भोपालमध्यप्रदेश

MP में CM की कुर्सी को लेकर कशमकश तेज: कैलाश बोले- चेहरे को लेकर इस दिन खत्म हो जाएगा संस्पेस

भोपाल। मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा ने ऐतिहासिक जीत दर्ज की है। खास बात यह है कि नतीजों के पांच दिन बाद भी पार्टी मुख्यमंत्री तय नहीं कर पाई है। मुख्यमंत्री की रेस में शामिल नेता भोपाल से लेकर दिल्ली तक दौड़ लगा रहे हैं। इन सबके बीच सीएम के नाम को लेकर भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय का बड़ा बयान सामने आया है। दरअसल उन्होंने कहा है मुख्यमंत्री के चेहरे को लेकर सस्पेंस रविवार को खत्म हो जाएगा।

गौरतलब है कि विजयवर्गीय गुरुवार को भोपाल पहुंचे थे। उन्होंने निजी अस्पताल में भर्ती भाजपा कार्यकर्ता देवेंद्र सिंह ठाकुर से मुलाकात की और उसका हालचाल जाना। जब वह अस्पताल से बाहर निकले तो वहां पहले से खड़े मीडिया कर्मियों ने उनसे सवाल किया कि पार्टी अब तक मप्र के लिए मुख्यमंत्री तय नहीं कर पाई है। तब उन्होंने जवाब देते हुए कहा कि सीएम फेस को लेकर चल रहे कयासों का दौर रविवार तक खत्म हो जाएगा।

सीएम की रेस में एक दर्जन नाम
सीएम पद की रेस में शामिल अपने नाम को लेकर कैलाश विजयवर्गी ने कहा कि सीएम पद की रेस में एक दर्जन नाम चल रहे हैं। मेरा नाम चलाने के लिए आप सभी का धन्यवाद. वहीं लाडली बहन योजना के चलते मध्य प्रदेश में जीत के प्रश्न पर उन्होंने कहा कि तीनों राज्यों में मोदी मैजिक चला। सारी योजनाओं का जादू चला। उन्होंने कहा कि आयुष्मान कार्ड भी चला और अन्य योजनाएं भी चली। विधानसभा चुनाव में योजनाओं का गुलदस्ता चला, जिसमें लाडली बहन योजना भी शामिल है।

शीर्ष नेतृत्व की प्लानिंग से मिली जीत
विजयवर्गीय ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी का नेतृत्व, अमित शाह की रणनीति और जेपी नड्डा जी की पोलिंग बूथ की प्लानिंग से जीत मिली है। कैलाश विजयवर्गीय के बयान का तात्पर्य निकाला जा रहा है कि मध्य प्रदेश के चुनाव में लाडली बहन का कोई इफेक्ट नहीं है। वे सीधे तौर पर अमित शाह, पीएम मोदी की उपस्थिति के साथ केंद्रीय योजनाओं और अमित शाह की प्लानिंग को जीत का क्रेडिट दे रहे हैं। जबकि शिवराज सिंह चौहान लगातार मध्य प्रदेश में हुई जीत को गेम चेंजर योजना लाडली बहन योजना से जोड़ रहे हैं।

Web Khabar

वेब खबर

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button