कोरोना का कहर: कर्नाटक में 10 महीने के बच्चे में कोरोना का संक्रमण, देश में अब 878 मामलो आए सामने



नई दिल्ली। कर्नाटक के दक्षिण कन्नड़ में एक दस महीने के बच्चे में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। बच्चे को बुखार था और सांस लेने में तकलीफ हो रही थी। उसे 23 मार्च को मंगलुरु के एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया था। बच्चे के स्वाब के नमूने जांच के लिए भेजे गए, जिसमें कोरोनावायरस की पुष्टि हुई। फिलहाल बच्चे की हालत स्थिर है और उसका इलाज चल रहा है। देश में कोरोनावायरस संक्रमण के अब तक 878 मामले सामने आ चुके हैं। ये आंकड़े कोविड19 इंडिया डॉट ओआरजी के मुताबिक हैं


हालांकि, सरकार ने देश में अभी 743 कोरोना पॉजिटिव मिलने की ही पुष्टि की है। शुक्रवार को सबसे ज्यादा 39 नए मामले केरल में सामने आए। इसके साथ ही राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 176 हो गई। देश में कोरोना के 66 मरीज ठीक भी हो चुके हैं। संक्रमण से देश में शुक्रवार को 22वीं मौत मुंबई में हुई। यहां 85 साल के डॉक्टर ने दम तोड़ दिया। इससे पहले शुक्रवार को ही कर्नाटक के तुमकुर 21वीं मौत हुई थी। संक्रमित व्यक्ति की उम्र 65 साल थी। वह 5 मार्च को दिल्ली गया था और 11 मार्च को लौटा था।


तुमकुर के डिप्टी कमिश्नर डॉ के राकेश कुमार ने कहा कि उसके साथ सफर करने वाले सभी यात्रियों का पता लगाया जा रहा है। गुरुवार को देश में संक्रमण से सात मौतें हुईं: देश में गुरुवार को एक दिन में सबसे ज्यादा सात लोगों ने दम तोड़ा। 26 मार्च को मध्य प्रदेश के इंदौर में 65 वर्षीय बुजुर्ग, जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर में 65 साल के मरीज, महाराष्ट्र के मुंबई में 65 वर्षीय बुजुर्ग, गुजरात के भावनगर में 70 साल की बुजुर्ग और राजस्थान के भीलवाड़ा में 63 और 70 साल के दो मरीजों की जान गई।


इसके अलावा कर्नाटक में 75 साल की महिला की मौत हो गई। देशभर में नीट की परीक्षा स्थगित की गई: कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट स्थगित कर दी गई है। अधिकारियों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। नीट के जरिए ही देशभर के एम्स समेत सभी चिकित्सा संस्थानों और मेडिकल कॉलेजों में एमबीबीएस कोर्स के लिए दाखिला मिलता है। कोरोना के खिलाफ सेना का आॅपरेशन नमस्ते: कोरोनावायरस संक्रमण के खिलाफ हर स्तर पर लड़ाई लड़ी जा रही है। भारतीय सेना भी इसमें अपना योगदान दे रही है।


आर्मी ने इस अभियान को आॅपरेशन नमस्ते नाम दिया है। सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे ने कहा कि हम पिछले अभियानों में सफल रहे हैं और आगे ह्यआॅपरेशन नमस्तेह्ण में भी सफल होंगे। शिर्डी के सांईबाबा ट्रस्ट ने 51 करोड़ रुपए दान किए: पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर ने प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री राहत कोष में 25-25 लाख रुपए दान दिया है। इससे पहले सौरव गांगुली ने गरीबी रेखा से नीचे जीवनयापन करने वालों के लिए 50 लाख रुपए के चावल दान किए थे। सौराष्ट्र क्रिकेट एसोसिएशन गुजरात ने भी प्रधानमंत्री राहत कोष में 21 लाख रुपए दान किए हैं। वहीं, कोरानावायरस आपदा से निपटने के लिए शिरडी के श्री साईबाबा संस्थान ट्रस्ट ने मुख्यमंत्री राहत कोष में 51 करोड़ रुपए दान किए हैं।


वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति