सेमीफाइनल मुकाबले में धोनी के रन आउट होते ही फैंस को लगा सदमा, हुई मौत



कोलकाता। मैनचेस्टर में वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल मुकाबले के दौरान रविंद्र जडेजा और एमएस धोनी की शानदार साझेदारी ने भारत की उम्मीदें जगा दी थीं। जडेजा और धोनी ने 7वें विकेट के लिए शतकीय साझेदारी की और दोनों के बल्ले से निकल रहे एक-एक रन से टीम इंडिया को फाइनल का टिकट दूर नहीं नजर आ रहा था


लेकिन पहले जडेजा और फिर धोनी के रन आउट होने से फैंस निराशा के भंवर में चले गए। वर्ल्ड कप से भारत के बाहर होने का सदमा कोलकाता में एक फैंस नहीं झेल सका और उसकी मौत हो गई।  भारत-न्यू जीलैंड का यह रोमांचक मुकाबला जब क्लाइमेक्स पर था उस वक्त कोलकाता के साइकल दुकानदार श्रीकांत मैती अपनी दुकान में बैठे मोबाइल पर मैच देख रहे थे।


आखिरी 11 गेंदों में भारत को 25 रन चाहिए थे। 49वें ओवर की दूसरी गेंद पर कोई रन नहीं बना। तीसरी गेंद पर धोनी एक रन तेजी से दौड़े और दूसरे के लिए उसी तेजी से लौटे। लेकिन मार्टिन गप्टिल का सीधा थ्रो विकेट उखाड़ चुका था और धोनी पलक झपकते ही रन आउट हो गए।  गप्टिल के इस थ्रो ने टीम इंडिया की उम्मीदों और करोड़ों भारतीय फैंस के सपनों को तोड़ दिया।


श्रीकांत भी यह सदमा सहन नहीं कर सके और धोनी के आउट होने के तुरंत बाद दुकान के अंदर ही उनकी मौत हो गई। श्रीकांत अपने मोबाइल फोन पर मैच के रोमांचक क्षणों को देख रहे थे। लेकिन धोनी के विकेट ने ऐसा झटका दिया कि उनकी सांसें थम गईं।


  इलाके में मिठाई की दुकान चलाने वाले सचिन घोष का कहना है, 'तेज आवाज सुनने पर हम उनकी दुकान में मदद के लिए पहुंचे। हमने उन्हें जमीन पर मूर्छित अवस्था में गिरा हुआ देखा। हम उन्हें नजदीकी खानकुल अस्पताल लेकर गए, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।'  बता दें कि मैनचेस्टर में खेले गए वर्ल्ड कप के पहले सेमीफाइनल में न्यू जीलैंड ने भारत को 18 रनों से हरा दिया। इस जीत के साथ न्यू जीलैंड ने फाइनल में जगह बना ली, वहीं भारत के वर्ल्ड कप अभियान का समापन हो गया। फाइनल मुकाबला 14 जुलाई को लॉर्ड्स में खेला जाएगा।  

loading...

वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति