होम सुप्रीम कोर्ट
on-the-migration-of-migrant-laborers-the-supreme-c

प्रवासी मजदूरों के पलायन पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा- ट्रेनों और बसों से सफर कर रहे प्रवासी मजदूरों से ना लिया जाए किराया, यह खर्च राज्य सरकारें ही उठाएं

प्रवासी मजदूरों के पलायन पर सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को इस मामले पर अंतरिम आदेश दिया। कोर्ट ने कहा कि ट्रेनों और बसों से सफर कर रहे प्रवासी मजदूरों से किसी तरह का किराया ना लिया जाए। यह खर्च राज्य सरकारें ही उठाएं। कोर्ट ने आदेश दिया कि फंसे हुए मजदूरों को खाना मुहैया कराने की व्यवस्था भी राज्य सरकारें ही करें। इस मसले पर अगली सुनवाई अब 5 जून को होगी। जस्टिस अशोक भूषण, जस्टिस एसके कौल और जस्टिस एमआर शाह की बेंच ने गुरुवार को मामले पर सुनवाई की। केंद्र की ओर से सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने कोर्ट में दलीलें रखीं। इस दौरान बेंच ने 4 आदेश दिए और 4 टिप्पणियां कीं।  आगे पढ़ें

supreme-court-told-the-government-hospitals-that-h

सुप्रीम कोर्ट ने सरकार से कहा- जिन अस्पतालों को मुफ्त में जमीन मिली है उनको कोरोना मरीजों का फ्री करना चाहिए इलाज, अस्पतालों की करें पहचान

सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को सरकार से कहा कि ऐसे प्राइवेट अस्पतालों की पहचान करें जहां कोरोना के मरीजों को फ्री या मामूली खर्चे पर इलाज मिल सके। कोर्ट ने कहा कि जिन अस्पतालों को फ्री में या फिर बहुत कम रेट पर जमीन मिली है उन्हें कोरोना के मरीजों का इलाज भी मुफ्त में करना चाहिए।  आगे पढ़ें

there-was-an-end-to-political-upheaval-in-mp-kamal

मप्र में सियासी उठापटक का हुआ अंत: कमलनाथ ने दिया इस्तीफा, भाजपा को जमकर कोसा

मध्य प्रदेश का सियासी ड्रामा 17 दिन पहले शुरू हुआ था। भाजपा और कांग्रेस के बीच जारी खींचतान सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच गई थी और शीर्ष अदालत ने शुक्रवार शाम 5 बजे तक फ्लोर टेस्ट कराने का आदेश दिया था। हालांकि, इससे 4:30 घंटे पहले ही मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इस्तीफा दे दिया। वे शुक्रवार दोपहर 12.30 बजे मीडिया के सामने आए। करीब 25 मिनट बोले। 15 महीने पुरानी अपनी सरकार की 20 उपलब्धियां गिनाईं और 16 बार कहा कि भाजपा को हमारे काम रास नहीं आए। उन्होंने कहा- भाजपा सोचती है कि वह मेरे प्रदेश को हराकर जीत सकती है। वह न मेरे प्रदेश को हरा सकती है और न मेरे हौसले को हरा सकती है।  आगे पढ़ें

politics-of-mp-digvijay-singh-accepted-defeat-befo

मप्र की सियासत: बहुमत परीक्षण से पहले दिग्विजय सिंह ने मानी हार, कहा- कमलनाथ सरकार के पास नहीं हैं नंबर

मध्य प्रदेश में कमलनाथ की सरकार बचेगी या वहां बीजेपी का कमल खिलेगा, इसका फैसला आज शाम 5 बजे तक हो जाएगा। विधानसभा का विशेष सत्र 20 मार्च को दोपहर दो बजे बुलाया गया है। लेकिन इससे पहले कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने एक टीवी न्यूज चैनल से बातचीत में कहा कि 22 विधायकों के इस्तीफे के बाद कमलनाथ सरकार के पास नंबर नहीं है। दिग्विजय सिंह ने कहा कि पैसे और सत्ता के दमपर बहुमत वाली सरकार को अल्पमत में लाया गया है।  आगे पढ़ें

today-will-be-important-day-in-the-midst-of-politi

मप्र में जारी सियासी घमासान के बीच आज का दिन होगा अहम, कमलनाथ का इस्तीफा तय, दिग्गी बोले- सरकार सुरक्षित नहीं

मध्य प्रदेश में 17 दिन से जारी सियासी घमासान का शुक्रवार निर्णायक दिन है। गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद आज कमलनाथ सरकार का विधानसभा में फ्लोर टेस्ट होगा। कांग्रेस और भाजपा ने अपने-अपने सदन में मौजूद रहने के लिए विधायकों को व्हिप जारी किया है। कमलनाथ ने सीएम हाउस पर 12 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस भी बुलाई है। कयास लगाए जा रहे हैं कि इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में कमलनाथ फ्लोर टेस्ट से पहले ही इस्तीफे का ऐलान कर सकते हैं। वहीं, गुरुवार देर रात स्पीकर ने 16 बागी विधायकों के इस्तीफे स्वीकार कर लिए। इन इस्तीफों के स्वीकार होने के बाद कांग्रेस के विधायकों की संख्या घटकर 92 हो गई है। इधर, दिग्विजय सिंह ने भी अब स्वीकार कर लिया है कि उनकी सरकार सुरक्षित नहीं है। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार का बचना मुश्किल है।  आगे पढ़ें

floor-test-in-assembly-today-supreme-court-orders-

विधानसभा में फ्लोर टेस्ट आज, सुप्रीम कोर्ट ने लाइव स्ट्रीमिंग और वीडियो रिकार्डिंग कराने के दिए आदेश

सुप्रीम कोर्ट ने मध्य प्रदेश विधानसभा के स्पीकर एनपी प्रजापति को फ्लोर टेस्ट के लिए आज विधानसभा का विशेष सत्र बुलाने का निर्देश दिया। कोर्ट ने फ्लोर टेस्ट की प्रक्रिया शाम 5 बजे तक पूरी करने को कहा है। सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर स्पीकर प्रजापित ने कहा- विधायिका न्यायालय के निर्देशों का पालन कर रही है। दोनों ही संवैधानिक संस्थाएं हैं। संविधान मौन है। इससे पहले जस्टिस डीवाई चंद्रचूण की बेंच ने स्पीकर को फ्लोर टेस्ट की पूरी प्रक्रिया की लाइव स्ट्रीमिंग और वीडियो रिकॉर्डिंग कराने के आदेश भी दिए। मुख्यमंत्री कमलनाथ आज दोपहर 12 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे। माना जा रहा है कि इस दौरान वे इस्तीफे का ऐलान कर सकते हैं। स्पीकर एनपी प्रजापति ने 16 बागी विधायकों के इस्तीफे मंजूर कर लिए हैं। इन विधायकों ने 10 मार्च को इस्तीफा दिया था।  आगे पढ़ें

on-the-supreme-courts-decision-shivraj-said-we-bel

सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर शिवराज ने कहा- हमारा विश्वास है, हम बहुमत में हैं, फ्लोर टेस्ट में सरकार पराजित होगी

मध्य प्रदेश में सरकार बचाने और बनाने के लिए चल रहे संघर्ष में गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट ने अहम फैसला सुनाया। कोर्ट ने शुक्रवार शाम 5 बजे तक फ्लोर टेस्ट कराने के निर्देश दिए हैं। इसके बाद पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सीहोर के रिजॉर्ट में मीडिया से बात की। उन्होंने कहा- कमलनाथ और दिग्विजय सिंह की हार हुई। आज फ्लोर टेस्ट हाथ उठाकर होगा। हमारा विश्वास है, हम बहुमत में हैं। फ्लोर टेस्ट में यह सरकार पराजित होगी। कल दूध का दूध और पानी का पानी हो जाएगा।'' कमलनाथ के बहुमत के दावे पर शिवराज ने कहा- हाथ कंगन को आरसी क्या, पढ़े लिखे को फारसी क्या? उधर, दिल्ली में केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के आवास पर भाजपा नेताओं की बैठक हुई। इसमें ज्योतिरादित्य सिंधिया भी पहुंचे हैं। वहीं, कोर्ट के फैसले के बाद मुख्यमंत्री कमलनाथ ने भी मंत्रियों की एक बैठक सीएम आवास पर बुलाई थी।  आगे पढ़ें

nirbhayas-mother-said-after-the-hanging-of-the-poo

दरिंदों को फांसी मिलने के बाद बोलीं निर्भया की मां- कहा- आज का दिन निर्भया के नाम और देश के नाम है

देश इंसाफ की घड़ी का बेसब्री से इंतजार कर रहा था। आखिरकार निर्भया के दोषियों को फांसी के फंदे पर चढ़ा दिया गया। आखिरी कोशिश के तौर पर दुष्कर्मी सुप्रीम कोर्ट गए थे, लेकिन वहां भी दलीलें खारिज हो गईं। सुप्रीम कोर्ट ने दया याचिका खारिज करने को चुनौती देने वाली दोषी पवन की दया याचिका खारिज कर दी। इसके तुरंत बाद निर्भया की मां ने कहा कि आज का सूरज, आज का दिन निर्भया के नाम है। उन्होंने कहा- आखिरकार उन्हें फांसी पर लटकाया गया। आज हमें न्याय मिला। आज का दिन देश की बेटियों के नाम है। मैं सरकार और न्यायपालिका का शुक्रिया अदा करती हूं। मैंने बेटी की तस्वीर को गले से लगाकर कहा कि आज तुम्हें इंसाफ मिल गया। बेटी जिंदा रहती तो डॉक्टर की मां कहलाती। आज निर्भया की मां के नाम से जानी जा रही हूं।  आगे पढ़ें

political-drama-of-mp-12-speakers-approved-the-res

मप्र का सियासी ड्रामा: रात 12 स्पीकर ने 16 बागियों के इस्तीफे किए मंजूर, आज दोपहर 12 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस में सीएम कर सकते हैं इस्तीफे का ऐलान

सुप्रीम कोर्ट ने मध्य प्रदेश विधानसभा स्पीकर को आज 5 बजे तक फ्लोर टेस्ट करवाने का निर्देश दिया है। गुरुवार रात करीब डेढ़ बजे जारी विधानसभा की कार्यवाही की सूची में भी फ्लोर टेस्ट का जिक्र किया गया है। फ्लोर टेस्ट से कुछ घंटे पहले राज्य की सियासत में बड़े मोड़ आए। स्पीकर एनपी प्रजापति ने रात 12 बजे बेंगलुरु में ठहरे कांग्रेस के 16 बागी विधायकों के इस्तीफे स्वीकर कर लिए। कमलनाथ ने शुक्रवार दोपहर 12 बजे प्रेस कॉन्फ्रेंस बुलाई है। सूत्रों के मुताबिक, कमलनाथ इस कॉन्फ्रेंस में इस्तीफे का ऐलान कर सकते हैं।  आगे पढ़ें

ubau-hota-hai-yah-intajar

उबाऊ होता है यह इंतजार.....

श्यामला हिल्स, निशात एंक्लेव तथा 74 बंगले आदि जगह के मंत्री निवास साजन बिना सुहागन वाली स्थिति में दिख रहे हैं। कोरोना के नाम पर राज्य का विधानसभा भवन सन्नाटे से घिरा हुआ है। विधायक विश्राम गृह में लोग कम, प्रश्न चिन्ह ज्यादा नजर आने लगे हैं। इस सबके बीच आज सुबह जिस मामले से साक्षात्कार हुआ, वह भीतर तक दहला गया। एक मंत्री बंगले के बाहर सत्तर साल के आदमी को बैठा देखा। परिवेश से वह गरीब, चेहरे से दुर्भाग्यशाली तथा हाव-भाव से परेशान दिख रहा था। मैंने वजह पूछी तो उसने बताया कि छतरपुर से मंत्री से मिलने आया है। बीते चार दिन से रोज वहां आता है। जहां उसे पता चलता है कि माननीय मंत्री जी प्रवास पर हैं।  आगे पढ़ें

Previous 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10  ... Next 

प्रमुख खबरें

राज्य

राजनीति