ताज़ा ख़बर

राहुल की भारत जोड़ो यात्रा से पहले फूटा बम, गहलोत ने कहा – सचिन पायलट गद्दार 

अगले चुनाव में कांग्रेस की सरकार बनाने के लिए जान लगाने के लिए तैयार हूँ, लेकिन पार्टी से गद्दारी करने वाले जिस नेता के पास 10 विधायक नहीं हो पार्टी उसे कैसे सीएम बना सकती है।

जयपुर – राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा कुछ ही दिनों में राजस्थान में प्रवेश करने जा रही है। लेकिन यात्रा के राजस्थान प्रवेश से पहले कांग्रेस में बगावत नजर आने लगी है। दरअसल राजस्थान के सीएम अशोक गहलोत ने एक निजी टीवी चैनल को इंटरव्यू दिया जिसमें अशोक गहलोत ने साफ कहा कि पायलेट ने गद्दारी की थी, जिसके साथ 10 विधायक नहीं है वो सीएम कैसे बन सकता है। अशोक गहलोत ने कहा कि सचिन पायलट ने राजस्थान में सरकार को गिराने की कोशिश की। इस कोशिश में अमित शाह और धर्मेंद्र प्रधान भी सचिन पायलेट के साथ थे। पायलट के कारण हमें 34 दिनों तक होटल में रहना पड़ा था। दस दस करोड़ रुपये भी बांटे गए थे। जिस नेता ने सरकार गिराने की कोशिश की वह नेता मुख्यमंत्री कैसे बन सकता है। मैं राजस्थान का तीन बार का मुख्यमंत्री रह चुका है। मुझे मुख्यमंत्री बनन की कोई अभिलाषा नही है। मैं तो अगले चुनाव में कांग्रेस की सरकार बनाने के लिए जान लगाने के लिए तैयार हूँ, लेकिन पार्टी से गद्दारी करने वाले जिस नेता के पास 10 विधायक नहीं हो पार्टी उसे कैसे सीएम बना सकती है।

 

मैं पास सबूत है, सचिन डिनाय नहीं कर सकता है

टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में अशोक गहलोत ने साफ कहा कि मेरे पार से सचिन की बगावत करने के सबूत है। खुद सचिन भी डिनाय नहीं कर सकता है। गहलोत ने कहा कि आज तो मैं ही सीएम हूँ। मुझे हाईकमान की ओर से ऐसा कोई इंडिकेशन नहीं है। मैं तो राजस्थान में कांग्रेस की सरकार बनाना चाहता हूं। जब मेरा नाम कांग्रेस अध्यक्ष के लिए चल रहा था तब सचिन ऐसे विहेव कर रहा था जैसे कि वो मुख्यमंत्री बनने वाला हो। विधायक दल की बैठक के बाद उसे मुख्यमंत्री बना दिया जाएगा। सचिन ने कुछ लोगों से कहा था कि पर्यवेक्षक आने वाले हैं। उनसे यह कहना। इसके साथ ही अशोक गहलोत ने कहा कि दो महीने पहले 25 सितंबर को पायलट को सीएम बनाने के फैसले के विरोध में नब्बे से ज्यादा विधायकों ने इस्तीफा दिया था। ऐसा पहली हुआ था विधायक हाईकमान के फैसले का विरोध कर रहे हो। आमतौर पर हाईकमान के इशारे पर ही विधायक अपना फैसला लेते है। लेकिन यहां तो हाईकमान के खिलाफ ही विधायक खड़े हो गए थे।

 

पायलट ने किया था मुझे फोन – गहलोत

सचिन पायलट के साथ झगड़े के सवाल पर सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि जब 2009 में लोकसभा चुनाव में राजस्थान से 20 सांसद कांग्रेस के जीते तो मुझे दिल्ली बुलाया गया था। जब वर्किंग कमेटी की बैठक हुई तो राजस्थान से मंत्री बनाने के बारे में मेरी राय मांगी गई थी। इस बात की सचिन पायलट को जानकारी है, मैंने पायलट को केंद्र में मंत्री बनाने की सिफारिश की थी। उस समय वसुंधरा राजे की सरकार में 70 गुर्जर मारे गए थे, य​हां गुर्जर-मीणाओं में झगड़ा था।इससे गुर्जर-मीणा का झगड़ा खत्म होगा। बाद में मेरे पास सचिन पायलट का फोन आया था कि मेरी सिफारिश कीजिए, जबकि मैं तो पहले ही सिफारिश कर चुका था। जिस आदमी के दिल में प्यार होगा, तभी तो वह नौजवान की सिफारिश करेगा।

 

WebKhabar

2009 से लगातार जारी समाचार पोर्टल webkhabar.com अपनी विशिष्ट तथ्यात्मक खबरों और विश्लेषण के लिए अपने पाठकों के बीच जाना जाता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button