गुजरात: स्टेच्यू आफ यूनिटी की साफ-सफाई का कार्य शुरू, आधुनिक मशीनों का लिया जा रहा सहारा



राजपीपला। स्टेच्यू आफ यूनिटी के आम लोगों के दर्शनार्थ खुलने के एक साल पूरे होने के बाद अब प्रतिमा की साफ-सफाई का कार्य शुरू हुआ है


प्रतिमा के बाहरी हिस्से की साफ-सफाई करना चुनौतीपूर्ण है, इसलिए क्रेन समेत कई आधुनिक तकनीकों का सहारा लिया जा रहा है। इस क्रम में 11 स्थानों पर प्रतिमा की प्लेटों को खोला जाएगा।


स्टेच्यू आफ यूनिटी लौहपुरुष सरदार वल्लभभाई पटेल की 182 मीटर ऊंची प्रतिमा है। सुरक्षा के लिए प्रतिमा के पैर के हिस्से में गेट बनाने का काम भी शुरू हुआ है।


स्टेच्यू के दोनों पैरों की प्लेट को काट कर 2.1 मीटर ऊंचे और 1.8 मीटर चौड़ाई के दो दरवाजे बनाने का काम भी शुरू किया गया है। इनमें से एक दरवाजे में लिफ्ट और दूसरे में सीढ़ियों की सहूलियत है।


इन दरवाजों का प्रयोग दर्शन के लिए किया जा सकेगा। मूल डिजाइन में कोई भी बदलाव नहीं किया जाएगा: नर्मदा बांध के मुख्य इंजीनियर पीसी व्यास ने बताया कि मूल डिजाइन में किसी भी तरह का नया बदलाव नहीं किया जा रहा है। डिजाइन के हिसाब से ही प्लेट खोल कर पानी समेत जरूरी चीजों से साफ-सफाई की जा रही है। व्यूइंग गैलरी तक पहुंचने के लिए प्रवासियों के लिए 2 लिफ्ट हैं। आपातकाल के लिए अलग से दरवाजा भी है। आग जैसी घटना से निपटने के लिए आटोमैटिक स्प्रिंकलर सिस्टम भी लगा हुआ है।

loading...

वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति