कमलनाथ सरकार में कैबिनेट मंत्री तोमर ने 45 डिग्री के तापमान में त्यागे जूते-चप्पल, जनता की कठिनाई दूर करने घूम रहे हैं नंगे पैर



ग्वालियर। कमलनाथ की सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे प्रद्युम्न सिंह तोमर ने 45 डिग्री तापमान के बीच अपने पैरों से चप्पल-जूते का त्याग कर दिए हैं। बताया जा रहा है कि इसके पीछे की वजह जनता की कठिनाई को दूर करने के लिए लिया गया उनका संकल्प है। प्रद्युम्न सिंह तोमर का कहना है कि शिवराज मंत्रिमंडल विस्तार के दौरान भी नंगे पैर मंच पर शपथ लेने जाएंगे। इससे पहले करीब 22 साल पहले भाजपा नेता जयभान सिंह पवैया भी जूते-चप्पल त्याग चुके हैं


प्रद्युम्न सिंह तोमर ने पिछले विधानसभा चुनाव में पवैया को शिकस्त दी थी। जानकारी के अनुसार इस समय प्रद्युम्न सिंह तोमर के विधानसभा क्षेत्र में पेयजल की गंभीर समस्या है। तीन दिन पहले जब क्षेत्र के लोग उनके पास पहुंचे और अपनी समस्या बताई तो वे नंगे पैर ही अधिकारियों से मिलने पहुंच गए। उन्होंने कहा कि जब तक पेयजल की समस्या खत्म नहीं हो जाती वे जूते-चप्पल नहीं पहनेंगे। पेयजल की समस्या तो दो दिन में खत्म हो गई।


इसके बाद उन्होंने क्षेत्र में अन्य समस्याओं को लेकर भी यही रुख अपना लिया है। नालों और शौचालय की सफाई करते भी आ चुके हैं नजर: प्रद्युम्न सिंह तोमर नंगे पैर ही लोगों के बीच जा रहे हैं, उनकी समस्याओं को सुन रहे हैं और हल कराने का प्रयास भी कर रहे हैं। आने वाले महीनों में उन्हें ग्वालियर से उपचुनाव भी लड़ना है और वे इस दौरान नंगे पैर ही लोगों से मिलजुल रहे हैं। प्रद्युम्न सिंह तोमर अपने अलग अंदाज के लिए जाने ही जाते हैं।


जनता के बीच कभी नालों की सफाई करती हुई तस्वीर की बात हो या सड़क और शौचालयों को साफ करना रहा हो, प्रद्युम्न सिंह तोमर यह सब करते हुए पहले भी देखे गए हैं। इस बार उन्होंने संकल्प लिया है कि जब तक उनके क्षेत्रवासियों की समस्याओं का निदान नहीं हो जाता, वह नंगे पैर रहेंगे। अब शिवराज सरकार के मंत्रिमंडल में सिंधिया खेमे की ओर से मंत्री बनने की लिस्ट में प्रद्युम्न सिंह तोमर का नाम भी चल रहा है।


ऐसे में शिवराज मंत्रिमंडल के विस्तार में प्रद्युम्न सिंह तोमर नंगे पैर ही राजभवन पहुंचेंगे, ऐसा उनका कहना है। उन्होंने कहा कि जो भी दायित्व मिलेगा, वह उसे पूरी निष्ठा के साथ निभाएंगे। इससे पहले जयभान सिंह पवैया ने भी त्यागे थे जूते-चप्पल: उल्लेखनीय है कि पिछले विधानसभा चुनाव में प्रद्युम्न सिंह तोमर ने भाजपा के दिग्गज नेता जयभान सिंह पवैया को शिकस्त दी थी। जयभान सिंह पवैया ने भी करीब 22 साल पहले ऐसे ही जूते-चप्पल त्याग दिए थे। पवैया उस समय हर दिन पांच लोगों के यहां नंगे पैर जाकर जनसंपर्क करते थे। इस बार पवैया उपचुनाव में प्रद्युम्न सिंह तोमर का प्रचार करते भी नजर आएंगे।


वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति