मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर सिंधिया से मिले शिवराज, अचानक नरोत्तम मिश्रा के दिल्ली पहुंचने के बाद मंत्रिमंडल विस्तार पर सस्पेंस



भोपाल। मध्य प्रदेश में शिवराज सरकार के मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर रास्ता साफ होता दिख रहा है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सोमवार को दोपहर नई दिल्ली में सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया से मुलाकात की है। सूत्रों के अनुसार, दोनों नेताओं के बीच मंत्रिमंडल के विस्तार और उसके संभावित नामों को लेकर चर्चा हुई है। बताया जा रहा है कि मंत्रिमंडल विस्तार मंगलवार को शाम हो सकता है। इसमें पाला बदलने वाले विधायकों के मंत्री बनने का रास्ता साफ हो गया है


मंत्रिमंडल विस्तार के इस कार्यक्रम में ज्योतिरादित्य सिंधिया भी शामिल हो सकते हैं। हालांकि मंत्रिमंडल के नामों को लेकर मुहर रविवार को ही लग चुकी है, जब शिवराज गृहमंत्री अमित शाह से मिले थे। इधर, गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा भी दिल्ली पहुंच गए हैं और सरगर्मी तेज हो गई है। मिश्रा दो दिन के दौरे पर दतिया और भिंड के दौरे पर थे, लेकिन उनके अचानक दिल्ली पहुंचने से तमाम तरह के कयास लगाए जा रहे हैं।


इस मुलाकात में सिंधिया ने शिवराज सिंह चौहान को मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए 30 लाख का चेक भी सौंपा। इस पर मुख्यमंत्री ने सिंधिया का धन्यवाद किया है। उन्होंने लिखा कि मध्यप्रदेश की बेहतरी के लिए आपके द्वारा दिए गए योगदान के लिए धन्यवाद देता हूं। वहीं सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने भी इसकी जानकारी दी है कि उन्होंने कोरोना राहत कार्यों के लिए, अपनी ओर से मुख्यमंत्री राहत कोष में 30 लाख का रुपए चेक सौंपा है।


वहीं, सिंधिया के दान पर कांग्रेस ने तंज कसा है। कांग्रेस प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने ज्योतिरादित्य सिंधिया की तस्वीर को शेयर करते हुए लिखा है कि तेरा तुझको अर्पण, क्या लागे मेरा... इधर, गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल हुए 22 विधायकों ने पूर्व केंद्रीय मंत्री और राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया के मान-सम्मान में पार्टी छोड़ी है।


गृहमंत्री रविवार को गोहद कृषि मंडी परिसर में विजय संकल्प सभा को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि जिले के गोहद अस्पताल को बहुत जल्द 100 बेड वाला अस्पताल बनाया जाएगा। गोहद विधानसभा में 3 नए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र भी खोले जाएंगे। बता दें कि गोहद में भी विधानसभा उपचुनाव होने हैं, यहां के विधायक रणवीर जाटव इस्तीफा देकर भाजपा में शामिल हो गए थे। शिवराज के लिए आसान नहीं रहेगी डगर: शिवराज सिंह चौहान ने मुख्यमंत्री पद की शपथ भले ले ली है, लेकिन मंत्रिमंडल विस्तार में उन्हें राष्ट्रीय नेतृत्व के आधार पर चलना पड़ रहा है। जानकारी के अनुसार शिवराज सिंह के करीबी नेताओं के मंत्रिमंडल में जगह पाने की उम्मीद काफी कम है।


वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति