ग्रामीण स्ट्रीट वेंडर योजना के हितग्राहियों से सीएम ने की बात: मुकेश ने कहा- लॉकडाउन के दिन बहुत मुश्किल भरे थे, दस हजार की सहायता से मिलने से अब हमारी आय हो गई है दोगुनी



इंदौर। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने गुरुवार को ग्रामीण स्ट्रीट वेंडर योजना के हितग्राहियों से वर्चुअल कार्यक्रम में बात की। इस दौरान मुख्यमंत्री ने धरमपुरी निवासी सब्जी का ठेला लगाने वाले मुकेश गप्पू लाल से बात की। उन्होंने लॉकडाउन के दौरान आई परेशानी और फिर सरकार द्वारा 10 हजार रुपए की मदद को लेकर उसने बात की। मुकेश ने मुख्यमंत्री को बताया कि लॉकडाउन के दिन बहुत मुश्किलभरे थे। सहायता मिलने से अब हमारी आय दोगुनी हो गई है


मुकेश की मंदबुद्धि बेटी के बारे में पता चलते ही मुख्यमंत्री ने उसका इलाज करवाने के लिए पास बैठे मंत्री तुलसी सिलावट से कहा। मुख्यमंत्री ने मुकेश की पत्नी से कहा- हमारी बहन खुश रहे, मैं यही चाहता हूं। जब रिंगनोदिया आऊंगा तो घर पर मक्के की रोटी जरूर खाऊंगा। करीब 4 हजार की सब्जी रोज बेचता हूं: मुख्यमंत्री ने मुकेश से बात करते हुए कहा कि मैं तो आपका साथी हूं। मेरा तो साथ बना रहेगा, बस भगवान की कृपा बनी रहे।


मुकेश ने बताया कि वह रिंगनोदिया में सब्जी का ठेला लगाता है। मुख्यमंत्री के रिंगनोदिया की आबादी पूछने पर उसने बताया कि करीब डेढ़ हजार लोग वहां निवास करते हैं। वह एक दिन में करीब 4 हजार रुपए की सब्जी बेच लेता है। इसमें से तीन से चार सौ रुपए की बचत हो जाती है। लॉकडाउन के समय बहुत परेशानी आ गई थी। सरकार की ओर से जो राहत सामग्री और राशि मिली, उसी से गुजारा किया। अब सरकार की ओर से 10 हजार रुपए मिले हैं।


इस पर सीएम ने पूछा कि रुपए तो पूरे मिले हैं ना इस पर मुकेश ने बताया कि हां, एक बार में ही पूरे 10 हजार रुपए मिले हैं। 10 हजार रुपए मिलने से हमने एक और ठेला ले लिया है। अब कमाई डबल हो जाएगी। जो कमाई होगी उससे 950 रुपए महीने की किश्त भरेंगे और कुछ बचत करेंगे।


बेटी को एक बार इंदौर में दिखाओ: मुख्यमंत्री ने मुकेश से बच्चों के बारे में पूछा तो उन्होंने बताया कि एक बेटी है, वह मंदबुद्धि है, इसलिए सरकार की ओर से पेंशन मिलती है। इस पर मुख्यमंत्री ने पूछा कि उसका कहीं इलाज करवाया की नहीं। इस पर उन्होंने कहा कई जगह दिखाया पर कुछ नहीं हुआ। इस पर उन्होंने पास बैठे मंत्री सिलावट से कहा कि एक बार बच्ची को इंदौर में डॉक्टरों को दिखाओ तो। इंदौर के अलावा, दिल्ली, मुंबई कहीं कुछ हो तो वहां भी पता करें। इस पर सिलावट ने कहा कि जरूर, जल्द ही दिखाते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि सम्मान से जिएं। बच्ची का ध्यान रखें। हम इलाज में पूरी मदद करेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि रिंगनोदिया आऊंगा तो मक्के की रोटी जरूर खाऊंगा।


वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति