ग्वालियर में जेएएच अस्पताल के आईसीयू में लगी आग, कोरोना के भर्ती 9 मरीजों में से 2 लोग झुलसे, वेंटीलेटर जलकर खाक



ग्वालियर। जेएएच के कोविड अस्पताल सुपर स्पेशियलिटी के चौथी मंजिल पर आईसीयू में शनिवार दोपहर अचानक आग लग गई। चंद मिनट में आग तेजी से फैली। उस समय वहां 9 मरीज भर्ती थे। सबसे पहले उन्हें सुरक्षित निकालना शुरू किया गया। हादसे में दो मरीज झुलस गए हैं। घटना के बाद से दहशत का माहौल है


एक वेंटीलेटर पूरी तरह जल गया है। अस्पताल में मौजूद कर्मचारियों ने फायर उपकरण का उपयोग कर आग को बुझाया। दमकल दस्ता भी मौके पर पहुंच गया है। जेएएच परिसर स्थित सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में गंभीर रूप से संक्रमित कोरोना मरीजों का उपचार किया जाता है।


शनिवार दोपहर करीब 2 बजे अचानक तीसरी मंजिल पर आईसीयू वार्ड में फॉल सिलिंग से आग की लपटें निकलने लगीं। चंद सेकंड में आग वेंटीलेटर तक पहुंच गई।


उस समय वहां मौजूद स्टाफ ने आग पर काबू करने के से ज्यादा महत्व वहां 9 भर्ती मरीजों को बाहर निकालने पर दिया, पर जब तक वह उन्हें बाहर निकाल पाते, दो मरीज मामूली रूप से झुलस गए हैं। एक वेंटीलेटर पूरी तरह जल गया है। अस्पताल में ही लगे फायर उपकरण से आग पर काबू पाया। फायर ब्रिगेड भी मौके पर पहुंची है।


शॉर्ट सर्किट से लगी आग: दमकल दस्ते के प्रभारी देवेन्द्र जघानिया ने बताया कि अभी जो जांच हुई है उसके मुताबिक शॉर्ट सर्किट से आग लगना समझ में आ रहा है। आईसीयू में धुंआ भरने से अन्य मरीजों को नुकसान पहुंच सकता है। दहशत में रहे मरीज के परिजन: जिस आईसीयू में आग लगी है, उसमें 54 मरीज भर्ती होते हैं, पर घटना के समय सिर्फ 9 मरीज ही थे। सभी वेंटीलेटर पर थे, आॅक्सीजन लगी हुई थी। घटना के बाद वह सभी दहशत में हैं। हालांकि सभी सुरक्षित हैं। कोविड अस्पताल में आग के बाद बाहर मरीजों परिजन भी पहुंच गए हैं। वह भी मरीजों को लेकर चिंतित हैं।


वेब खबर

वेब खबर



प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति