कमलनाथ सहित कई दिग्गजों पर ऐसे निशाना साधा इस कांग्रेसी नेता ने



नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की करारी हार और राहुल गांधी के अध्यक्ष पद से इस्तीफे की पेशकश के बीच  पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री वीरप्पा मोइली का कहना है कि पार्टी में बड़ी सर्जरी की जरूरत है


उन्होंने कहा कि हार के लिए राहुल की बजाय उन प्रदेशाध्यक्षों को जिम्मेदार ठहराना होगा, जिनके यहां पार्टी का बहुत कमजोर प्रदर्शन रहा है। जाहिर है कि उनका इशारा मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ तथा राजस्थान के पार्टी अध्यक्ष सचिन पायलट आदि की ओर   था।


  एक न्यूज एजेंसी से बातचीत में मोइली ने कहा कि राहुल ने अच्छी तरह नेतृत्व किया। कांग्रेस को इसका फायदा उठाना चाहिए था। पार्टी उनके नेतृत्व का फायदा नहीं उठा सकी। उन्होंने ऐसा महौल तैयार किया जिससे यह लगने लगा था कि कांग्रेस सत्ता में आ रही है। हम सफल नहीं हुए तो इसका मतलब यह नहीं है कि हम कहें कि उनका नेतृत्व अच्छा नहीं है।


अगर उनका नेतृत्व चुनाव से पहले और चुनाव के दौरान अच्छा था तो फिर अब अच्छा क्यों नहीं होगा? राहुल गांधी ने डेढ़ साल पहले अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी ली। उनको भी समय मिलना चाहिए और वह खुद को साबित करेंगे। मोइली ने कहा, ‘जिन राज्यों में हम हारे हैं, वहां के प्रभारियों और राज्य अध्यक्षों को जवाबदेह ठहराना चाहिए।


दूसरे नेताओं को नैतिक जिम्मेदारी लेनी चाहिए।’ कांगे्रेस के लिए आगामी जरूरतों पर मोइली का कहना था कि पार्टी में बड़ी सर्जरी करनी होगी। सभी स्तरों पर चुनाव कराए जाएं। निर्वाचित हुए लोगों को जिम्मेदारी मिले। उन्होंने कहा, ‘अगर हम ऐसा नहीं करेंगे तो पार्टी में जो नेता जमे हुए हैं, वही आगे भी बने रहेंगे और नए लोग आगे नहीं आ पाएंगे। नेताओं की आपसी कलह को भी खत्म करना होगा। राहुल गांधी को कदम उठाने की जरूरत है। उन्हें सख्ती दिखानी होगी। बिना किसी दया के कार्रवाई करनी होगी। यह अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के स्तर भी करना होगा। उन्हें तत्काल कदम उठाना चाहिए।

loading...

वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति