सीएम शिवराज ने बेटियों को लगाया पंख: बोले- बेटियों को अब डरने-सहने की नहीं जरूरत, छेड़ने वालों को ऐसी सजा देंगे की जमाना याद रखेगा



भोपाल। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि बेटियों को अब ना डरने की जरूरत है और ना ही सहने की। मैं कहना चाहता हूं कि अब बदमाशों और मनचलों को हम मध्यप्रदेश में ऐसी सजा देंगे कि जमाना याद रखेगा। ऐसे लोगों को सिर्फ जेल नहीं भेजा जाएगा। उनका मकान, जमीन और दुकान सब धूल में मिला दिया जाएगा। सीएम मिंटो हॉल में हुए राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर बोल रहे थे। इस मौके पर बच्चियों अधिकारों और जागरूकता के लिए 'पंख' अभियान की शुरूआत की गई। उन्होंने कहा, 'किसी को भी छोड़ा नहीं जाएगा


बेटियों, हम आपके लिए एक नया दौर और नया जमाना लेकर आएंगे। ऐसे लोगों के खिलाफ खुलकर सामने आएं। पुलिस में शिकायत करें। किसी को भी छोड़ा नहीं जाएगा। हमारी बेटियां, हमारी शान हैं। उन्हें परेशान करने या छेड़छाड़ करने वाले समझ लें कि मामा उन्हें मिटा देगा।' मुख्यमंत्री ने कन्या पूजन के साथ कार्यक्रम की शुरूआत की। इस दौरान विदिशा की महिला ने बताया, उनकी बेटी से उनके पति ने ही ज्यादती की थी। पुलिस की मदद से पति को जेल भिजवाया। आज वह उम्रकैद की सजा काट रहा है।


शासन से 2 लाख मिले, वो भी बेटी के खाते में जमा करा दिए। यह सुनते शिवराज भावुक हो गए। बोले- 'जब इस तरह की कोई सच्ची दिल दहलाने वाली घटना सामने आती है, तो दिल बिखर जाता है। ऐसे लोगों को समाज क्या दुनिया में रहने का हक नहीं है' पंख अभियान की शुरूआत आज से: प्रदेश में बालिकाओं के सशक्तिकरण और उनके अधिकार को लेकर जागरूकता लाना और उन्हें समान अवसर उपलब्ध कराने के उद्देश्य से लगातार नवाचार किए जा रहे हैं।


इसी क्रम में राष्ट्रीय बालिका दिवस पर रविवार से किशोरी बालिकाओं की सुरक्षा, जागरूकता, जानकारी, स्वास्थ्य एवं स्वच्छता से जोड़ने के उद्देश्य से 'पंख अभियान' की शुरूआत की गई। पंख यानी बच्चियों का संपूर्ण सशक्तिकरण पी- प्रोटेक्शन यानी संरक्षण ए- अवेयरनेस यानी जागरूकता एन- न्यूट्रीशन यानी पोषण के-नॉलेज यानी ज्ञान एच- हेल्थ-हाईजीन यानी स्वास्थ्य और स्वच्छता। अन्य राज्यों ने भी योजना का अनुकरण किया: लाड़ली लक्ष्मी योजना का लाभ अब तक 37 लाख से ज्यादा लड़कियों को मिल चुका है।


मध्य प्रदेश इस योजना को शुरू करने वाला देश का पहला राज्य था। अब देश के अन्य राज्यों ने भी योजना का अनुकरण किया है। बालिकाओं के समग्र विकास एवं बाल विवाह जैसी कुप्रथा की रोकथाम के लिए लाडो अभियान चलाया गया है। महिला एवं बच्चों की सुरक्षा के लिए ह्यमहिला हेल्पलाइन 181 (इंटीग्रेटेड) एवं ह्यचाइल्ड हेल्पलाइन 1098 प्रारंभ की गई है। अपराधों में 15 से 50% की कमी आई: शिवराज ने कहा कि गत आठ माह में अपराधियों के विरूद्ध की गई सख्त कार्रवाई का परिणाम है कि विभिन्न तरह के अपराधों में 15 से 50% की कमी आई है। प्रदेश में बलात्कार के प्रकरणों में 19%, भ्रूण हत्या में 20%, छेड़छाड़ और महिला की आन से संबंधित अपराधों में 14% की कमी दर्ज की गई है।


वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति