घाटी में बड़ी साजिश नाकाम: जम्मू टोल प्लाजा पर सेना ने आतंकियों से भरे ट्रक को उड़ाया, भारी मात्रा में हथियार बरामद



श्रीनगर। सुरक्षाबलों ने जम्मू-कश्मीर में बड़ी कामयाबी हासिल की है। गुरुवार सुबह जम्मू के नगरोटा में चार आतंकियों का मार गिराया। चारों आतंकी गोला-बारूद और हथियार लेकर जम्मू से श्रीनगर जा रहे थे। घटना तड़के 4.50 बजे की है। सुरक्षाबलों ने नगरोटा स्थित बन टोल प्लाजा पर एक ट्रक को रोका और जांच शुरू की। इसी दौरान ड्राइवर ट्रक से छलांग लगाकर भाग खड़ा हुआ। इसके बाद जवानों ने और जांच-पड़ताल शुरू की तो ट्रक के भीतर से फायरिंग होने लगी। करीब दो घंटे के एनकाउंटर के बाद सुरक्षा बलों ने ट्रक को ही उड़ा दिया। ट्रक चावल की बोरियों से भरा था और उसके भीतर आतंकी बैठे थे। मुठभेड़ के बाद ट्रक से 4 आतंकियों के शव निकले


इसके साथ ही 11 एके-47 राइफल, 3 पिस्टल, 29 ग्रेनेड, 6 यूबीजीएल ग्रेनेड, मोबाइल फोन, कंपास, पिट्ठू बैग बरामद किए गए हैं। जम्मू जोन के आईजी मुकेश सिंह ने कहा- बड़े हमले की फिराक में थे आतंकी: एनकाउंटर में लोकल आर्मी यूनिट ने सपोर्ट किया। आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर ग्रेनेड्स फेंके। 2 पुलिस कॉन्स्टेबल जख्मी हुए, ये खतरे से बाहर हैं। चारों आतंकी मारे गए। उनकी पहचान नहीं हो पाई है। लगता है कि आतंकी ने किसी बड़े मंसूबे को अंजाम देने की फिराक में थे। इस आॅपरेशन से इस घुसपैठ में कमी आने की उम्मीद है। आतंकी ट्रक में चावल के बोरों के बीच बैठे हुए थे, ताकि किसी को शक न हो।


आतंकी जैश-ए-मोहम्मद के हो सकते हैं, लेकिन तफ्तीश के बाद ही इस बारे में साफ हो पाएगा। दिल्ली में जो आतंकी पकड़े गए हैं उनसे कोई लिंक है या नहीं, इस पर टिप्पणी नहीं कर पाएंगे। अभी यह भी कहना मुश्किल है कि ये पाकिस्तानी थे या नहीं। जिस तरह इनके पास से हथियार बरामद हुए हैं, उससे लगता है कि ये बड़े आतंकी थे। सांबा सेक्टर से भारत में दाखिल हुए थे: जम्मू-कश्मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह के मुताबिक, जैश के चारों आतंकियों ने बुधवार रात सांबा में अंतरराष्ट्रीय सीमा से घुसपैठ की थी। वे जम्मू-श्रीनगर नेशनल हाईवे पर एक ट्रक में जा रहे थे, पुलिस ने नगरोटा के पास टोल प्लाजा पर उन्हें रोका। इसके बाद आतंकियों ने हमला कर दिया।


इस साल जम्मू-श्रीनगर नेशनल हाईवे पर यह दूसरा एनकाउंटर है। सुरक्षाबलों ने जनवरी में 3 आतंकियों को मार गिराया था। वे भी इसी तरह एक ट्रक के अंदर छिपे हुए थे। आईजी विजय कुमार ने बताया कि जम्मू पुलिस के पास जानकारी थी कि आतंकी कश्मीर घाटी जा रहे थे। इन्हें श्रीनगर पहुंचने से पहले ही मार गिराया गया। आतंकियों की जम्मू-कश्मीर में होने वाले निकाय चुनावों में बाधा डालने की साजिश थी। तीन दिन पहले दिल्ली में जैश के 2 आतंकी पकड़े गए थे: दिल्ली में पुलिस की स्पेशल सेल ने सोमवार रात दो आतंकियों को गिरफ्तार किया था। दोनों के पास से कुछ अहम दस्तावेज और विस्फोटक बरामद किया गया।


गिरफ्तार किए गए दोनों आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े हुए हैं। ये जम्मू-कश्मीर के बारामूला और कुपवाड़ा के रहने वाले हैं। वॉट्सऐप ग्रुप पर पाकिस्तान से बात होती थी। गिरफ्तार आतंकियों के नाम अब्दुल लतीफ मीर और अशरफ खटाना हैं। एक आतंकी बारामूला, जबकि दूसरा कुपवाड़ा का रहने वाला है। इनके निशाने पर राष्ट्रीय राजधानी के महत्वपूर्ण स्थल और श्कढ थे। अगस्त में भी दिल्ली पुलिस ने कर के एक आतंकी को गिरफ्तार किया था। इसके पास से कएऊ डिवाइस बरामद की गई थी। 1 नवंबर को हिजबुल का टॉप कमांडर सैफुल्ला मारा गया था: इस महीने की पहली तारीख को सीआरपीएफ और पुलिस ने श्रीनगर में हिजबुल के टॉप कमांडर सैफुल्ला को ढेर कर दिया था। उसका साथी गिरफ्तार किया गया था। मौके से एक एके-47 राइफल और पिस्टल बरामद की गई थी। मौजूदा वक्त में कश्मीर में एक्टिव आतंकवादियों में सैफुल्ला मोस्टवॉन्टेड था।


वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति