प्रेमपुरा घाट में झांकी विसर्जन के दौरान श्रद्धालुओं को 30 फीट पहले रोक दिया जाएगा, क्रेन से उठाएंगे मूर्ति



भोपाल। नवरात्रि पर्व के समापन के बाद सोमवार से दुर्गा प्रतिमाओं के विसर्जन  का सिलसिला शुरू हो गया, जो बुधवार तक जारी रहेगा। ये पहला मौका होगा, जब झांकी के साथ आए श्रद्धालुओं को पानी से करीब 30 फीट पहले ही रोक लिया जाएगा। इन तीन दिनों में सबसे ज्यादा 750 प्रतिमाओं का विसर्जन प्रेमपुरा घाट पर होगा। यहां झांकी वन वे रूट से गुजरेगी और वाहन पर रखी प्रतिमा क्रेन की मदद से उठा ली जाएगी। इसके बाद प्रतिमा का विसर्जन छोटी, मझली और बड़ी मूर्ति के आकार के आधार पर होगा। यानी छोटी मूर्तियां 3600 वर्गफीट के कुंड में विसर्जित की जाएंगी। मंझले आकार की मूर्तियों को क्रेन से और बड़े आकार की मूर्तियों का विसर्जन जुगाड़ से बनाए गए स्लाइडिंग प्लेटफॉर्म से किया जाएगा


गणेश प्रतिमा विसर्जन के दौरान 13 सितंबर को खटलापुरा पर 11 लोगों के डूबने के बाद पुलिस-प्रशासन ने इस बार थोड़े सख्त इंतजाम किए हैं। इस दौरान 1750 पुलिसकर्मी तैनात किए गए हैं।  21 घाटों पर विसर्जित होंगी दो हजार प्रतिमाएं : राजधानी में 21 अलग घाटों पर दो हजार प्रतिमाएं विसर्जित की जानी हैं। सोमवार को प्रेमपुरा घाट पर 51, बैरागढ़ घाट पर 60 और बैरसिया स्थित घाट पर 50 मूर्तियां विसर्जित की गईं। मंगलवार को प्रेमपुरा पर 194, हथाईखेड़ा पर 121 मूर्तियां विसर्जित की जाएंगी। सबसे ज्यादा विसर्जन बुधवार को होना तय है। इस दिन प्रेमपुरा पर 450 और हथाईखेड़ा पर 154 प्रतिमाएं विसर्जित होंगी। बची हुई प्रतिमाएं 10 को विसर्जित की जाएंगी।


26 घंटे तक...बदले रूट से गुजरेंगे वाहन : दुर्गा प्रतिमाओं का जुलूस भारत टॉकीज चौराहे से शुरू होकर अपने निर्धारित मार्ग होते हुए 10 अक्टूबर को विसर्जन स्थल पर समाप्त होगा। पुलिस ने बुधवार सुबह 8 बजे से गुरुवार सुबह दस बजे तक ट्रैफिक व्यवस्था में कुछ बदलाव किए हैं। जुलूस नंबर 1 का रूट : भारत टॉकीज चौराहे से दुर्गा प्रतिमाएं सेंट्रल लायब्रेरी, इतवारा, मंगलवारा, जुमेराती गेट होते हुए पीरगेट आएंगी। मोती मस्जिद, रेतघाट, किलोल पार्क होते हुए रानी कमलापति घाट पर विसर्जित होंगी। प्रेमपुरा घाट जाने वाली प्रतिमाएं पॉलिटेक्निक चौराहा से सिटी डिपो चौराहा होते हुए गुजरेंगी।


जुलूस नंबर 2 का रूट : भारत टॉकीज चौराहे से प्रतिमाओं का दूसरा जुलूस तलैया थाना तिराहा, लिली टॉकीज, पीएचक्यू,, रोशनपुरा, रंगमहल, जवाहर चौक होते प्रेमपुरा घाट पहुंचेगा। हथाईखेड़ा में विसर्जन वाली प्रतिमाएं आनंद नगर से प्रवेश करेंगी। खटलापुरा के लिए प्रतिमाएं पीएचक्यू से प्रवेश करेंगी। दो दिन ऐसी रहेगी ट्रैफिक व्यवस्था: 9 अक्टूबर : सुबह 8 बजे से भारी वाहन खजूरी सड़क, मुबारकपुर, लांबाखेड़ा, सूखी सेवनिया, इस्लाम नगर, लालघाटी, नरसिंहगढ़ तिराहा, एयरपोर्ट चौराहा, करोंद चौराहा, भानपुर चौराहा, पटेल नगर 11 मील और रत्नागिरी से शहर के अंदर जाने के लिए प्रतिबंधित रहेंगे। & पब्लिक ट्रांसपोर्ट : सुबह 8 बजे से वाहन शहर में होकर बस स्टैंड की ओर आवागमन नहीं करेंगे।


होशंगाबाद, रायसेन मार्ग से आने वाली बसें व अन्य वाहन प्रभात चौराहे से अस्सी फीट रोड होकर संगम तिराहे तक आएंगी। यहां से अल्पना तिराहा होकर बस स्टैंड की ओर जाएंगे। इंदौर, राजगढ़ मार्ग से आने वाले वाहन लालघाटी, जीएडी, रॉयल मार्केट, भोपाल टॉकिज होकर बस स्टैंड आएंगे और संगम तिराहे से ओवर ब्रिज, बजरिया तिराहा, 80 फीट रोड होकर आगे की ओर जा सकेंगे। अन्य : रात 8 बजे से सभी दोपहिया, चार पहिया वाहन तलैया तिराहा, पुल बोगदा और अल्पना तिराहे से भारत टॉकीज की ओर नहीं जा सकेंगे। रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड की ओर जाने वाले वाहन पुल बोगदा, प्रभात पेट्रोल पंप से 80 फीट रोड, कमला पार्क मार्ग होते हुए जा सकेंगे।  10 अक्टूबर : सुबह 5 से आठ बजे तक पॉलिटेक्निक चौराहे से कमला पार्क की ओर जाने वाले वाहन रोशनपुरा चौराहे से पीएचक्यू, भारत टॉकीज से हमीदिया रोड होकर रॉयल मार्केट की ओर जाएंगे। प्रतिमाओं का विसर्जन खत्म होने तक कोई भी वाहन भदभदा नया पुल से सिटी डिपो चौराहे की ओर नहीं आएगा। ये वाहन आईआईएफएम, नेहरू नगर चौराहा, मैनिट चौराहा होकर जा सकेंगे।

loading...

वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति