लेकर मजाक उड़ाया जाता है। इस संबंध में केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर को पत्र लिखा है। उनसे मांग की है कि ओटीटी प्लेटफॉर्म पर रोक लगाई जाए।


अगर इसे ठीक नहीं किया, तो अमेजन का भी बहिष्कार करें। लोगों से अपील है कि अमेजन और इस वेब सीरीज का बहिष्कार करें। इसके लिए जन जागरण अभियान चलाएंगे। तांडव फिल्म को लेकर भोपाल में प्रदर्शन: रोशनपुरा चौराहे पर हिंदू संगठनों ने तांडव फिल्म का विरोध प्रदर्शन किया है। फिल्म तांडव में हिन्दू देवी देवताओं पर फिल्माए गए कॉमेडी सीन को लेकर विरोध जारी है। वेब सीरीज तांडव को लेकर हिन्दू संगठन नाराज हैं। वे अमेजन और इस वेब सीरीज का बहिष्कार करने की बात कह रहे हैं। वेब सीरीज के प्रमोशन के लिए रोशनपुरा चौराहा पर लगाया गया बड़ा पोस्टर फाड़ा गया।


उसके बाद पोस्टर पर कालिख पोती। इस मामले को लेकर हिंदूवादी संगठन के नेता संस्कृति बचाओ मंच के अध्यक्ष चंद्रशेखर तिवारी तिवारी ने बिना किसी संगठन का नाम लिए हुए आलोचना की। उन्होंने कहा कि एक इस तरह की वेब सीरीज के लिए एक विशेष वर्ग काम कर रहा है। लेकिन मैं उन्हें बता दूं कि हिंदू सहनशील है, पर इस तरीके की वेबसीरीज बनाकर अति सहनशील बनाने की कोशिश ना करें, हम बर्दाश्त नहीं करेंगे।? अब हमारे देवी-देवताओं के खिलाफ अर्नगल टिप्पणी और फिल्मांकन नहीं सहेंगे। अब हम टीटी नगर थाने जाकर उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराएंगे।


यह है मामला: जीशान अय्यूब यूनिवर्सिटी के छात्रों से कहते हैं कि आखिर आपको किससे आजादी चाहिए। इसी बीच नारद के वेश में मंच संचालक कहता है, 'नारायण-नारायण। प्रभु कुछ कीजिए। रामजी के फॉलोअर्स लगातार सोशल मीडिया पर बढ़ते ही जा रहे हैं। मुझे लगता है, हमें भी कुछ नई रणनीति बना ही लेनी चाहिए।' इस पर जीशान अय्यूब कहते हैं, 'क्या करूं मैं तस्वीर बदल दूं क्या?' इसके बाद मंच संचालक कहता है, 'भोलेनाथ आप तो बहुत ही भोले हैं।''तांडव' के इस सीन लेकर लोगों ने सोशल मीडिया के जरिए आपत्ति जताई है। सोशल मीडिया पर बहुत से लोग से भगवान शिव का इस तरह से रूप दिखाने और भगवान राम के बारे में टिप्पणी करने पर गुस्सा निकाल रहे हैं।


वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति