घाटी में बर्फबारी से जन-जीवन पर असर, हादसों में दो जवानों समेत 6 की मौत, उड़ाने रद्द



श्रीनगर। जम्मू-कश्मीर में बुधवार से हो रही भारी बर्फबारी का असर आम जन-जीवन पर पड़ा है। बर्फबारी के दौरान हुए हादसों में सेना के दो जवानों समेत 6 लोगों की मौत हो गई। श्रीनगर एयरपोर्ट पर लो विजिबिलिटी के चलते सभी उड़ानें रद्द कर दी गई हैं। श्रीनगर-जम्मू हाईवे बंद हो गया है। श्रीनगर के लानगेट इलाके में लो विजिबिलिटी के चलते सेना का वाहन दुर्घटनाग्रस्त हो गया


हादसे में राइफलमैन भीम बहादुर और गनर अखिलेश कुमार की मौत हो गई। कुपवाड़ा में हिमस्खलन के चलते सेना की पोस्ट पर माल ढुलाई का काम कर रहे दो लोगों की मौत हो गई। इनके नाम मंजूर अहमद और इशाक खान हैं। इसी तरह श्रीनगर में विद्युत विभाग के एक कर्मचारी और हबाक इलाके में एक अन्य व्यक्ति की जान हादसे में चली गई।


अगले 24 घंटे बर्फबारी का अलर्ट: श्रीनगर एयरपोर्ट अधिकारियों ने बताया कि खराब मौसम और लो विजिबिलिटी के चलते सभी उड़ानें रद्द कर दी गई हैं। अगले 24 घंटे तक भी इन हालात में बदलाव के आसार नहीं हैं, क्योंकि मौसम विभाग ने भारी बर्फबारी की चेतावनी जारी की है।


अधिकारियों ने कहा कि गुरुवार सुबह रनवे को साफ करने के लिए आॅपरेशन शुरू किया गया, लेकिन बर्फबारी की वजह से यह पूरा नहीं हो पाया। एक अधिकारी ने कहा कि जब तक बर्फबारी बंद नहीं होती और विजिबिलिटी में सुधार नहीं होता, तब तक उड़ानें शुरू नहीं हो पाएंगी। श्रीनगर का संपर्क टूटा: पीर पंजाल में राजौरी स्थित मुगल रोड पूरी तरह बंद हो गई।


यातायात विभाग के अधिकारी ने न्यूज एजेंसी को बताया कि ग्रीष्मकालीन राजधानी श्रीनगर को दूर-दराज इलाकों जैसे गुरेज, माछिल, केरन और तंगधार को जोड़ने वाली सड़कें पूरी तरह बंद हो गईं। हाईवे पर करीब 2000 वाहन फंसे हुए हैं। गुलमर्ग में सबसे ज्यादा बर्फबारी: अधिकारियों के मुताबिक, श्रीनगर में गुरूवार सुबह तक 11 सेमी. तक बर्फबारी हुई जबकि घाटी का गेटवे शहर काजीगुंड में 12 सेमी. तक बर्फबारी हुई। गुलमर्ग में सबसे ज्यादा 62 सेमी. तक बर्फबारी हुई। श्रीनगर का तापमान बुधवार रात को शून्य से नीचे 0.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मंगलवार को दिन का तापमान 5.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था।

loading...

वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति