शिवराज के मंत्री ने खोया आपा: चुनाव प्रचार के दौरान पुराने सहयोगियों पर जताई नाराजगी, कहा- चुनाव के बाद देख लेने की दी धमकी, सिख समाज को अपशब्द का भी आरोप



भोपाल। शिवराज सरकार में मंत्री और मुंगावली से भाजपा प्रत्याशी ब्रजेंद्र सिंह यादव ने उपचुनाव में प्रचार के दौरान अपना आपा खो दिया। उन पर सिख समाज के लोगों को अपशब्द कहने का आरोप है। इस दौरान वह भीड़ के बीच में फंस गए। मंत्री के साथी उन्हें बचाकर ले जाते नजर आए। मंत्री ने सहयोग नहीं करने पर पुराने सहयोगियों पर नाराजगी भी जताई और कहा कि तुम लोग ठीक नहीं कर रहे हो। चुनाव के बाद देख लेंगे। इसका एक वीडियो भी वायरल हो गया है


घटना मुंगावली विधानसभा के ग्राम हाजूखेड़ी की है। ईसागढ़ निवासी और कांग्रेस कार्यकर्ता भगवान सिंह ने स्थानीय थाने में शिकायत की। आरोप लगाए कि सिख समाज के साथ बदसलूकी करने और मुझे जान से मरने की धमकी दी गई है। वह शनिवार सुबह 11 बजे वह अपने समाज के साथियों समेत गुरुद्वारा हाजूखेड़ी में एक सामाजिक कार्यक्रम में शामिल होने आया था। यहां पहले से मौजूद मंत्री ब्रजेंद्र ने मुझसे कहा कि तुम और तुम्हारे समाज के साथी चुनाव में मेरा विरोध कर रहे हो।


यह ठीक नहीं है। मंत्री की नाराजगी पर कहा था- आप अब कांग्रेस में नहीं: इस पर भगवान सिंह ने कहा कि मैं कांग्रेस का कार्यकर्ता हूं। पहले भी मैंने कांग्रेस प्रत्याशी रहते आपके लिए काम किया था। अब जब आप कांग्रेस में नहीं है तो मैं कांग्रेस के अधिकृत प्रत्याशी के लिए काम कर रहा हूं, जो मेरा कर्तव्य है। इसी बात पर ब्रजेंद्र भड़क गए और बोले- मैं कोई ऐसा-वैसा (अपशब्द कहे) नहीं हूं। मैं अमरोहा का यादव हूं।


तुम्हें और तुम्हारे सभी समाज के लोगों को चुनाव के बाद ठिकाने लगा दूंगा। जान से मरवा दूंगा। कांग्रेस कार्यकर्ता ने कहा- मुझ पर हमला होता है तो मंत्री जिम्मेदार: भगवान सिंह ने कहा कि मंत्री की धमकी से हमारे समाज में भय का माहौल है। अगर चुनाव के दौरान या बाद में मुझ पर या समाज के लोगों पर कोई घटना अथवा जानलेवा हमला होता है तो उसके जिम्मेदार ब्रजेंद्र ही होंगे। इधर, कांग्रेस के मीडिया समन्वयक नरेंद्र सलूजा ने कहा कि यह शर्मनाक बात है।


यह बात सिख समाज के प्रति उनकी (ब्रजेंद्र) मानसिकता बताती है। भाजपा को इसके लिए समाज से माफी मांगनी होगी। राज्यमंत्री बृजेन्द्र सिंह की सफाई: बृजेन्द्र सिंह ने इस मामले में कहा कि हाजूखेड़ी में सिख समाज द्वारा मुझे आमंत्रित किया गया था। हम सब लोगों की बातचीत चल रही थी तभी कांग्रेस को सपोर्ट करने वाले कुछ सिख लोग आ गए। वह मेरे साथ मौजूद सिख भाइयों को धमकाने लगा। मैंने विरोध किया तो उन लोगों ने मेरे साथ गालीगलौच करते हुए वीडियो एडिट कर डाल दी। अगर मैं गलत होता तो 100 से अधिक सिख समाज के लोग मेरे सपोर्ट में आकर अपने ही समाज के लोगों का विरोध नहीं करते।


वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति