अशोकनगर में कमलनाथ पर शिवराज का बड़ा हमला: कहा- जिन लोगों ने बच्चों से उनकी फीस और लैपटॉप छीन लिए क्या वह लायक हैं



भोपाल। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ हाल ही में ग्वालियर आए थे। यहां पर कह रहे थे कि शिवराज तो नालायक है। ठीक है मैं नालायक हूं, लेकिन मैं आपसे पूछता हूं कि जिन्होंने बच्चों से उनकी फीस और लैपटॉप छीन लिए क्या वह लायक हैं? जिन्होंने गरीबों के हित में लागू की गई संबल योजना बंद कर दी, जिन्होंने बहनों को प्रसव पर मिलने वाले लड्डू के पैसे छीन लिए, गरीबों का कफन छीन लिया और कन्यादान योजना के पैसे खा गए, क्या वो लायक हैं ? क्या वो लायक हैं, जो फसल बीमा प्रीमियम की राशि खा गए और जिन्होंने शून्य प्रतिशत ब्याज पर कर्ज देने की योजना बंद कर दी ? यह बात गुरुवार को मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने अशोकनगर जिले के मुंगावली विधानसभा के पिपरई, अशोकनगर विधानसभा के राजपुर, ग्वालियर जिले के डबरा विधानसभा के सिसगांव में विकास कार्यों के लोकार्पण और शिलान्यास के अवसर पर आयोजित समारोह में कही। समारोह में वरिष्ठ नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी संबोधित किया। कांग्रेस ने जनता को धोखा दिया, सिंधिया जी का अपमान किया: चौहान ने कहा कि 2018 के चुनाव में आप लोगों ने सिंधिया जी की सूरत देखकर और उन पर भरोसा करके वोट दिया। सिंधिया जी ने तो आपका भरोसा नहीं तोड़ा लेकिन कांग्रेस ने तोड़ दिया


कांग्रेस ने बारात किसी और की सजाई और दूल्हा बना दिया किसी और को। उन्होंने सिर्फ जनता को धोखा ही नहीं दिया बल्कि सिंधिया का भी अपमान किया। चौहान ने कहा कि सरकार बनने के बाद जब सिंधिया जी ने कमलनाथ से अपने वादे पूरे करने, नौजवानों को बेरोजगारी भत्ता देने, किसानों का कर्जा माफ करने की बात कही तो उन्होंने सिंधिया जी को सड़क पर उतरने की चुनौती दे डाली। सिंधिया जी ऐसे सड़क पर उतरे कि उन्होंने पूरी सरकार को सड़क पर ला दिया। लोग सरपंची नहीं छोड़ते, लेकिन सिंधिया जी की एक आवाज पर उनके साथियों ने अपना कॅरियर दांव पर लगाकर इस्तीफे दे दिये और भाजपा की सरकार बनी। विकास और कल्याण के कामों में कमी नहीं आने देंगे: मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि हमने प्रदेश के किसानों को 4000 रुपये किसान सम्मान निधि देने की घोषणा की है। किसान भाइयों से मैं कहना चाहता हूं कि आप चिंता मत करना, अगर बारिश और बाढ़ के कारण फसल खराब हुई है तो हम उसकी भी भरपाई करेंगे। चौहान ने कहा कि कोरोना संकट के चलते प्रदेश की आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है, लेकिन हम विकास और कल्याण के कामों में पैसे की कमी नहीं आने देंगे।


उन्होंने पिपरई उप स्वास्थ्य केंद्र को स्वास्थ्य केंद्र बनाने, साइंस कॉलेज खोले जाने, डबरा विधानसभा क्षेत्र के लिधौरा में बांध बनाने, पिछोर में अगले सत्र से कॉलेज खोलने एवं तहसील बनाने की भी भी घोषणाएं की। चौहान ने कहा कि आपने कमलनाथ सरकार और कमल वाली सरकार का फर्क देख लिया है। उन्होंने कहा कि जनता को धोखा देने वालों को सिंधिया जी ने तो सबक सिखा दिया है, अब आप सब भी संकल्प लें कि उन्हें सिंधिया जी के साथ मिलकर सबक सिखाएंगे। इस चुनाव में सिंधिया जी का, मोदी जी का साथ देंगे और भारतीय जनता पार्टी को जिताएंगे। शिवराज जी ने विकास की, कमलनाथ ने भ्रष्टाचार की लकीर खींची: सिंधिया: भाजपा के वरिष्ठ नेता एवं राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि पिपरई क्षेत्र की जनता से मेरा दिल का नाता है। जो आपने मांगा वो हमने किया, जो आपने नहीं मांगा वो भी दिया। उन्होंने कहा कि शिवराज जी ने 15 वर्षों में जो विकास की लंबी लकीर खींची थी, उससे लंबी लकीर कमलनाथ सरकार ने भ्रष्टाचार की खींच दी। सिंधिया ने कहा कि कमलनाथ के मुख्यमंत्री बनने में ग्वालियर चंबल का सबसे महत्वपूर्ण रोल था। यहां से कांग्रेस को 34 में से 26 सीटे मिली थी। बदले में इस अंचल को क्या मिला? हमने सोचा था कि एक विकासशील, प्रगतिशील सरकार आयेगी।


