कोरोनावायरस संक्रमण के बीच भारत ने चीन के नागरिकों को दी जाने वाली ई-वीजा की सुविधा निरस्त की



नई दिल्ली। कोरोनावायरस संक्रमण के खतरे के बीच भारत ने चीन के नागरिकों को दी जाने वाली ई-वीजा की सुविधा निरस्त कर दी है। साथ ही मौजूदा ई-वीजा भी अमान्य कर दिए गए हैं। हालांकि, डिप्लोमेटिक वीजा को इससे बाहर रखा गया है। रवीश कुमार ने भारतीय छात्रों को निकालने में चीन की सरकार से मिले सहयोग की तारीफ की। वहीं, चीन के लिए भारत से उड़ानें निरस्त करने को एयरलाइन कंपनियों का फैसला बताया


विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने गुरुवार को कहा- कोरोनावायरस के चलते चीन के सभी नागरिकों को पहले जारी किए गए ई-वीजा भी अब मान्य नहीं होंगे। सामान्य वीजा जो जारी किए गए हैं, वे भी अधिक वैध नहीं हैं। हालांकि, जो लोग बहुत जरूरी काम से भारत आना चाहते हैं, वे वीजा जारी करने के लिए हमारे दूतावास या नजदीकी वाणिज्य दूतावास से संपर्क कर सकते हैं।


डिप्लोमेटिक वीजा पर असर नहीं: रवीश कुमार ने साफ किया कि नए वीजा प्रतिबंध केवल चीन की मुख्य भूमि (मेनलैंड चाइना) पर लागू होंगे। कुछ श्रेणियों के लिए भारत का ई-वीजा अब भी उपलब्ध है। राजनयिक उस श्रेणी में नहीं आते हैं और उनके वीजा का आवेदन दूतावास के जरिए भेजा जाता है। इसलिए, ताजा फैसले से राजनयिक प्रक्रिया (डिप्लोमेटिक प्रोसेस) पर कोई असर नहीं पड़ेगा।


सरकार ने उड़ानों पर पाबंदी नहीं लगाई: कोरोनावायरस की वजह से चीन की उड़ानों पर प्रतिबंध के मुद्दे पर रवीश कुमार ने कहा- मुझे भारत और चीन के बीच वाणिज्यिक उड़ानों के संचालन पर सरकार की तरफ से लगाए गएए किसी प्रतिबंध की जानकारी नहीं है। एयरलाइन कंपनियां परिस्थितियों के मुताबिक इस बारे में फैसला लेने के लिए स्वतंत्र हैं।


पाकिस्तान मदद मांगे, तो विचार संभव: चीन में फंसे पाकिस्तानी छात्रों के भारत से मदद मांगने के वीडियो पर रवीश कुमार ने कहा- हमें पाकिस्तान सरकार से इस बारे में कोई अनुरोध नहीं मिला है। लेकिन, अगर ऐसी स्थिति पैदा होती है और हमारे पास पर्याप्त संसाधन उपलब्ध होते हैं, तो हम इस पर विचार करेंगे। चीन की सरकार को शुक्रिया कहा: रवीश कुमार ने कोरोनावायरस संक्रमण के केंद्र वुहान से भारतीयों को वापस लाने में चीन सरकार के सहयोग और अधिकारियों द्वारा मुहैया कराई गई सुविधाओं की तारीफ की। उन्होंने कहा- हमने चीन के कोरोनावायरस प्रभावित वुहान से भारत ने 640 भारतीयों को सुरक्षित निकाला है। इसके साथ ही 7 मालदीव के नागरिकों को भी वापस लाया गया। भारत ने 2 बार अपने विमान भेजकर इस जटिल आॅपरेशन को अंजाम दिया।

loading...

वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति