होम हत्या
murder-in-sand-probe-begins-killing-young-man-who-

मूर्तियों का व्यापार करने वाले युवक की हत्या कर रेत में गाड़ा शव, जांच शुरू

खून के धब्बे को देखते हुए आगे चलने पर वहां से 200 मीटर की दूरी पर नीचे स्वर्गद्वारी में रेत का टीला था। टीला देखने पर संदेह हुआ और उसकी खुदाई कराई गई, जिसके अंदर से ऋषभ का शव मिला। मृतक के नाक, माथे और सिर में चोट के निशान हैं। जांच में पता चला कि ऋषभ पर ठोस चीज से हमला किया गया है। शव के पास रेत के ऊपर द एंड लिखा हुआ था। पुलिस ने मामला संदिग्ध मानते हुए शव को पीएम के लिए भिजवा दिया है. आरोपितों की तलाश के लिए एसपी अमित सिंह ने एएसपी ग्रामीण डॉ राय सिंह नरवरिया और बरगी सीएसपी रवि चौहान के निर्देशन में भेड़ाघाट टीआई शशि विश्वकर्मा और स्टाफ की टीम गठित की है।  आगे पढ़ें

murder-in-sand-probe-begins-killing-young-man-who-

मूर्तियों का व्यापार करने वाले युवक की हत्या कर रेत में गाड़ा शव, जांच शुरू

भेड़ाघाट पंचवटी में मूर्तियों का व्यापार करने वाले एक युवक की हत्या कर उसका शव स्वर्गद्वारी के पास रेत में गड़ा दिया गया। युवक की तलाश करते हुए उसके परिजन स्वर्गद्वारी के जंगल पहुंचे, जहां उसकी बाइक, चप्पल मिली और कुछ ही दूर पर खून के धब्बे मिले। पुलिस ने शव को पीएम के लिए भिजवाते हुए मर्ग जांच शुरू कर दी है। मृतक भेड़ाघाट युवा मोर्चा का महामंत्री था। भेडाघाट टीआई शशि विश्वकर्मा ने बताया कि शुक्रवार दोपहर सूचना मिली कि पंचवटी निवासी ऋषभ जैन 27 पंचवटी में मूर्ति की दुकान चलाता था। 13 जून की रात लगभग 10.30 बजे घर से निकला था, लेकिन फिर वह घर नहीं आया। सूचना पर गुम इंसान का मामला दर्ज कर उसकी तलाश शुरू की गई। जांच के दौरान मृतक ऋषभ की बाइक स्वर्गद्वारी के पास जंगल में चट्टान के पास छुपी हुई मिली। वहीं कुछ दूर पर एक चप्पल पड़ी थी और वहीं पास में खून के धब्बे दिख रहे थे।  आगे पढ़ें

darinde-ka-khulasa-kaha-pahale-masum-ka-munh-dabak

दरिंदे का खुलासा, कहा- पहले मासूम का मुंह दबाकर की हत्या, फिर हाथ बांध कर किया दुष्कर्म

भोपाल में बच्ची के साथ हुए दुष्कर्म और हत्या की घटना को लेकर राज्य शासन ने पीड़ित परिवार को पांच लाख रुपए की आर्थिक सहायता देने का एलान किया है। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने विधायक पद की शपथ लेने के बाद पत्रकारों से चर्चा में भोपाल की घटना में पीड़ित परिवार के लिए इस राशि का एलान किया। दूसरी तरफ जनसंपर्क मंत्री पीसी शर्मा ने विधानसभा में पत्रकारों से चर्चा के दौरान कहा कि उज्जैन की घटना के पीड़ित परिवार को भी इतनी ही आर्थिक सहायता दी जाएगी। मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि पुलिस को निर्देश दिए गए हैं कि 48 घंटे में प्रकरण में चालान पेश कर दिया जाए। साथ ही यह कोशिश की जाए कि आरोपितों को 30 दिन के भीतर अदालत से अपराध की सजा भी हो जाए।  आगे पढ़ें

lapata-bachchi-ka-nale-mein-mila-shav-dushkarm-ke-

लापता बच्ची का नाले में मिला शव, दुष्कर्म के बाद हत्या की आशंका, फॉरेंसिक टीम पहुंची मौके पर

बच्ची के रिश्तेदारों का कहना है कि वह रात 8 बजे के करीब घर से कुछ दूर एक दुकान पर सामान लेने गई थी। इसके बाद वापस वापस नहीं लौटी। फिर उसकी खोज शुरू हुई, लेकिन जब आस-पास में वह नहीं मिली तो 9 बजे उसके माता-पिता पुलिस के पास पहुंचे। पुलिस ने इसकी रिपोर्ट लिखने से मना कर दिया और कहा कि वह पास में ही कहीं खेल रही होगी। परिजनों का आरोप है कि पुलिसकर्मियों ने यह भी कहा कि वह किसी के साथ भाग गई होगी। इसके बाद वे वापस लौट आए और फिर रातभर आस-पास के इलाकों में उसे तलाशते रहे।  आगे पढ़ें

dhai-sal-kee-bachchi-ke-hatyare-par-lag-chuka-hai-

ढाई साल की बच्ची के हत्यारे पर लग चुका है अपनी बेटी से रेप का आरोप

यूपी में अलीगढ़ के टप्पल में हुई ढाई साल की बच्ची की जघन्य हत्या को लेकर चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। पुलिस के मुताबिक, मामले में दो आरोपियों, जाहिद और असलम को गिरफ्तार किया गया है। असलम पर अपनी बेटी से रेप का आरोप लग चुका है। यही कारण है कि अब असलम की बीवी उसे छोड़कर जा चुकी है। बता दें, 5000 रुपए का कर्ज नहीं लौटाने पर आरोपियों ने बच्ची के साथ ऐसी वहशियाना हरकत की है। दुष्कर्म और हत्या के बाद आरोपियों ने शव पहले अपने घर में रखा और फिर कचरे में फेंक दिया, जहां भीषण गर्मी के कारण वह सड़ गया। बच्ची का एक हाथ भी शरीर से अलग मिला।  आगे पढ़ें

aligadh-mein-bachchi-ki-hatya-se-desh-bhar-mein-ph

अलीगढ़ में बच्ची की हत्या से देश भर में फूटा गुस्सा, मां ने कहा- दोषी को मिले मौत की सजा

उत्तर प्रदेश सरकार ने बच्ची की हत्या के दो आरोपियों के खिलाफ राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) के तहत मामला दर्ज कर मामले को फास्ट ट्रैक कोर्ट में स्थानांतरित करवाने का फैसला किया है। सरकार के एक प्रवक्ता ने कहा कि यह निर्णय योगी आदित्यनाथ की सरकार द्वारा लिया गया है। लड़की की हत्या के आरोप में दो व्यक्तियों- जाहिद और असलम को गिरफ्तार किया गया है। जाहिद ने कथित रूप से लड़की को मार डाला, जबकि अन्य आरोपियों ने अपराध करने में उसकी मदद की।  आगे पढ़ें

bamboo-bally-the-body-of-the-woman-taken-from-the-

बांस-बल्ली के सहारे महिला के शव को चीरघर से ले गए परिजन

ग्रामीण क्षेत्रों में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाओं की डींग हाकने वाली सरकार का सच एक बार पुन: तब उजागर हुआ जब सीधी जिले के कुसमी ब्लाक अंतर्गत कोडर गांव में एक महिला ने आत्महत्या कर ली। कोडर निवासी आनंद बहादुर सिंह की 25 वर्षीया पत्नी प्रमिला सिंह नाम की महिला की मौत के बाद शव को ले जाने के लिए एक वाहन तक उपलब्ध नहीं हो सका जिसके कारण परिजनों को शव बांस बल्ली के सहारे पोस्टमार्टम के लिए चीरघर तक फिर चीर घर से दाह संस्कार के लिए ले जाना पड़ा।  आगे पढ़ें

what-will-happen-if-you-make-yourself-a-tragedy-qu

खुद को ट्रेजडी क्वीन बनाने से क्या होगा.....