जो सरकार आई, उसने विकास और प्रगति की लकीर तो नहीं खींची, उल्टे भ्रष्टाचार और वादाखिलाफी की लकीर खींच दी। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने कहा था सिर्फ 10 दिन में कर्जमाफ होगा, अगर नहीं हुआ तो 11 वे दिन मुख्यमंत्री बदल देंगे। 10 दिन, 10 महीने निकल गए पर किसानों का कजार्माफ नहीं हुआ। सिंधिया ने कहा कि जो सरकार अन्नदाताओं के साथ वादाखिलाफी करेगी उस सरकार को सड़क पर लाने का काम सिंधिया परिवार का मुखिया करता रहेगा। सिर्फ वादाखिलाफी और भ्रष्टाचार की थी कांग्रेस सरकार: ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि सरकार-सरकार में फर्क होता है। एक कमलनाथ सरकार थी जिसने सिर्फ वादाखिलाफी और भ्रष्टाचार किया। दूसरी कमल की सरकार है, जिसने सिर्फ 5 महीने में ही वो करके दिखाया जो कांग्रेस 15 महीने में नहीं कर पायी। शिवराज जी ने 37 लाख गरीबों को एक रूपए किलो में अनाज उनके घर में पहुंचाया है। फसल बीमा की राशि पर कमलनाथ ने ताला लगा दिया था उसको शिवराज जी ने पैसा जमा करके किसानों को बीमा राशि दिलवाई। कोरोनाकाल में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 80 करोड़ गरीबों के लिए मुफ्त राशन पहुंचाया है। उज्जवला योजना के तहत गैस सिलेंडर मुफ्त पहुंचाया। यह मोदी जी और शिवराज जी की जुगलबंदी है।


चलेगी विकास की शिव-ज्योति एक्सप्रेस ट्रेन: ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि मुख्यमंत्री रहते कमलनाथ ने गरीब बेटियों की शादी के लिए 51 हजार देने का वादा किया था, 15 महीने में हजारों बेटियों की शादियां हो गयी, परंतु 1 रूपए भी किसी बेटी के खाते में नहीं आया। बेरोजगारों को हर महीने 4 हजार रूपए भत्ता देने का वादा किया था, लेकिन किसी युवा को भत्ता नहीं मिला। कांग्रेस ने 15 महीने में प्रदेश को भ्रष्टाचार का उद्योग बना दिया। कमलनाथ सरकार में भ्रष्टाचार ही शिष्टाचार था। उन्होंने कहा कि मैं आपको विश्वास दिलाता हूं कि शिवराज जी और मैं इस क्षेत्र के और प्रदेश के विकास में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। उन्होंने कहा कि सन 1980 में मोती-माधव एक्सप्रेस पूरे मध्यप्रदेश में विकास की आंधी लायी थी, आज शिवराज जी और ज्योतिरादित्य साथ हैं। भाजपा के प्रत्याशियों को आपके आशीर्वाद की आवश्यकता है। इसके बाद इस अंचल और मध्यप्रदेश में विकास की शिव-ज्योति एक्सप्रेस ट्रेन चलेगी। सिंधिया ने कहा कि मुख्यमंत्री चौहान ने ग्वालियर-चंबल अंचल को बीते पांच महीनों में छप्पर फाड़ के दिया है। ऐसे में जब इस क्षेत्र से गद्दारी करने वाले कमलनाथ और दिग्विजयसिंह वोट मांगने आएं तो उन्हें एक भी वोट नहीं मिलना चाहिए। राजपुर, पिपरई एवं सिसगांव डबरा में प्रदेश शासन के मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा, श्रीमती इमरती देवी, बृजेन्द्र सिंह यादव, आलोक शर्मा, जिलाध्यक्ष उमेश रघुवंशी, विधायक वीरेन्द्रसिंह रघुवंशी, गोपीलाल जाटव, पूर्व विधायक जसपाल सिंह जग्गी, नरेश ग्वाल, लाखन सिंह कटारिया, राजकुमार यादव, सुभाष मोदी, रविन्द्र शुक्ला, जगन्नाथ सिंह यादव, रामचरण कांवरे, रामकृष्ण लोधी उपस्थित थे।


वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति