विदेश

कोविड  के बीस करोड़ से ज्यादा होने जा रहे हैं मामले 

संयुक्त राष्ट्र ।   विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) (World Health Organisation) (WHO) के मुताबिक कोविड-19 (Covid-19) का बेहद संक्रामक डेल्टा स्वरूप (Delta Variant) अब 135 देशों में सामने आ चुका है और अगले हफ्ते तक कोरोना वायरस (Corona Virus Infection) संक्रमण के कुल वैश्विक मामले 20 करोड़ के पार चले जाएंगे।

डब्ल्यूएचओ द्वारा तीन अगस्त को जारी कोविड-19 वैश्विक महामारी विज्ञान अपडेट (Covid-19 Pandemic Science update) में बताया गया कि 132 देशों में बीटा स्वरूप और 81 देशों में गामा स्वरूप सामने आया है। इसमें बताया कि अल्फा स्वरूप 182 देशों, क्षेत्रों या इलाकों में मिला है जबकि पहली बार भारत (India) में मिले डेल्टा स्वरूप के मामले अब 135 देशों में सामने आ चुके हैं।

अपडेट में बताया गया कि नये मामलों की वैश्विक संख्या को बढ़ते हुए एक महीने से ज्यादा वक्त हो गया है जिसमें पिछले हफ्ते यानी 26 जुलाई से एक अगस्त तक 40 लाख से मामले सामने आए हैं।

इसने कहा, ‘‘मामलों में यह बढ़ोत्तरी पूर्वी भूमध्य क्षेत्र एवं पश्चिमी प्रशांत क्षेत्रों में काफी वृद्धि होने के कारण देखी जा रही है जहां पिछले हफ्ते की तुलना में क्रमश: 37 प्रतिशत और 33 प्रतिशत बढ़ोत्तरी देखी गई है जबकि दक्षिण-पूर्व एशियाई क्षेत्र में मामले नौ प्रतिशत तक बढ़े हैं।”

कुल मिलाकर, इस हफ्ते दुनिया भर में कोविड-19 से 64 हजार मौत हुई जो पिछले हफ्ते की तुलना में आठ प्रतिशत कम है।

हालांकि, पश्चिम प्रशांत एवं पूर्वी भूमध्य क्षेत्रों में पिछले हफ्ते की तुलना में मौत के नये मामलों में क्रमश: 48 प्रतिशत और 31 प्रतिशत की कमी आई है।

अपडेट में बताया गया कि दुनिया भर से सामने आए संक्रमण के कुल मामले अब 19.7 करोड़ पर पहुंच गए हैं और मौत के मामले 42 लाख के करीब पहुंच गए हैं। “अगर यही प्रवृत्ति रहती है तो अगले हफ्ते तक दुनिया भर में संक्रमण के मामले 20 करोड़ के पार चले जाएंगे।”

देशवार, पिछले हफ्ते नये मामले सबसे ज्यादा अमेरिका (USA) में (5,43,420 नये मामले, नौ प्रतिशत ज्यादा) सामने आए। इसके बाद भारत में (2,83,923 नय मामले, सात प्रतिशत वृद्धि), इंडोनेशिया (Indonesia) में (2,73,891 नये मामले, पांच प्रतिशत घटे), ब्राजील (Brazil) (2,47,830 नये मामले, 24 प्रतिशत घटे) और ईरान (Iran) में (2,06,722 नये मामले, 27 प्रतिशत वृद्धि) सामने आए।

दक्षिण पूर्व एशिया क्षेत्र में पिछले हफ्ते की तुलना में नये मामले नौ प्रतिशत बढ़े हैं (करीब 8,41,000 मामले) जबकि मौत के साप्ताहिक मामले पिछले हफ्ते जितने (22,000 मौतें) ही रहे।

क्षेत्र में सबसे अधिक नये मामले भारत से (2,83,923 नये मामले, प्रति एक लाख 20.6 नये मामले, सात प्रतिशत वृद्धि), इंडोनेशिया (2,73,891 नये मामले, प्रति एक लाख 100.1 नये मामले, पांच प्रतिशत घटे) और थाईलैंड (1,18, 012 नये मामले, प्रति एक लाख 169.1 नये मामले, 26 प्रतिशत वृद्धि) से सामने आए हैं।

इस क्षेत्र से सामने आए 80 प्रतिशत मामले भारत, इंडोनेशिया और थाईलैंड से हैं।

चीन में फिर से ‘बंद’ की रणनीति
चीन में कोरोना वायरस के डेल्टा स्वरूप का प्रकोप बढ़ता दिख रहा है जिसके चलते नेताओं को शहरों को बंद करने की रणनीति फिर से अपनानी पड़ रही है।

कोरोना वायरस के अत्यधिक संक्रामक डेल्टा स्वरूप के मामले बढ़ने के कारण अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और दुनिया की अन्य जगहों पर पाबंदियों को फिर से लगाया जा रहा है। राष्ट्रपति शी चिनफिंग की सरकार पिछले साल वुहान में कोरोना वायरस के मामले चरम पर पहुंचने के बाद वायरस के अब तक के सबसे गंभीर प्रकोप से जूझ रही है। सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी चीन में ‘बंद’ की रणनीति को फिर से अपना रही है। 15 लाख की आबादी वाले शहर में आवाजाही को बंद कर दिया गया है, उड़ानों को रद्द कर दिया गया और कुछ इलाकों में बड़े पैमाने पर जांच के आदेश दिए गए हैं।

हर संक्रमित व्यक्ति को अलग करने की नीति और विदेश से संक्रमण के नए मामलों को आने से रोकने की कोशिश कर चीन को पिछले साल महामारी पर काबू पाने में काफी मदद मिली थी जिससे वह काफी हद तक संक्रमण मुक्त हुआ था।

वुहान में संक्रमण फैलने के दौरान चर्चा में आए शंघाई के डॉक्टर झांग वेनहोंग ने सोशल मीडिया पोस्ट में कहा कि संक्रमण के मामले फिर से फैल रहे हैं और वायरस से मुक्ति नहीं मिल पा रही है अत: चीन की रणनीति बदल सकती है। उन्होंने कहा, ‘‘दुनिया को इस वायरस के साथ रहना सीखना होगा।’’

Web Khabar

वेब खबर

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button