Life Styleहेल्थ

सही मात्रा में बादाम खाने से होगा वेट लॉस, अब मोटापे से लोगों को आसानी से मिल सकेगी राहत!

शोधकर्ताओं ने एक स्टडी में दावा किया है कि हर दिन बादाम खाने से वजन को कंट्रोल किया जा सकता है। इस रिसर्च ने वेट लॉस की कोशिश कर रहे लोगों के लिए एक नई उम्मीद जगा दी है।

हेल्थ डेस्क : मोटापे को हर बड़ी और गंभीर बीमारी की जड़ माना जाता है। इंसान को फिट रहने के लिए अपना वजन कंट्रोल में रखना चाहिए। मोटापा अपने साथ कई बीमारियां लेकर आता है। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) के मुताबिक विश्व में करीब 100 करोड़ लोग इस मोटापे की समस्या से जूझ रहे हैं। यही वजह है कि बड़ी संख्या में लोग वजन घटाने के लिए विभिन्न तरीके अपना रहे हैं। अब यूनिवर्सिटी ऑफ साउथ ऑस्ट्रेलिया के शोधकर्ताओं ने एक स्टडी में दावा किया है कि हर दिन बादाम खाने से वजन को कंट्रोल किया जा सकता है। इस रिसर्च ने वेट लॉस की कोशिश कर रहे लोगों के लिए एक नई उम्मीद जगा दी है। आइए इस बारे में विस्तार से जान लीजिए।

 

 

नई स्टडी में हुआ चौंकाने वाला खुलासा

एक रिपोर्ट के मुताबिक नई स्टडी में यह खुलासा हुआ है कि 30 से 50 ग्राम बादाम को स्नैक्स की तरह खाने से हर दिन कैलोरी काउंट को 300 किलो जूल्स तक कम किया जा सकता है। इससे लोगों को वजन कंट्रोल करने में आसानी होती है। आमतौर पर लोग इसकी जगह जंक फूड लेते हैं, जिससे शरीर में कैलोरी की मात्रा बढ़ जाती है। ऐसे में बादाम खाने से वेट को मैनेज किया जा सकता है और ऐपेटाइट को कंट्रोल किया जा सकता है। शोधकर्ताओं का कहना है कि बादाम से हमारे शरीर के हार्मोनल रिस्पांस को बेहतर बनाया जा सकता है। जिससे ऐपेटाइट यानी भूख कंट्रोल रहेगी और लोगों को वेट मैनेजमेंट में काफी मदद मिलेगी।

 

 

कम होगा डायबिटीज का खतरा

शोधकर्ताओं का कहना है कि बादाम खाने से इन्सुलिन सेंसटिविटी इंप्रूव होती हैं और इससे डायबिटीज का खतरा कम हो जाता है। बादाम में मौजूद तत्व ब्लड शुगर बढ़ाने वाले केमिकल्स का लेवल कम कर देते हैं। जिससे शुगर की बीमारी से बचाव हो सकता है। बादाम का सेवन करने से कार्डियोवैस्कुलर डिजीज का जोखिम कम करने में भी मदद मिल सकती है। शोधकर्ताओं का कहना है कि अगर बादाम के सेवन के साथ लाइफस्टाइल में जरूरी बदलाव किए जाएं, तो अपनी हेल्थ को काफी हद तक बेहतर बनाया जा सकता है।

वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन (WHO) की रिपोर्ट के मुताबिक इस वक्त दुनिया में 100 करोड़ से ज्यादा लोग मोटापे की चपेट में हैं। जिनमें से 65 करोड़ व्यस्क, 34 करोड़ किशोर और 4 करोड़ बच्चे हैं। यह समस्या लगातार बढ़ती जा रही है। WHO ने आशंका जताई है कि साल 2025 तक विश्व में 16.7 करोड़ व्यस्क और बच्चों की हेल्थ मोटापे के कारण बुरी तरह प्रभावित हो जाएगी। हालांकि इससे बचाव करना संभव है। मोटापा एक बीमारी है, जो हार्ट, लिवर, किडनी और रिप्रोडक्टिव सिस्टम समेत पूरे शरीर को प्रभावित करती है।

 

अंजलि

2009 से लगातार जारी समाचार पोर्टल webkhabar.com अपनी विशिष्ट तथ्यात्मक खबरों और विश्लेषण के लिए अपने पाठकों के बीच जाना जाता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button