क्या भोपाल से भाजपा की लोकसभा प्रत्याशी साध्वी प्रज्ञा ठाकुर भी इस महिला की ही तरह गलती कर रही हैं? इस सवाल को अन्यथा न लें। इसका आशय मुद्दे की बात को जज्बातों का जामा पहनानकर उसका मूल स्वरूप खराब कर देने जैसी गलती का है। मीडिया में प्रज्ञा के इंटरव्यू चल रहे हैं। इनमें मालेगांव कांड में गिरफ्तारी के बाद किया गया अमानवीय टॉर्चर, संघ प्रचारक सुनील जोशी हत्याकांड के चलते सहे गये अत्याचार, इन सबको याद करके आंसू पोंछना, बस यही प्रमुखता से दिख रहा है। निश्चित तौर पर प्रज्ञा जब इस घटनाक्रम को याद कर रही होती होंगी तो न तो उन्हें आंसू लाने के प्रयास करना होते होंगे ना ही वे कोई दिखावा कर रही हो सकती हैं। जिस पीड़ा को उन्होंने भुगता है, वो उनके प्रति सहानुभूति से भरता है। अभी कोर्ट से इस मामले में उनका बरी होना बाकी है। जाहिर है वे सहानुभूति में वोट लेने का प्रयास करेंगी, करें, लेकिन यह चुनाव है। इस चुनाव को धर्म युद्ध बताना भी भावुकता वाले इस ऐपिसोड की एक कड़ी बन गया है। लेकिन जरा बताइए, भोपाल संसदीय क्षेत्र के किसी सुदूर गांव में बैठकर अपनी समस्याओं के निजात की अंतहीन बाट जोहते किसी गरीब परिवार पर इन बातों का भला कितना असर होगा! मान लिया कि मतदाता जज्बाती होकर उनके समर्थन का मन बना लें, लेकिन उस बहुत बड़ी आबादी का क्या, जिसे प्रज्ञा की आंख में आंसू नहीं, बल्कि भोपाल संसदीय क्षेत्र के लिए विकास का एक विजन देखना है! उनके प्रतिद्वंद्वी दिग्विजय सिंह भोपाल के लिए एक विजन सामने रख रहे हैं तो प्रज्ञा ठाकुर को भी भोपाल के बारे में अपने दृष्टिकोण को तो लोगों के सामने रखना ही होगा। भोपाल के लोगों के लिए प्रज्ञा की दर्द भरी दास्तां तो ठीक है लेकिन यह बात भी अपनी जगह महत्व रखती है कि लोकतांत्रिक व्यवस्था में यह साध्वी किस तरह का योगदान देने के लिए तैयार है। जिन मतदाताओं को भोपाल के विकास के प्रति उनके दृष्टिकोण का इंतजार रहेगा, वे लोग इस भावुकता से नकारात्मक रूप से विचलित ही होंगे। आप महीने भर तक केवल अपने पर हुए अत्याचार को सुनाते हुए वोट नहीं मांगते रह सकते।  आगे पढ़ें

maoist-killed-in-abduction-in-satna-dead-body-thro

सतना में अगवा किए गए मासूम की हत्या कर नाले में फेंका शव

अपहरण का मामला सामने आने के बाद पुलिस की 12 टीमें अलग-अलग थाना क्षेत्रों में जाकर लोगों से पूछताछ कर रही थी। बच्चे का सुराग लगाने के लिए पुलिस ने ग्रामीणों से पूछताछ भी की। अपहृत बच्चे की जानकारी नहीं मिलने पर पुलिस ने जिले की सीमाओं को भी सील कर दिया था। नागौद थाना के रहिकवारा गांव में रहने वाले राजेश प्रजापति का 6 साल का बेटा मंगलवार दोपहर 3.30 बजे तक घर के पास खेल रहा था। इसके बाद वह अचानक वहां से लापता हो गया। शाम 6 बजे मासूम के चाचा के पास अपहरणकर्ता ने कॉल कर 2 लाख की फिरौती मांगी थी।  आगे पढ़ें

maoist-killed-in-abduction-in-satna-dead-body-thro

सतना में अगवा किए गए मासूम की हत्या कर नाले में फेंका शव

अपहरण का मामला सामने आने के बाद पुलिस की 12 टीमें अलग-अलग थाना क्षेत्रों में जाकर लोगों से पूछताछ कर रही थी। बच्चे का सुराग लगाने के लिए पुलिस ने ग्रामीणों से पूछताछ भी की। अपहृत बच्चे की जानकारी नहीं मिलने पर पुलिस ने जिले की सीमाओं को भी सील कर दिया था। नागौद थाना के रहिकवारा गांव में रहने वाले राजेश प्रजापति का 6 साल का बेटा मंगलवार दोपहर 3.30 बजे तक घर के पास खेल रहा था। इसके बाद वह अचानक वहां से लापता हो गया। शाम 6 बजे मासूम के चाचा के पास अपहरणकर्ता ने कॉल कर 2 लाख की फिरौती मांगी थी।  आगे पढ़ें

Previous 1 2 3 4 Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति